मध्य प्रदेशः BJP विधायक पर पत्रकार का अपहरण कर मारपीट का आरोप, टालमटोल के बाद पुलिस ने जांच की बात कही

पत्रकार रवि कुमार गुप्ता ने कटनी एसपी को दी शिकायत में आरोप लगाया है कि बीजेपी विधायक पर अवैध उत्खनन के लगे आरोपों पर खबर दिखाने से नाराज बीजेपी विधायक संजय पाठक ने मारपीट के साथ धमकी दी है कि पत्नी, बेटी और बहनों के साथ दुष्कर्म जैसे कृत्य कराए जाएंगे।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश के कटनी जिले के बीजेपी विधायक और पूर्व मंत्री संजय पाठक पर एक पत्रकार का अपहरण कर उसके साथ मारपीट करने का आरोप लगा है। आरोप है कि अवैध खनन के लगे आरोपों पर खबर दिखाने से नाराज विधायक ने पत्रकार के परिवार के साथ भी रेप की धमकी दी है। वहीं पुलिस इस मामले की जांच करने में जुटी है, लेकिन रवैया टालमटोल वाला है।

कटनी जिले के पत्रकार रवि कुमार गुप्ता ने पुलिस अधीक्षक को दी शिकायत में आरोप लगाया है कि पिछले दिनों एक पत्रकार वार्ता में बीजेपी विधायक पर अवैध उत्खनन के लगे आरोपों के आधार पर यूट्यूब चैनल पर खबर प्रसारित की गई, जिसके बाद बीजेपी विधायक संजय पाठक ने अपने साथियों के साथ उनका पहले अपहरण कराया और एक रेस्टोरेंट में ले जाकर मारपीट की। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि उन्हें धमकी दी गई है कि पत्नी, बेटी और बहनों के साथ दुष्कर्म जैसे कृत्य कराए जाएंगे।


रवि गुप्ता ने अपने शिकायती आवेदन में आरोप लगाया है कि 23 मई की रात को उनके निवास पर कुछ लोग आए और घर के बाहर बुलाकर कार में जबरन बैठाकर एक रेस्टोरेंट में ले जाया गया जहां बीजेपी विधायक संजय पाठक अपने कुछ साथियों के साथ वहां मौजूद थे। उनका आरोप है कि विधायक पाठक और उनके साथियों ने काफी देर तक उनके साथ मारपीट की और फांसी के फंदे तक पर लटकाने की कोशिश की। इन सभी लोगों के पास हथियार थे।

रवि गुप्ता का आरोप है कि उनसे एक कागज पर हस्ताक्षर करा लिए गए और धमकी दी गई है कि इस घटना से किसी को अवगत कराया तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। उनका यह भी आरोप है कि उनसे कहा गया कि अगर उन्होंने पत्रकारिता नहीं छोड़ी तो गंभीर नतीजे भुगतने होंगे।

पत्रकार गुप्ता ने बातचीत में दावा किया कि वे पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आवेदन देने गए थे, तो पुलिस अधीक्षक ने संजय पाठक का नाम आते ही मिलने से मना कर दिया। उन्होंने बताया कि पुलिस अधीक्षक कार्यालय ने आवेदन लेकर अपनी मुहर लगाई है। उसके बाद नगर पुलिस अधीक्षक ने उनके बयान दर्ज किए हैं।


वहीं पुलिस अधीक्षक सुनील जैन ने बताया कि उन तक रवि गुप्ता की कोई शिकायत नहीं आई है, आवक-जावक में हो सकता है शिकायत दी गई हो। फिलहाल उनकी जानकारी में यह मामला नहीं है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनोज केडिया ने कहा कि सोशल मीडिया से उन्हें इस बात की जानकारी हुई है कि किसी पत्रकार को जनप्रतिनिधि द्वारा धमकी दी गई है, इस मामले की जांच कराई जाएगी। केडिया के अनुसार शहर में बड़ी संख्या में फर्जी पत्रकार सक्रिय हैं। उन पर भी पुलिस की नजर है और जांच कराई जा रही है। दोषियों पर कार्रवाई होगी।

वहीं, पत्रकार रवि गुप्ता द्वारा लगाए गए आरोपों को लेकर बीजेपी विधायक संजय पाठक से संपर्क किया गया, मगर उनसे बात नहीं हो पाई। संजय पाठक के कार्यालय से भी लगातार संपर्क किया गया, मगर सफलता नहीं मिली।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia