राजस्थान: एक विला में चल रही थी नकली नोट छापने की फैक्ट्री, 5 लाख के जाली नोटों के साथ 2 गिरफ्तार

राजस्थान पुलिस के एसओजी ने बुधवार को दो लोगों को गिरफ्तार किया और उनके पास से 5,80,000 रुपये के नकली नोट बरामद किए हैं। एसओजी ने एक फैक्ट्री को भी जब्त कर लिया जो एक विला से चलाए जा रहे नकली भारतीय मुद्रा नोट को छापने में लगी हुई थी।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

रवि प्रकाश

राजस्थान पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) ने बुधवार को दो लोगों को गिरफ्तार किया और उनके पास से 5,80,000 रुपये के नकली नोट बरामद किए हैं। एसओजी ने एक फैक्ट्री को भी जब्त कर लिया जो एक विला से चलाए जा रहे नकली भारतीय मुद्रा नोट (एफआईसीएन) को छापने में लगी हुई थी।

एसओजी अधिकारियों के मुताबिक, "यह कार्रवाई बुधवार की सुबह जयपुर के पास गोनेर पदमपुरा में की गई। एसओजी को मिली जानकारी के आधार पर आरोपी व्यक्तियों के ठिकानों पर छापेमारी की गई। 5,80,000 रुपये के नकली नोटों के साथ कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी मिले। नकली नोट छापने की मशीन, रंगीन प्रिंटर और स्कैनर सहित वहां पाए गए। एसओजी टीम ने उन सभी को जब्त कर लिया है। टीम ने इस मामले में दो आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है जिनकी पहचान बृजेश मौर्य और प्रथम शर्मा के रूप में हुई है।"


शुरूआती पूछताछ में पता चला है कि मध्य प्रदेश का रहने वाला मौर्य गिरोह का मास्टरमाइंड था, जबकि प्रथम शर्मा जयपुर का रहने वाला है। आगे की जांच जारी है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia