Instagram ग्रुप में छात्राओं की फोटो से छेड़छाड़ और गंदी बात का सनसनीखेज मामला, साइबर सेल ने शुरू की जांच

सोशल मीडिया पर कुछ स्क्रीनशॉट वायरल होने के बाद यह मामला सामने आया, जिसमें अव्यस्क लड़कियों की तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ और उन पर अश्लील कमेंट किये जा रहे थे। इसमें कई लड़कों को तस्वीरों को आपत्तिजनक बनाते और ‘सामूहिक दुष्कर्म’ की योजना बनाते देखा गया।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

इंस्टाग्राम पर 'बॉयज लॉकर रूम' नाम के एक ग्रुप के खिलाफ दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने आईटी एक्ट और भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू करते हुए फोटो शेयरिंग एप से उक्त समूह में शामिल सभी लोगों की जानकारी देने को कहा है।

हाल ही में सोशल मीडिया पर इस इंस्टाग्राम चैट बॉक्स के कुछ स्क्रीनशॉट वायरल होने के बाद एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, जिसमें अव्यस्क लड़कियों की तस्वीरें साझा की जा रही थीं और उन पर अश्लील कमेंट किये जा रहे थे। इसमें कई लड़कों को कथित तौर पर कम उम्र की लड़कियों की तस्वीरें साझा करते हुए, उन्हें आपत्तिजनक बनाते और 'सामूहिक दुष्कर्म' की योजना बनाते हुए देखा गया।

इंस्टाग्राम चैट ग्रुप 'बॉयज लॉकर रूम' के खिलाफ सोमवार को जांच शुरू करने वाली दिल्ली पुलिस की साइबर सेल के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) अनीश रॉय ने बताया, "हमने इंस्टाग्राम से उक्त समूह के सदस्यों और एडमिन का विवरण साझा करने के लिए कहा है, जिसमें उनके नाम, आईपी एड्रेस आदि शामिल हैं।" इससे पहले, दिल्ली पुलिस के साइबर अपराध सेल ने मामले की जांच शुरू की और विवाद से संबंधित सोशल मीडिया पोस्ट का विश्लेषण करना शुरू किया।

प्राइवेट इंस्टाग्राम चैट समूह में पनप रही दुष्कर्म संस्कृति का मामला तब उजागर हुआ जब दक्षिण दिल्ली की एक लड़की द्वारा सोशल मीडिया पर एक स्क्रीनशॉट साझा किया गया। लड़की ने पोस्ट में लिखा, "दक्षिण दिल्ली के 17-18 साल की उम्र के लड़कों का एक ग्रुप है, जिसका नाम 'बॉयज लॉकर रूम' है, जहां कमसिन लड़कियों की तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ कर आपत्तिजनक बनाया जा रहा था। मेरे स्कूल के दो लड़के इसका हिस्सा हैं।" लड़की ने समूह में शामिल लड़कों की सूची और उनके चैट के स्क्रीनशॉट को भी साझा किया, जहां उन्हें लड़कियों की तस्वीरें साझा करते हुए और उन पर टिप्पणी करते हुए देखा जा सकता है।

इस मामले को लेकर दिल्ली महिला आयोग भी एक्शन में आ गई और दिल्ली पुलिस और इंस्टाग्राम को नोटिस जारी किया। दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने कहा कि यह एक आपराधिक और दुष्कर्म मानसिकता का स्पष्ट उदाहरण है। उन्होंने कहा, "हम इंस्टाग्राम और दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर रहे हैं। इस ग्रुप के सभी लड़कों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए।"

लोकप्रिय