कमलेश तिवारी पर किए गए थे चाकुओं से 15 वार फिर मारी गई थी एक गोली, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि कमलेश तिवारी के सीने और जबड़े पर चाकुओं से वार किया गया और फिर गला रेत दिया गया। इसके बाद चेहरे पर एक गोली भी मारी गई। सिर के पीछे हिस्से में 32 बोर की गोली फंसी मिली है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

कमलेश तिवारी पर 15 बार चाकुओं से हमला किया गया था। उसके बाद एक गोली भी मारी गई थी। इस बात का खुलासा पोस्टामार्टम में हुआ है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, चाकुओं के सभी 15 वार सिर्फ जबड़े से लेकर छाती के बीच में 10 सेंटीमीटर के भीतर किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि कमलेश तिवारी के सीने और जबड़े पर चाकुओं से वार किया गया और फिर गला रेत दिया गया। इसके बाद चेहरे पर एक गोली भी मारी गई। सिर के पीछे हिस्से में 32 बोर की गोली फंसी मिली है।

बता दें कि कमलेश तिवारी की हत्या मामले में गुजरात आतंकवाद-रोधी दस्ता (एटीएस) ने मंगलवार को दो मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। यह गिरफ्तारी उस वक्त हुई है जब आरोपी राजस्थान से गुजरात जा रहे थे।

गुजरात पुलिस के मुताबिक एटीएस ने जिन दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया है, उनकी पहचान अशफाक हुसैन जाकिर हुसैन शेख (34) और मोइनुद्दीन खुर्शीद पठान (27) के रूप में की गई है। दोनों गुजरात-राजस्थान सीमा स्थित सूरत के शामलजी के रहने वाले हैं। बताया जा रहा है कि दोनों आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

गुजरात एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला ने बताया कि सूचना मिली थी कि कमलेश तिवारी हत्याकांड के दोनों आरोपी गुजरात में दाखिल होने वाले हैं, जिस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए बॉर्डर पर टीम भेजी गई और उन दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया। बताया जा रहा है कि दोनों आरोपियों ने पैसे खत्म होने के बाद परिवार से संपर्क किया था, जिसकी भनक एटीएस को लग गई थी, जिसके बाद टीम गठित कर ऑपरेशन को अंजाम दिया गया। डीआईजी हिमांशु शुक्ला की अगुवाई में पुलिस अधीक्षक बीपी रोजिया, एसीपी बीएस चावड़ा और अन्य पुलिस पदाधिकारियों की टीम ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

कमलेश तिवारी हत्याकांड में पुलिस ने दोनों आरोपियों अशफाक और मोइनुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया है। सरकार की कार्रवाई पर कमलेश तिवारी की मां कुसुम ने खुशी जाहिर की है। कुसुम तिवारी ने कहा कि हम आरोपियों की गिरफ्तारी से बहुत खुश हैं। सभी को फांसी दे दी जानी चाहिए। मैं सरकार की कार्रवाई से संतुष्ट हूं।

Published: 23 Oct 2019, 10:55 AM
लोकप्रिय