मैसुरू दुष्कर्म मामले में सामने आईं चौंकाने वाली जानकारियां, आरोपी उत्साहित थे क्योंकि...

मैसूर दुष्कर्म मामले की जांच में चौंकाने वाली जानकारियां सामने आ रही हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार, आरोपियों ने उन्हें बताया कि वे इस तथ्य से प्रोत्साहित हुए कि मैसूर में छेड़छाड़ सहित अपराध करने के बाद, पीड़ितों द्वारा उनके खिलाफ कभी कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

मैसूर दुष्कर्म मामले की जांच में चौंकाने वाली जानकारियां सामने आ रही हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार, आरोपियों ने उन्हें बताया कि वे इस तथ्य से प्रोत्साहित हुए कि मैसूर में छेड़छाड़ सहित अपराध करने के बाद, पीड़ितों द्वारा उनके खिलाफ कभी कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई। मैसूर में 24 अगस्त को हुए सामूहिक दुष्कर्म मामले ने राष्ट्रीय सुर्खियां बटोरीं थीं। आरोपी ने कॉलेज जाने वाली एक लड़की के साथ उस समय दुष्कर्म किया, जब वह अपने पुरुष मित्र के साथ चामुंडी तलहटी के पास एक सुनसान जगह पर थी। उन्होंने उसके दोस्त पर हमला किया और तीन लाख रुपये की फिरौती मांगी। पुलिस ने शनिवार (28 अगस्त) को एक किशोर समेत पांच आरोपियों को तमिलनाडु से गिरफ्तार किया। महाराष्ट्र से पढ़ने आई पीड़िता ने अपना बयान दर्ज नहीं कराया है क्योंकि वह अभी भी मानसिक आघात की स्थिति में है।

सूत्रों ने यह भी कहा कि अपराधियों का पता लगाना संभव हुआ क्योंकि पीड़ितों में से एक ने मोबाइल चोरी के लिए शिकायत दर्ज कराई थी। महिला ने पुलिस से केवल सिम कार्ड की मांग की। उसने शिकायत में उल्लेख किया था कि वह हैंडसेट नहीं चाहती है, क्योंकि यह बहुत पुराना था।

सामूहिक दुष्कर्म कांड के बाद जांचकतार्ओं ने शहर में हुई लूट की सभी वारदातों का ब्यौरा जुटाकर मिलान किया है। सूत्रों ने कहा कि आरोपियों में से एक सेल फोन का इस्तेमाल कर रहा था और यह पता चला कि पुलिस के पास एक आईएमईआई नंबर उपलब्ध था।


पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश कर हिरासत में ले लिया है। उनका मेडिकल टेस्ट भी किया जा चुका है। आरोपियों ने पुलिस को बताया है कि उन्होंने मैसूर को अपराध करने के लिए सबसे सुरक्षित शहर माना क्योंकि उनके पीड़ितों में से किसी ने भी पुलिस में शिकायत दर्ज कराने की हिम्मत नहीं की।

सूत्रों ने कहा कि आरोपियों ने जांच दल के सामने कबूल किया है कि उन्हें लगा कि सामूहिक दुष्कर्म की यह पीड़िता भी पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं कराएगी। आरोपियों ने मैसूर में सड़क चोरी और छेड़छाड़ के कई मामलों को अंजाम देने की बात कबूल की है।


पुलिस सूत्रों ने कहा, एक आरोपी दुष्कर्मी को तमिलनाडु में एक लड़की के पिता की हत्या करने के आरोप में जेल भेजा गया था, जिसे वह प्यार करता था। एक अन्य आरोपी अपनी तीन गर्लफ्रेंड द्वारा छोड़े जाने के बाद साइको हो गया और भोली-भाली महिलाओं और लड़कियों के साथ छेड़छाड़ और यौन उत्पीड़न में शामिल रहा है। जांच टीम सोमवार को संभवत: आरोपियों को अपराध स्थल पर ले जाएगी। आगे की जांच जारी है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia