बिहार में चरम पर अपराध! बीते 24 घंटे में चार लोगों की दिनदहाड़े हत्या, पुलिस के हाथ खाली

बिहार में अपराधियों को शायद पुलिस का खौफ नहीं रह गया है। अपराधी खुलेआम हत्या कर फरार हो रहे हैं और पुलिस उनका पता लगाने में नाकाम रह रही है। राज्य में बीते 24 घंटे में अलग-अलग घटनाओं में चार लोगों की हत्या कर दी गई।

प्रतीकात्मक फोटोः सोशल मीडिया
प्रतीकात्मक फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में अपराधियों को शायद पुलिस का खौफ नहीं रह गया है। अपराधी खुलेआम हत्या कर फरार हो रहे हैं और पुलिस उनका पता लगाने में नाकाम रह रही है। राज्य में बीते 24 घंटे में अलग-अलग घटनाओं में चार लोगों की हत्या कर दी गई। एक अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी। पहली घटना पटना जिले के फतुहा में हुई, जब शिव कुमार की सोमवार सुबह अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी।

नोहटा गांव निवासी कुमार सुबह की सैर पर निकले थे और सुबह करीब सात बजे बाइक सवार हमलावरों ने फतुहा चौक पर उन पर गोलियां चला दीं। इसके बाद हमलावर मौके से फरार हो गए। फतुहा पुलिस थाने के एक अधिकारी ने कहा, "हमने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।"


दूसरी घटना समस्तीपुर में हुई, जहां वारिश नगर थाना अंतर्गत राहुआ गांव में अज्ञात बदमाशों ने एक दूध बूथ के मालिक की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक की पहचान सर्वेश ठाकुर (50) के रूप में हुई है। हमलावरों ने उस पर उस समय गोलियां चला दीं, जब वह दूध बूथ की ओर जा रहे थे। स्थानीय पुलिस ने मौके से कई कारतूस बरामद किए हैं। पुलिस ने बताया कि हत्या की वजह निजी रंजिश हो सकती है। ठाकुर पर अगस्त 2020 में भी हमला हुआ था लेकिन वह बच गए थे।


तीसरी घटना लखीसराय जिले के सूर्यगढ़ा प्रखंड में हुई जब रविवार रात को रामपुर गांव में डकैतों के एक समूह ने बुजुर्ग के घर पर हमला कर दिया। डकैतों ने बुजुर्ग दंपति की पिटाई कर दी, जिससे उनकी मौत हो गई। सूर्यगढ़ा पुलिस थाने के एक अधिकारी ने कहा, "हमने जांच शुरू कर दी है और डकैतों की पहचान के लिए पड़ोसियों के बयान दर्ज किए हैं।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia