गुजरात के सूरत में दिल्ली के कंझावला जैसा कांड, कार से 12 किमी तक घसीटा युवक का शव, पत्नी घायल

घटना के कई दिनों बाद जब दुर्घटना में शामिल तेज रफ्तार कार का पीछा करने वाले और वीडियो बनाने वाले एक युवक ने वीडियो क्लिप को सूरत ग्रामीण पुलिस के साथ साझा किया, तब जाकर दोषियों की पहचान की जा सकी है और उन्हें पकड़ने की कोशिश की जा रही है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

गुजरात में दिल्ली के कंझावला कांड जैसा हिट एंड रन का मामला सामने आया है, जिसमें सूरत जिले के पलसाना तालुका में एक कार ने बाइक से जा रहे एक दंपति को टक्कर मार दी, जिससे युवती दूर फेंका गई और युवक कार के नीचे आ गया, जिसे कार 12 किमी तक घसीटकर ले गई, जिससे उसकी मौत हो गई। उसका शव दुर्घटना स्थल से लगभग 12 किमी दूर मिला है। दुर्घटना का वीडियो सामने आने के बाद दोषियों की पहचान कर ली गई है।

पुलिस ने मंगलवार को बताया कि हादसा 18 जनवरी को हुआ, जब एक कार ने दोपहिया वाहन पर सवार एक कपल को टक्कर मार दी। घटना के कई दिनों बाद जब दुर्घटना में शामिल तेज रफ्तार कार का पीछा करने वाले और वीडियो बनाने वाले एक युवक ने वीडियो क्लिप को सूरत ग्रामीण पुलिस के साथ साझा किया, तब जाकर दोषियों की पहचान की जा सकी है।

जिला पुलिस अधीक्षक हितेश जॉयसर ने बताया कि मेरे व्हाट्सएप पर एक नागरिक ने संदिग्ध कार का वीडियो शेयर किया था। हम कार की पहचान करने और आरोपी के घर का पता लगाने में सफल रहे हैं। फिलहाल आरोपी चालक अंडरग्राउंड हो गया है, लेकिन हम उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लेंगे।


पुलिस के अनुसार, कडोदरा थाना क्षेत्र के पलसाना तालुका में 18 जनवरी को हिट एंड रन का मामला सामने आया था, जिसमें एक कार ने दोपहिया वाहन पर सवार एक कपल को टक्कर मार दी थी। टक्कर से युवती दूर फेंका गई और युवक कार के नीचे आ गया, जिसे कार 12 किमी तक घसीटकर ले गई, जिससे उसकी मौत हो गई। घायल महिला अश्विनी पाटिल को इलाज के लिए सूरत के सरकारी अस्पताल ले जाया गया। अगले दिन जब उसे होश आया तो उसे बताया गया कि उसके पति सागर का शव दुर्घटनास्थल से करीब 12 किमी दूर मिला है। जिस कार ने उन्हें टक्कर मारी थी, वह सागर के शरीर को घसीट कर ले गई थी।

पुलिस के मुताबिक, वीडियो बनाने वाले ने नाम का खुलासा न करने का आग्रह किया है। पुलिस ने कहा कि युवक ने देखा कि एक व्यक्ति कार की टक्कर से गिर गया। इसलिए उसने कार का पीछा किया और मोबाइल में वीडियो रिकॉर्ड किया। जैसे ही कार की रफ्तार तेज हुई, तो उसने मौखिक रूप से कार का पंजीकरण नंबर दर्ज कर लिया। शुरूआत में उन्होंने पुलिस के साथ जानकारी साझा करने की हिम्मत नहीं जुटाई, लेकिन मीडिया में खबरें पढ़ने के बाद उन्होंने वीडियो फुटेज साझा करने का फैसला किया।


इससे पहले देश की राजधानी दिल्ली में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया था। दिल्ली के कंझावला इलाके में नए साल के पहले दिन 1 जनवरी की तड़के सुबह 20 वर्षीय स्कूटी सवार अंजलि सिंह की स्कूटी की एक कार से टक्कर हो गई थी, जिससे वह गिरकर कार के नीचे फंस गई थी, लेकिन रुकने की बजाय कार सवारों ने करीब 12 किमी तक उसके शव को घसीटा था, जिससे उसकी मौत हो गई थी। पुलिस को लड़की का शव सुल्तानपुरी थाना क्षेत्र के कंझावला इलाके में बीच सड़क पर नग्न हालत में मिला था।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;