कनाडा में बैठा गोल्डी बराड़ UAPA के तहत आतंकवादी घोषित, सिद्धू मूसेवाला की हत्या का था मास्टरमाइंड

केंद्र ने एक आधिकारिक अधिसूचना में कहा कि 11 अप्रैल 1994 को जन्मे शमशेर सिंह और प्रीतपाल कौर के बेटे सतविंदर सिंह उर्फ ​​गोल्डी बराड़, जो वर्तमान में कनाडा के ब्रैम्पटन में रहता है, खालिस्तान समर्थक आतंकवादी समूह बब्बर खालसा इंटरनेशनल से जुड़ा है।

कनाडा में बैठा गोल्डी बराड़ UAPA के तहत आतंकवादी घोषित
कनाडा में बैठा गोल्डी बराड़ UAPA के तहत आतंकवादी घोषित
user

नवजीवन डेस्क

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सोमवार को कनाडा में छिपे गैंगस्टर सतिंदरजीत सिंह उर्फ गोल्डी बराड़ को गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के तहत "नामित आतंकवादी" घोषित कर दिया। बराड़ ने पिछले साल मई में लोकप्रिय पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी ली थी।

केंद्र ने एक आधिकारिक अधिसूचना में कहा कि 11 अप्रैल 1994 को जन्मे शमशेर सिंह और प्रीतपाल कौर के बेटे सतविंदर सिंह उर्फ ​​गोल्डी बराड़, जो वर्तमान में कनाडा के ब्रैम्पटन में रहता है, खालिस्तान समर्थक आतंकवादी समूह बब्बर खालसा से जुड़ा है। कहा गया है कि एक सीमा पार एजेंसी द्वारा समर्थित बराड़ कई हत्याओं में शामिल है और "कट्टरपंथी विचारधारा का दावा करता है, जो राष्ट्रवादी नेताओं को धमकी भरे कॉल करने, फिरौती मांगने और विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर हत्याओं के दावों को पोस्ट करने में शामिल है"।

इसमें यह भी कहा गया कि बब्बर खालसा इंटरनेशनल को आतंकवादी संगठन के रूप में सूचीबद्ध किया गया है। अधिसूचना में कहा गया है कि बराड़ शार्प-शूटरों की आपूर्ति के अलावा सीमा पार से ड्रोन के माध्यम से अत्याधुनिक हथियारों, गोला-बारूद और विस्फोटक सामग्री की तस्करी और हत्याओं को अंजाम देने के लिए आपूर्ति करने में भी शामिल है।


अधिसूचना के अनुसार, उसके सहयोगी नापाक मंसूबों के जरिए पंजाब में शांति, सांप्रदायिक सद्भाव और कानून-व्यवस्था को बाधित करने की साजिश रच रहे हैं, जिसमें तोड़फोड़, आतंकी मॉड्यूल को खड़ा करना, लक्षित हत्याएं करना और अन्य राष्ट्र-विरोधी गतिविधियां शामिल हैं।

इसमें यह भी कहा गया है कि इंटरपोल सेक्रेटेरिएट जनरल (आईपीएसजी), फ्रांस द्वारा बराड़ के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया है। उसके खिलाफ 12 दिसंबर 2022 को एक गैर-जमानती वारंट भी जारी किया गया है। अधिसूचना में कहा गया है कि बराड़ के खिलाफ 15 जून 2022 को लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया है और केंद्र का मानना है कि वह आतंकवाद में शामिल है और उसे उक्त अधिनियम की चौथी अनुसूची में एक आतंकवादी के रूप में जोड़ा जाना चाहिए।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;