पंजाब में दो पुलिस वालों को मारने वाले गैंगस्टर कोलकाता में ढेर, पाकिस्तान से ड्रग्स तस्करी, हत्या, लूट था पेशा

गैंगस्टर जयपाल के खिलाफ करीब 50 केस दर्ज हैं। वह मई में पंजाब पुलिस के दो अफसरों की हत्या समेत कई हत्याओं, लूट, अपहरण, रंगदरी के मामलों में फरार था। वह पाकिस्तान में बैठे ड्रग्स माफियाओं के साथ सीमा पार से सूबे में बड़े पैमाने पर ड्रग्स तस्करी भी करता था।

फोटोः अमर उजाला से साभार
फोटोः अमर उजाला से साभार
user

नवजीवन डेस्क

पंजाब पुलिस के दो एएसआई की हत्या कर फरार पंजाब के दो मोस्ट वांटेड गैंगस्टर जयपाल भुल्लर और जस्सी खरड़ को पश्चिम बंगाल के कोलकाता में एसटीएफ ने एक मुठभेड़ में मार गिराया है। इस एनकाउंटर में एक पुलिस इंस्पेक्टर को भी गोली लगी है। ये दोनों गैंगस्टर 15 मई को लुधियाना के जगरांव स्थित अनाज मंडी में सीआईए के सहायक सब-इंस्पेक्टर भगवान सिंह और दलविंदरजीत सिंह की हत्या कर फरार थे। जानकारी के अनुसार इस कार्रवाई को पंजाब पुलिस और बंगाल पुलिस ने संयुक्त रूप से अंजाम दिया।

पश्चिम बंगाल एसटीएफ के एडीजी विनीत गोयल ने बताया कि जसप्रीत और जयपाल पर क्रमश: 10 और 5 लाख रुपये का इनाम था। दोनों हत्या और बैंक डकैती समेत कई मामलों में शामिल थे। आरोपियों के पास से सात लाख रुपये, 5 हथियार और 89 जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं। एडीजी ने बताया कि सूचना मिली थी कि यहां कुछ अपराधी ठहरे हैं। जब हम छापा मारने पहुंचे तो वहां जसप्रीत और जयपाल थे, जो पंजाब में कई मामलों में वांछित थे। हमने उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने गोली चला दी। जवाबी कार्रवाई में दोनों मारे गए।

मिली जानकारी के अनुसार अपने दो अफसरों के हत्यारों की तलाश में लगी पंजाब पुलिस की टीम ने 29 मई को जयपाल के साथी बलविंदर सिंह उर्फ बब्बी और दर्शन सिंह को मध्य प्रदेश के ग्वालियर से दबोचा था। दोनों महाराष्ट्र भागने की फिराक में थे। बलजिंदर और दर्शन से हुई गहन पूछताछ में एसआईटी को पता चला कि जयपाल और जस्सी कोलकाता में हैं। इसी पूछताछ के आधार पर एसआईटी कोलकाता पहुंची और कोलकाता एसटीएफ के साथ गैंगस्टर जहां छिपे थे, उस मकान को घेर लिया। इसके बाद कार्रवाई में दोनों गैंगस्टर मार गिराए गए।

10 लाख रुपये के इनामी गैंगस्टर जयपाल के करतूतों की जानकारी देते हुए पंजाब पुलिस ने बताया कि उसके खिलाफ देश भर में करीब 50 आपराधिक मामले दर्ज हैं। वह मई में पंजाब पुलिस के दो अफसरों की हत्या समेत कई हत्याओं, लूट, अपहरण, रंगदरी के मामलों में फरार था। इसके अलावा जयपाल पाकिस्तान में बैठे ड्रग्स माफियाओं की मदद से सीमा पार से सूबे में बड़े पैमाने पर ड्रग्स तस्करी में शामिल था।

बता दें कि जयपाल पंजाब के फिरोजपुर जिले के दशमेश नगर का रहने वाला था। उसने विक्की गौंडर और प्रेमा लाहौरियां की मौत के बाद गैंग की कमान संभाली थी। जयपाल पर करीब 50 मामले दर्ज हैं। इनमें फिरोजपुर के सेखों करमीती समेत दोहरा हत्याकांड, तरनतारन और लुधियाना में दो-दो हत्या के मामले, लुधियाना में कारोबारी पंकज अग्निहोत्री के घर से 60 लाख की लूट, राजस्थान के किशनगढ़ में दो करोड़ के तांबे से लदे ट्रक लूट का मामला, लुधियाना में चिराग अपहरण केस और एयरटेल शोरूम में डकैती के अलावा जगरांव में दो पुलिस अफसरों की हत्या भी शामिल है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia