यूपी में फिर उड़ी कानून की धज्जियां! पुलिस पर हमला कर हिस्ट्रीशीटर को छुड़ा ले गए बीजेपी नेता और उसके समर्थक

यूपी के कानपुर में एक गेस्ट हाउस के बाहर बीजेपी नेता और उसके समर्थकों ने पुलिस पर हमला कर 25 हजार के इनामी हिस्ट्रीशीटर को छुड़ा लिया।

फोटो: वायरल वीडियो ग्रैब
फोटो: वायरल वीडियो ग्रैब
user

नवजीवन डेस्क

योगी सरकार में उत्तर प्रदेश के अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हैं कि पुलिस किसी अपराधी को पकड़ती है तो उसे जबरन छुड़ा लिया जाता है। चाह कर भी पुलिस कुछ कर नहीं पाती है। वजह है सत्ताधारी पार्टी बीजेपी के नेता की हनक। ऐसा ही एक मामला यूपी के कानपुर से आया है, जहां एक गेस्ट हाउस के बाहर बीजेपी नेता और उसके समर्थकों ने पुलिस पर हमला कर 25 हजार के इनामी हिस्ट्रीशीटर को छुड़ा लिया।

पुलिसकर्मियों ने आरोपी मनोज सिंह को बुधवार को गिरफ्तार कर जीप में बिठा लिया था, लेकिन जैसे ही वे निकलने लगे, लोगों का एक समूह वाहन के पास पहुंचा और उसे जीप से उतार कर ले गया। वायरल हुए घटना के एक वीडियो सामने आया है। जिसमें देखा जा सकता है कि कैसे समूह ने जीप को घेर लिया और अपराधी को ले गए।


मनोज सिंह (33) का लम्बा आपराधिक इतिहास है और वह जानलेवा हमले के एक मामले में वांटेड था। कानपुर के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (एसीपी) आकाश कुल्हारी ने कहा कि सिंह नौबस्ता क्षेत्र के हमीरपुर रोड स्थित एक निजी गेस्ट हाउस में सत्तारूढ़ बीजेपी के एक शहर पदाधिकारी के जन्मदिन की पार्टी में शामिल होने गया था।

सूचना पर नौबस्ता पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और अपराधी को गिरफ्तार कर लिया, जिसे तुरंत पुलिस जीप में ले जाया गया। पुलिस के जाने से पहले ही आठ लोग मौके पर पहुंचे और सिंह को लेकर फरार हो गए। एसीपी ने कहा कि सभी आठ बदमाशों की पहचान वीडियो फुटेज की मदद से की गई है, जबकि नौबस्ता पुलिस में आईपीसी की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

वांटेड व्यक्ति को हिरासत से भगाने वालों को गिरफ्तार करने के लिए कई पुलिस टीमों का गठन किया गया है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia