नोएडा: विज्ञापन देकर सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर करोड़ों रुपयों की ठगी करने वाला गिफ्तार, पुलिस के हत्थे चढ़ा

छात्रों ने बताया कि इनके द्वारा ट्रस्ट खोल कर उत्तर प्रदेश के लिए 2276 योग एवं सपोर्ट स्टाफ की भर्ती निकाली गई और लाखों की ठगी की गई और उसके बाद 2021 में 1147 भर्ती निकाली और इस दौरान भी इनके साथ ठगी की घटना को अंजाम दिया गया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

नोएडा पुलिस ने युवाओं के साथ करोड़ों की ठगी करने वाले गिरोह के एक शातिर ठग को गिरफ्तार किया है। इस शातिर ठग ने अपने साथियों के साथ मिलकर आयुष्मान योग एवं खेलकूद प्रतिष्ठान खोलकर समाचार पत्रों और फेसबुक पर फर्जी ऐड डालकर युवाओं के साथ सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर करोड़ों रुपए की ठगी की थी। ठगी के शिकार हुए छात्रों के ने 5 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। उसी में पुलिस ने इस संस्था के फाउंडर को गिरफ्तार कर लिया है। फेस 3 पुलिस ने विपुल नाम के एक शातिर ठग को गिरफ्तार किया है।

दरअसल, 25 मार्च 2021 को बनारस , बलिया, लखनऊ ,कन्नौज व उत्तराखंड के छात्रों के द्वारा थाने पर एक शिकायत दी गई। जिसमें बताया गया कि एक एनजीओ जिसका नाम आयुष्मान भारत योग एवं खेलकूद प्रशिक्षण संस्थान है। जोकि सेक्टर 71 में संचालित है और उसका रजिस्ट्रेशन गाजियाबाद से हुआ है। उसके द्वारा हमारे साथ ठगी की घटना को अंजाम दिया गया है। इन लोगों ने आयुष्मान भारत रोजगार योजना के नाम पर फर्जी ट्रेनिंग व फर्जी नियुक्ति पत्र देकर सैकड़ों छात्रों के साथ करोड़ों का फर्जीवाड़ा किया है।


इस दौरान इन लोगों ने इस संस्था के चेयरमैन दामोदर कुमार शर्मा, ट्रस्टी संजय चौधरी, फाउंडर विपुल, साद अब्बासी प्रेसिडेंट और टेक्निकल टीम विनीत गुप्ता इन सभी लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है और कहा कि इन लोगों ने हमारे साथ करोड़ों की ठगी की घटना को अंजाम दिया है। छात्रों ने बताया कि इनके द्वारा ट्रस्ट खोल कर उत्तर प्रदेश के लिए 2276 योग एवं सपोर्ट स्टाफ की भर्ती निकाली गई और लाखों की ठगी की गई और उसके बाद 2021 में 1147 भर्ती निकाली और इस दौरान भी इनके साथ ठगी की घटना को अंजाम दिया गया।

पुलिस ने इस मामले में अब संस्था के फाउंडर विपुल को नोएडा के कैलाश अस्पताल के पास से गिरफ्तार किया है। यह मूल रूप से मेरठ के मवाना का रहने वाला है। इस मामले में कई लोगों के द्वारा अग्रिम जमानत ले ली गई है साथ ही कई आरोपियों की पुलिस के द्वारा तलाश की जा रही है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;