मुंबई में प्यार, दिल्ली में लिव इन में रहे; फिर एक दिन कर दिए 35 टुकड़े, जानें कैसे आफताब ने श्रद्धा को उतारा मौत के घाट

आरोपी आफताब रोजाना रात को श्रद्धा के शव के टुकड़े थैली में डालकर महरौली के जंगलों में जाता था और वहां थैली से निकालकर फेंकता था ताकि उसके शव के टुकड़ों को जानवर खा लें और वो पकड़ा ना जाए।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

हत्या का एक सनसनीखेज मामला दिल्ली के महरौली से सामने आया है। जहां एक प्रेमी ने अपनी गर्लफ्रेंड के शरीर के 35 टुकड़े कर उन्हें अलग अलग जगहों पर फेंक दिया। हत्या की इस कहानी को सुनकर आपके भी रोंकटे खड़े हो जाएंगे। इस कहानी की शुरूआत माया नगरी मुंबई से शुरू हुई। जहां एक कॉल सेंटर में काम कर रहे आफताब और श्रद्धा की दोस्ती हुई। फिर ये दोस्ती धीरे धीरे प्यार में बदली।

दोनों अलग अलग धर्म से संबंध रखते थे ऐसे में परिवार का विरोध करना भी लाजमी था। इस कहानी में भी यही हुआ। परिवार को ये रिश्ता बिल्कुल भी कबूल नहीं था। उधर परिवार के विरोध को लेकर दोनों ने मुंबई से भागने का फैसला किया।

18 मई को आफताब ने श्रद्धा की हत्या की

दोनों मुंबई से भागकर दिल्ली आ गए। दोनों की प्रेम कहानी सही चल रही थी, लेकिन एक दिन जब श्रद्धा ने आफताब को शादी के लिए कहा तो उस दिन से ही आफताब को श्रद्धा एक आंख नहीं भा रही थी। श्रद्धा भी शादी का लगातार दबाल बना रही थी, लेकिन जब आफताब के पास इसे लेकर कोई जवाब नहीं था तो उसने ये खौफनाक कदम उठाया और उसने श्रद्धा की गला घोंटकर पहले हत्या की, फिर उसके शव के 35 टुकड़े कर डाले। आफताब ने 18 मई को 26 वर्षीय श्रद्धा को गला घोंट कर मार डाला।

आपको बता दें, हत्या की ये कहानी 6 महीने पुरानी है। फिलहाल मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। दिल्ली पुलिस ने शनिवार को बताया कि उन्होंने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया, जिसने महरौली इलाके में अपने लिव-इन पार्टनर की हत्या कर शव को 35 टुकड़ों में काटा और शहर के अलग-अलग जगहों पर फेंक दिया। आरोपी की पहचान आफताब अमीन पूनावाला के रुप में हुई है। पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश किया जिसके बाद कोर्ट ने आफताब को 5 दिनों की पुलिस कस्टडी में भेज दिया है।


नवंबर में श्रद्धा के पिता ने दर्ज कराई थी FIR

पुलिस के मुताबिक श्रद्धा के पिता ने नवंबर के महीने में अपनी बेटी के अपहरण की एफआईआर दिल्ली के महरौली थाना में दर्ज कराई। श्रद्धा के पिता ने बताया कि उसकी बेटी मुंबई के कॉल सेंटर में काम करती थी जहां उसकी मुलाकात आफताब नाम के एक शख्स से हुई और दोनों की दोस्ती काफी नजदीकी में तब्दील हो गई। जिसके बाद विरोध के चलते उनकी बेटी और आफताब मुंबई छोड़कर दिल्ली आ गए और यहां पर छतरपुर इलाके में रहने लगे।

श्रद्धा के पिता ने बताया कि वह सोशल मीडिया के जरिए बेटी की फोटो आदि को देखा करते थे लेकिन काफी दिनों से जब सोशल मीडिया पर कुछ भी अपडेट नहीं मिला तो उन्होंने उससे संपर्क करने की कोशिश की लेकिन संपर्क नहीं हो पाया। जिसके बाद उन्होंने मामले की जानकारी पुलिस को दी।

18 दिनों तक फेंकता रहा शरीर के टुकड़े

खबरों की मानें तो आफताब ने उसके शरीर को 35 टुकड़ों में काटा और उन्हें स्टोर करने के लिए एक नया फ्रिज खरीदा। 18 दिनों की अवधि में उसने उन शरीर के टुकड़ों को अलग-अलग जगहों पर फेंक दिया। किसी भी तरह के संदेह से बचने के लिए वह तड़के 2 बजे पॉलीबैग में शव लेकर घर से निकल जाता था।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि पूनावाला को शनिवार को गिरफ्तार किया गया और पूछताछ में उसने खुलासा किया कि दोनों के बीच शादी को लेकर अक्सर लड़ाई होती थी। वह उसपर शादी का दबाव बना रही थी।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia