दिल्ली में नाबालिग लड़की का अपहरण कर रेप, फिर वेश्यावृत्ति में धकेला, तीन आरोपी गिरफ्तार

उत्तरी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) मनोज कुमार मीणा ने बताया कि नाबालिग पीड़िता अनाथ है और पांच-छह महीने पहले उसके मूल स्थान से उसका अपहरण कर लिया गया था। पीड़िता की काउंसलिंग की जा रही है और आगे की जांच जारी है।

दिल्ली में नाबालिग लड़की का अपहरण कर रेप, फिर वेश्यावृत्ति में धकेला, तीन आरोपी गिरफ्तार
दिल्ली में नाबालिग लड़की का अपहरण कर रेप, फिर वेश्यावृत्ति में धकेला, तीन आरोपी गिरफ्तार
user

नवजीवन डेस्क

राजधानी दिल्ली में एक 14 वर्षीय नाबालिग लड़की का अपहरण कर उसके साथ बलात्कार करने के बाद उसे वेश्यावृत्ति में धकेलने का शर्मनाक मामला सामने आया है। दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने लड़की को बरामद कर लिया है और तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

मामला तब सामने आया जब पुलिस को सूचना मिली कि उत्तरी दिल्ली के सदर बाजार इलाके में एक महिला वेश्यावृत्ति का अड्डा चला रही है। उत्तरी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) मनोज कुमार मीणा ने कहा कि पुलिस टीम ने शनिवार को परिसर में छापा मारा और बिहार के अररिया जिले की रहने वाली नाबालिग को कटरा आत्मा राम (सदर बाजार) के एक घर में बंद पाया गया।

जांच में पता चला कि उसे कैद में रखने का मकसद वेश्यावृत्ति था। कथित तौर पर उसका अपहरण कर लिया गया था और जबरन यहां रखा गया था। डीसीपी ने कहा, ''अररिया जिले के रहने वाले इरशाद (30), संजारी (36) और हसीबुल (45) नाम के आरोपियों ने पीड़िता का अपहरण किया। उसे बंधक बनाया और महीनों तक वेश्यावृत्ति के लिए मजबूर किया।''


पुलिस जांच के अनुसार, इरशाद ने वेश्यावृत्ति के लिए लड़की का अपहरण किया था और उसे उसकी इच्छा के विरुद्ध कुछ महीनों तक बताए गए पते पर रखा था। हसीबुल की पत्नी संजारी ने लड़की को बंधक बनाने और व्यक्तियों को यौन गतिविधियों में शामिल होने की सुविधा प्रदान करने में भूमिका निभाई।

हसीबुल ने लड़की को कैद करने और यौन गतिविधियों के लिए व्यक्तियों को लाने में भूमिका निभाई। डीसीपी ने कहा कि रविवार को सदर बाजार पुलिस स्टेशन में आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 363, 368 ए, 370, 370 ए, 376, 34 और पॉक्सो अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।

शुरुआती जांच से पता चला है कि पीड़िता को पहले किसी अन्य घर में कैद किया गया होगा और पुलिस की नजर से बचने के लिए उसे स्थानांतरित किया जा रहा था। डीसीपी ने कहा, "वह अनाथ है और पांच-छह महीने पहले उसके मूल स्थान से उसका अपहरण कर लिया गया था। पीड़िता की काउंसलिंग की जा रही है और आगे की जांच जारी है।"

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;