बीजेपी शासित झारखंड में बेखौफ बदमाश, कानून की छात्रा का सरेशाम अपहरण कर सामूहिक बलात्कार

बीजेपी शासित झारखंड में कानून व्यवस्था की स्थिति इस हद तक खराब हो चुकी है कि रांची के नेशनल नॉ यूनिवर्सिटी की एक छात्रा के साथ सरेशाम 12 लोगों ने बलात्कार किया और उसे एक ईंट भट्टे के पास फेंककर फरार हो गए। इस सिलसिले में सभी 12 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

झारखंड में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं और शनिवार को पहले दौर का मतदान होना है। इस वजह से राज्य में जगह-जगह सुरक्षा बंदोबस्त किए गए हैं, लेकिन बीजेपी शासित इस राज्य में अपराधियों के हौसले इतने बुंलद हैं कि सरेशाम एक युवती से बलात्कार की घटना सामने आई है। जानकारी के मुताबिक कांके थाना क्षेत्र के संग्रामपुर गांव में रिंग रोड पर मंगलवार शाम यह घटना घटित हुई।

रांची के पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) ऋषभ कुमार झा ने बताया कि 25 वर्षीय छात्रा विश्वविद्यालय परिसर से लगभग चार किलोमीटर दूर संग्रामपुर गांव के पास रिंग रोड पर मंगलवार शाम लगभग साढ़े पांच बजे बीआइटी मेसरा के अपने एक पुरुष मित्र से बात कर रही थी। इसी दौरान बाइक सवार दो बदमाश आए और छात्रा के दोस्त की पिटाई कर पिस्तौल की नोंक पर छात्रा का अपहरण कर उसे बाइक पर बिठा पास के ईंट-भट्टे की तरफ ले जाने लगे। एसपी ने बचाया कि रास्ते में बाइक का पेट्रोल खत्म होने पर इन बदमाशों ने फोन कर अपने अन्य साथियों को गाड़ी लेकर बुलाया और फिर कार से वे छात्रा को लेकर ईंट भट्टे पर पहुंचे और सभी ने बारी-बारी छात्रा से दुष्कर्म किया।

ऋषभ झा ने बताया कि छात्रा के अनुसार अपराधियों ने रात 10 बजे उसे और उसकी स्कूटी को संग्रामपुर पुल के पास छोड़ दिया। पूरी घटना के दौरान तीन युवक छात्रा के दोस्त को घेरे रहे और उसे धमकाते रहे कि शोर मचाने पर जान से मार देंगे। युवक ने किसी तरह एक आरोपी के मोबाइल से एक नंबर नोट कर लिया था और इसी नंबर के आधार पर पुलिस ने सभी को एक-एक कर गिरफ्तार कर लिया।

इससे पहले बुधवार को छात्रा कांके पुलिस थाने पहुंची और उसने एफआईआर दर्ज कराई जिसके बाद पुलिस ने विशेष टीमें गठित कर बड़े पैमाने पर छापेमारी की और सभी 12 आरोपियों को धर दबोचा। झा ने बताया कि अपराधियों ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है और उनकी निशानदेही पर अपराध में उपयोग की गई कार, बाइक, पिस्तौल, कट्टा गोलियां, आठ मोबाइल फोन आदि बरामद कर लिए गए हैं।

लोकप्रिय