अपराध

अपूर्वा ने किया पति रोहित शेखर का कत्ल, पुलिस पूछताछ में बताया कब, क्यों और कैसे की हत्या

क्राइम ब्रांच ने रोहित की पत्नी अपूर्वा शुक्ला को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। अपूर्वा ने अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया है कि उसने रोहित की हत्या को कब, क्यों और कैसे अंजाम दिया।

फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की हत्या का मामला सुलझा लिया है। क्राइम ब्रांच ने रोहित की पत्नी अपूर्वा शुक्ला को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। अपूर्वा ने अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया है कि उसने रोहित की हत्या को कब, क्यों और कैसे अंजाम दिया। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त राजीव रंजन ने बताया, 'वैज्ञानिक सबूतों और एफएसएल रिपोर्ट की मदद से हमने अपूर्वा को गिरफ्तार किया। उसने अपने पति की हत्या करने की बात को स्वीकार लिया है। उसने शादीशुदा जिंदगी में खुश न होने को इसका कारण बताया है।' अधिकारी ने कहा कि मामले की शुरुआत में अपूर्वा ने क्राइम ब्रांच की टीम को भटकाने की कोशिश की थी। उन्होंने कहा, '16 अप्रैल को रोहित के कमरे में घुसकर उसने वारदात को अंजाम दिया। बाद में सबूतों को मिटा दिया। डेढ़ घंटे के अंदर सारे काम किए गए थे।'

इस मामले में शुरू से ही शक की सुई रोहित की पत्नी की तरफ घूम रही थी। रोहित की पत्नी अपूर्वा लगातार अपना बयान बदल रही थी। इस वजह से पुलिस को उस पर शक गहरा होता गया। वारादत वाली रात को लेकर अपूर्वा ने अब तक तीन अलग-अलग बयान दिए। लेकिन कड़ाई से पूछताछ करने के बाद आखिरकार अपूर्वा ने सच उगल ही दिया।

अपूर्वा ने पुलिस को बताया कि हत्या वाली रात उसके और रोहित के बीच झगड़ा हुआ था। अपूर्वा ने झगड़े की वजह बताते हुए कहा कि वारदात की रात रोहित अपनी एक महिला मित्र के साथ शराब पी रहा था, जिसे उसने देख लिया था। इसी बात को लेकर रोहित और अपूर्वा में काफी झगड़ा भी हुआ। फिर रात में करीब एक बजे अपूर्वा रोहित के कमरे में गई और उससे काफी झगड़ा किया। दोनों के बीच बहस इतनी बढ़ी कि अपूर्वा ने एक हाथ से रोहित का गला दबाया और एक हाथ से उसका मुंह दबा दिया। इसी सब में रोहित की मौत हो गई।

पुलिस के मुताबिक अपूर्वा ने अकेले ही इस वारदात को अंजाम दिया, इसमें उसके साथ कोई और शामिल नहीं था। अपूर्वा के बयानों के अनुसार उसके और रोहित के बीच में हाथापाई के दौरान दोनों ही एक दूसरे को मारने की कोशिश कर रहे थे। जिसमें अपूर्वा कामयाब हो गई।

इस मामले में एक खुलासा और हुआ है कि रोहित के मोबाइल से 15 और 16 अप्रैल की रात करीब 4.58 बजे कुमकुम के मोबाइल पर फोन किया गया था। हालांकि कुमकुम ने फोन नहीं उठाया था।

पुलिस ने जानकारी दी है कि अपूर्वा ने अकेले ही इस वारदात को अंजाम दिया, इसमें उसके साथ कोई और शामिल नहीं था। गौरतलब है कि रोहित के मोबाइल से घर के लैंडलाइन पर भी फोन किए गए थे। जबकि रोहित की मौत रात करीब 1 बजे हो चुकी थी। इस तरह यह साफ होता है कि यह फोन भी अपूर्वा ने ही किए होंगे।

पुलिस ने अपूर्वा का ब्लड सेंपल और घटनास्थल पर पाए गए खून के नमूने भी लिए थे। जिसे परीक्षण के लिए भेजा गया है। अपूर्वा ने सबूत मिटाने के लिए अपना मोबाइल तक फार्मेट कर दिया था और जिस कमरे में रोहित की हत्या हुई वहां के सीसीटीवी कैमरे खराब होना भी इस बात की तस्दीक करता था कि हत्या में कोई बाहरी व्यक्ति नहीं, घर का ही कोई शख्स शामिल था।

Published: 24 Apr 2019, 3:13 PM
लोकप्रिय