यूपी के ललितपुर रेप मामले से सकते में सरकार, एसएचओ गिरफ्तार, पूरा थाना लाइन हाजिर, जानें पूरा मामला

नाबालिक पीड़िता के बयान पर ललितपुर के पुलिस अधीक्षक निखिल पाठक ने आरोपी एसएचओ को लाइन हाजिर करने के बाद केस दर्ज करने का आदेश दिया था। इस मामले में एसएचओ, पीड़िता की मौसी और चार अन्य लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

यूपी के ललितपुर में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार किशोरी से थाने में दुष्कर्म मामले में बड़ी कार्रवाई की गई है। पूरे मामले एसएचओ तिलकधारी सरोज को सस्पेंड करने के बाद अब पूरे थाने को लाइन हाजिर कर दिया गया है। ललितपुर एसएचओ तिलकधारी सरोज को पुलिस ने प्रयागराज से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस को आरोपी एसएचओ के फोन की लोकेशन प्रयागराज में मिली थी। एडीजी कानपुर जोन ने मामले की जांच डीआइजी झांसी को देकर 24 घंटे में रिपोर्ट मांगी है।

कानपुर जोन के एडीजी भानु भास्कर ने दुष्कर्म मामले में एसओ की संलिप्तता के बाद पूरे पाली थाने को लाइन हाजिर कर दिया। बुधवार सुबह एडीजी ने यह आदेश जारी किया। उन्होंने डीआईजी जोगेंद्र कुमार को पूरे मामले की जांच सौंपते हुए 24 घंटे के भीतर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं।

आरोप है कि पाली थाने के एसएचओ तिलकधारी सरोज ने किशोरी को बयान दर्ज करने के लिए बुलाया था। इस दौरान उसने थाना परिसर में बने अपने कमरे में किशोरी से दुष्कर्म किया। इस घटना में एसएचओ और महिला सहित चार आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। वहीं, दो लोग फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है। डीआइजी झांसी जोगेंद्र सिंह ने भी पाली थाने पहुंचकर छानबीन की है। आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस टीमें लगी हैं।

एडीजी ला एंड आर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि एसएचओ सहित सहित छह लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। एडीजी जोन ने पूरे थाने को लाइन हाजिर कर दिया है। कुल चौर लोगों की अभी गिरफ्तारी की गई है। डीआइजी झांसी को मौके पर रहने के निर्देश दिए गए हैं। दोषी कोई भी हो चाहे पुलिस वाला भी सभी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।


नाबालिक पीड़िता के बयान पर ललितपुर के पुलिस अधीक्षक निखिल पाठक ने आरोपी एसएचओ को लाइन हाजिर करने के बाद केस दर्ज करने का आदेश दिया था। इस मामले में एसएचओ, पीड़िता की मौसी और चार अन्य लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था।

यूपी के उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने ललितपुर रेप केस पर कहा है कि घटना बहुत दुखद है। सरकार उच्चस्तरीय जांच करा रही है। पीड़ित पक्ष को न्याय मिलेगा। अपराधी चाहे जितने भी पॉवरफुल हों बचेंगे नहीं। सबकी गिरफ्तारी होगी। हमारी सरकार पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia