ई-कॉमर्स पोर्टल अमेजन पर गांजा बेचने वाले रैकेट का खुलासा, 'कैट' ने नारकोटिक्स ब्यूरो से जांच करने की उठाई मांग

मध्य प्रदेश के भिंड में एसपी मनोज कुमार सिंह के नेतृत्व में अमेजन के ई-कॉमर्स पोर्टल पर गांजा की बिक्री के रैकेट का खुलासा हुआ।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश के भिंड में एसपी मनोज कुमार सिंह के नेतृत्व में अमेजन के ई-कॉमर्स पोर्टल पर गांजा की बिक्री के रैकेट का खुलासा हुआ। इस पर कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने मांग की है कि इस गंभीर मुद्दे को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो को सौंपना चाहिए। वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और एमपी सीएम शिवराज सिंह चौहान से इसपर सख्त कार्यवाही करने का भी आग्रह किया है।

जानकारी के अनुसार, कैट इस मसले पर आगामी दिनों में देशभर में अपना विरोध प्रदर्शन दर्ज कराने पर भी विचार कर रहा है। कैट के अनुसार, इस मुद्दे को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता, क्योंकि ये देश की सुरक्षा के लिए एक गंभीर खतरा है, क्योंकि इसी तरह अवैध हथियार या अन्य अवैध गतिविधियां भी पोर्टल के द्वारा संचालित की जा सकती हैं।


कैट ने आगे कहा कि, एमपी पुलिस ने बीते कल ग्वालियर के अमेजन गोदाम में छापेमारी के दौरान मारिजुआना के 380 से अधिक पैकेज पकड़े, जिसे कड़ी पत्ते के रूप में बेचे जाने का खुलासा किया जो की बेहद गंभीर मामला है।

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने आज मध्य प्रदेश के पुलिस अधिकारियों से एनडीपीएस अधिनियम और आईपीसी के तहत अमेजॅन के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने और भारत में अमेजन के संचालन और प्रबंधन के लिए जिम्मेदार व्यक्तियों को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की है।


उन्होंने आगे कहा कि, अपनी ई-कॉमर्स वेबसाइट के माध्यम से 1 करोड़ रुपये से अधिक के गांजे की बिक्री और उस पर 66 फीसदी (यानी 66 लाख रुपये से अधिक) का कमीशन अर्जित करके, अमेजॅन ने एनडीपीएस अधिनियम की धारा 20 (बी) का उल्लंघन किया है।

कैट ने इस मसले पर मांग की है कि, एमपी पुलिस द्वारा पहले ही गिरफ्तार किए गए लोगों के अलावा, उन्हें अमेजॉन के वरिष्ठ प्रबंधन को गिरफ्तार करना चाहिए, जिन्होंने गांजा की बिक्री के लिए इसके प्लेटफॉर्म का उपयोग करने में मदद की है और इसलिए एक ड्रग पेडलर के रूप में काम किया है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia