बिहार में नीतीश सरकार या जंगल राज, नवनिर्वाचित मुखिया की गोली मारकर हत्या, एंबुलेंस से आए थे बदमाश

राज्य में जारी पंचायत चुनाव के पांचवें चरण के तहत बीते 26 अक्टूबर को संजय सिंह भोजपुर के बाबूबांध पंचायत से दोबारा मुखिया निर्वाचित हुए थे। चुनावी जीत के महज 20 दिन के अंदर दिनदहाड़े उनकी हत्या कर दिए जाने से राज्य की कानून-व्यवस्था पर सवाल खडे़ हो गए हैं।

फोटोः भाष्कर से साभार
फोटोः भाष्कर से साभार
user

नवजीवन डेस्क

बिहार के भोजपुर जिले में एंबुलेंस पर सवार होकर आए अपराधियों ने सोमवार को दिनदहाड़े एक नवनिर्वाचित मुखिया संजय सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी। फिलहाल हत्या का कारण स्पष्ट नहीं है। पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर पूरे मामले की छानबीन कर रही है। हत्या के बाद एंबुलेंस से भाग रहे अपराधियों की एंबुलेंस दुर्घटनाग्रस्त हो गई, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है। घटना को लेकर गांव और आसपास इलाके में तनाव का माहौल बना हुआ है।

भोजपुर पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि नवनिर्वाचित मुखिया संजय सिंह सोमवार को अपने एक सहयोगी के साथ बुलेट मोटरसाइकिल से चरपोखरी के ठेंगवा गांव से अपने गांव बजेन जा रहे थे। इसी दौरान प्रीतमपुर और भलुआन गांव के बीच एक एंबुलेंस पर सवार होकर आए अपराधियों ने उन पर ताबड़तोड़ गोलीबारी कर दी। सिर पर गोली लगने से घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई।


भोजपुर के पुलिस अधीक्षक विनय कुमार तिवारी ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई। हत्या का स्पष्ट कारण अभी पता नहीं चल पाया है। उन्होंने कहा कि पुलिस उपाधीक्षक के नेतृत्व में एक जांच टीम का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्टया हत्या का कारण चुनावी रंजिश की बात सामने आ रही है। उन्होंने कहा कि पुलिस सभी कोणों से मामले की जांच कर रही है।

गौरतलब है कि बिहार में चल रहे पंचायत चुनाव में पांचवें चरण के तहत बीते 24 अक्टूबर को चुनाव हुआ था और 26 अक्टूबर को मतगणना में संजय सिंह बाबूबांध पंचायत से दोबारा मुखिया निर्वाचित हुए थे। चुनाव परिणाम के महज 20 दिन के अंदर ही दिनदहाड़े उनकी हत्या कर दिए जाने से राज्य की कानून-व्यवस्था पर सवाल खडे़ हो गए हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia