धनबाद के वासेपुर के गैंगस्टर प्रिंस खान के प्रत्यर्पण की कोशिशें शुरू, खाड़ी देश से कर रहा है गैंग ऑपरेट

विदेश भाग चुके प्रिंस खान के गुर्गों ने पिछले नौ-दस महीने में धनबाद में हत्या, रंगदारी के दर्जनों वारदात अंजाम दिए हैं। पुलिस प्रिंस के गिरोह के 100 से ज्यादा गुर्गों और उसके मददगारों को गिरफ्तार कर चुकी है, लेकिन इसके बावजूद उसका आतंक कम नहीं हो रहा।

धनबाद के वासेपुर के गैंगस्टर प्रिंस खान के प्रत्यर्पण की कोशिशें शुरू, खाड़ी देश से कर रहा है गैंग ऑपरेट
धनबाद के वासेपुर के गैंगस्टर प्रिंस खान के प्रत्यर्पण की कोशिशें शुरू, खाड़ी देश से कर रहा है गैंग ऑपरेट
user

नवजीवन डेस्क

खाड़ी देश से गैंग ऑपरेट करते हुए धनबाद में आतंक मचाने वाले वासेपुर के मोस्ट वांटेड गैंगस्टर प्रिंस खान को गिरफ्तार कर भारत लाने की तैयारी की जा रही है। धनबाद पुलिस ने इसके लिए दिल्ली के प्रत्यर्पण कोर्ट में पिटीशन फाइल की है। पुलिस ने प्रिंस खान का हुलिया, उसकी तस्वीर, उसके खिलाफ दर्ज आपराधिक मामलों के साथ-साथ उसके फर्जी पासपोर्ट आदि का ब्योरा आवेदन के साथ संलग्न किया है।

पुलिस के अनुरोध पर सीबीआई द्वारा इंटरपोल से साझा की गई सूचनाओं के आधार पर बीते जुलाई में ही प्रिंस के खिलाफ रेड और ब्लू कॉर्नर नोटिस जारी किया जा चुका है। विदेश में अगर उसे गिरफ्तार कर लिया जाता है, तो उसे वापस तभी भारत लाया जा सकेगा, जब उसके प्रत्यर्पण का आदेश हो। इसलिए धनबाद पुलिस ने प्रत्यर्पण की प्रक्रिया के लिए कोर्ट में पिटीशन फाइल किया है।


पुलिस ने जो सूचना जुटाई है, उसके मुताबिक प्रिंस खान दुबई या शारजाह में छिपा है और वहीं से धनबाद कोयलांचल में गैंग ऑपरेट कर रहा है। पिछले साल प्रिंस खान, हैदर अली के नाम पर फर्जी पासपोर्ट बनवाकर विदेश भाग गया था। इसका खुलासा सीआईडी की जांच में हुआ था। इसके बाद उसका पासपोर्ट रद्द करवाया गया था।

प्रिंस खान ने विदेश भागने के बाद वहां से धमकी भरे कई वीडियो जारी किए। उसके गुर्गों ने पिछले नौ-दस महीने में धनबाद में हत्या, रंगदारी, फायरिंग के दर्जनों ज्यादा वारदात अंजाम दिए हैं। हालांकि, पुलिस प्रिंस खान के गिरोह के 100 से ज्यादा गुर्गों और उसके मददगारों को गिरफ्तार कर चुकी है, लेकिन इसके बावजूद उसका आतंक कम नहीं हो रहा।


उसके गिरोह के अपराधियों ने करीब एक माह पहले शहर के बैंक मोड़ थाना क्षेत्र में “कार सेंटर” नामक प्रतिष्ठान के मालिक दीपक अग्रवाल को गोली मारी थी, तो पूरा शहर आंदोलित हो उठा था। इस वारदात के विरोध में एक नवंबर को कारोबारियों ने धनबाद बंद रखा था। हालांकि, बंद के दौरान गैंगस्टर प्रिंस के गुर्गे मेजर ने पर्चा जारी कर न सिर्फ वारदात की जिम्मेदारी ली थी, बल्कि ऐलान किया था कि रंगदारी न देने वाले सभी व्यवसायियों का यही अंजाम होगा।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;