दिल्ली पुलिस के ACP के लापता बेटे का शव हरियाणा के नहर से बरामद, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

पुलिस के मुताबिक विकास भारद्वाज ने अभिषेक को बताया था कि लक्ष्य ने उससे कर्ज लिया था और पैसे वापस मांगने पर उसने उसके साथ दुर्व्यवहार किया। दोनों ने योजना के अनुसार एक शादी से लौटते समय लक्ष्य को हरियाणा के मुनक नहर में धकेल दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

दिल्ली पुलिस के ACP के लापता बेटे का शव हरियाणा के नहर से बरामद, मुख्य आरोपी गिरफ्तार
दिल्ली पुलिस के ACP के लापता बेटे का शव हरियाणा के नहर से बरामद, मुख्य आरोपी गिरफ्तार
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली पुलिस ने अपने एक एसीपी के बेटे का शव हरियाणा के एक नहर से बरामद कर लिया है। एसीपी के बेटे को एक शादी से लौटते समय दो दोस्तों ने कथित तौर पर हरियाणा में एक नहर में फेंक दिया था। अधिकारियों ने रविवार को बताया कि दिल्ली पुलिस ने मुख्य आरोपी विकास भारद्वाज को भी गिरफ्तार कर लिया है।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल स्टाफ में तैनात एसीपी यशपाल चौहान ने बेटे की गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने अपनी शिकायत में बताया था कि उनका 26 वर्षीय बेटा लक्ष्य हरियाणा के भिवानी में एक शादी में हिस्सा लेने के बाद घर नहीं लौटा। इसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। पूरी घटना का खुलासा शुक्रवार को तब हुआ जब नरेला निवासी अभिषेक (19) को पुलिस ने गिरफ्तार करके उससे पूछताछ की।

इसके बाद पुलिस ने एफआईआर में आईपीसी की धारा 302 (हत्या) जोड़ दी, जो पहले समयपुर बादली थाने में अपहरण के मामले के रूप में दर्ज की गई थी। बाहरी उत्तरी दिल्ली के डीसीपी रवि कुमार सिंह ने कहा, ''पुलिस ने अभिषेक को शुक्रवार को गिरफ्तार किया। पूछताछ में पता चला कि 22 जनवरी (सोमवार) की दोपहर को वकील के क्लर्क विकास भारद्वाज ने उससे संपर्क किया और उसे भिवानी में एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए अपने साथ आने के लिए कहा।''


डीसीपी के मुताबिक भारद्वाज ने अभिषेक को बताया था कि लक्ष्य (जो तीस हजारी कोर्ट में प्रैक्टिस भी करता है) ने उससे कर्ज लिया था। जब उसने अपने पैसे वापस मांगे तो लक्ष्य ने उसके साथ दुर्व्यवहार किया। दोनों ने लक्ष्य को खत्म करने की योजना बनाई और उसे हरियाणा के मुनक नहर में फेंकने का फैसला किया। वे सोमवार दोपहर मुकरबा चौक से निकले, जहां लक्ष्य उन्हें एक कार में मिला। अभिषेक लक्ष्य के साथ कार के अंदर बैठा और बाद में भारद्वाज भी उनके साथ शामिल हो गया। वापसी के दौरान उन्होंने वारदात को अंजाम दिया।

डीसीपी ने कहा, ''देर रात तक वे भिवानी में शादी समारोह में पहुंचे और रात 12 बजे के बाद वहां से चले गए। पानीपत में नहर किनारे रुककर तीनों शौच के लिए कार से निकले। मौके का फायदा उठाते हुए अभिषेक और भारद्वाज ने कथित तौर पर लक्ष्य को नहर में धकेल दिया। इसके बाद वह लक्ष्य की कार में घटनास्थल से फरार हो गए। बाद में भारद्वाज ने भागने से पहले अभिषेक को नरेला में छोड़ दिया।


डीसीपी ने कहा कि पुलिस ने अब तक एकत्र किए गए सबूतों के आधार पर बाद में एफआईआर में धारा 302 (हत्या) और 201 जोड़ दी। उन्‍होंने आगे बताया कि अभिषेक की गिरफ्तारी के बाद उसकी तीन दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड ली गई है। पुलिस ने रविवार को मुख्य आरोपी भारद्वाज को गिरफ्तार कर लिया। अपराध में इस्तेमाल की गई इकोस्पोर्ट कार भी बरामद कर ली गई। मृतक का शव हरियाणा में समालखा के पास नहर से बरामद किया गया।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;