आई एम सॉरी, मैंने श्रद्धा को मारा, मुझसे गलती हुई- आफताब ने पुलिस के सामने किया कबूल, चार्जशीट में दावा

दिल्ली पुलिस ने तकनीकी और फॉरेंसिक सबूतों के आधार पर निर्विवाद आरोप पत्र बनाने की कोशिश की है और उसे उम्मीद है कि वह अदालत के सामने अपना मामला साबित कर देगी।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

बहुचर्चित श्रद्धा वाकर हत्याकांड मामले में दायर चार्जशीट के अनुसार, आरोपी आफताब अमीन पूनावाला ने दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के सामने अपना गुनाह कबूल करते हुए माना है कि उसने श्रद्धा वाकर की हत्या की है। चार्जशीट के अनुसार आफताब ने कहा कि कृपया मुझे माफ कर दें, मैंने सबूत नष्ट कर दिए हैं, मैंने गलती की है। कोर्ट ने मामले में पुलिस की चार्जशीट का संज्ञान लेते हुए सुनवाई की अगली तारीख तय की है।

चार्जशीट के अनुसार, पूनावाला ने अपने बयान में पुलिस को बताया है कि उसकी मुलाकात 2018-19 में बंबल एप पर श्रद्धा वॉकर से हुई थी और दोनों दोस्त बन गए। जब उसे पता चला कि वह मुंबई के मलाड में कंसेंट्रिक्स कॉल सेंटर में काम कर रही है, तो उसने भी अपने रिश्ते को आगे बढ़ाने के लिए वहां काम करना शुरू कर दिया।


आफताब ने कहा कि उसने कंपनी में नौकरी भी की और वहां हम दोनों को प्यार हो गया। लेकिन हम दोनों के परिवार धर्म और जाति के कारण हमारे रिश्ते के खिलाफ थे। इसके बाद दोनों ने नौकरी छोड़ दी और पूर्वी मुंबई के दहिसर स्थित डेकाथियन स्पोर्ट्स स्टोर के रिटेल शोरूम में साथ काम करने लगे। पूनावाला और वाकर ने मई 2019 में पहली बार शारीरिक संबंध बनाए। यह वह समय था जब उनके परिवार को घर में एक प्रेगनेंसी टेस्ट किट मिली और उन्हें पता चला कि वह और पूनावाला एक-दूसरे को डेट कर रहे हैं।

इसके बाद अक्टूबर 2019 में दोनों ने पूर्वी मुंबई के नया गांव के किनी कॉम्प्लेक्स में किराए का मकान लिया और लिव-इन-रिलेशनशिप में रहने लगे। दिल्ली पुलिस ने तकनिकी और फॉरेंसिक सबूतों के आधार पर निर्विवाद आरोप पत्र बनाने की कोशिश की है और उसे उम्मीद है कि वह अदालत के सामने अपना मामला साबित कर देगी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;