राजस्थान में सीरियल ब्लास्ट की साजिश नाकाम, 12 किलो विस्फोटक बरामद, 3 लोग गिरफ्तार

गिरफ्तार तीनों आरोपियों के किसी आतंकी संगठन से जुड़े होने की आशंका को देखते हुए एनआईए और इंटेलिजेंस ब्यूरो भी इस मामले पर नजर रख रही है। अधिकारियों ने कहा कि गिरफ्तार किए गए तीन लोगों से पूछताछ की जा रही है और उनके स्लीपर सेल का हिस्सा होने की संभावना है।

प्रतीकात्मक फोटोः IANS
प्रतीकात्मक फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

राजस्थान पुलिस ने चित्तौड़गढ़ जिले के निम्बाहेड़ा शहर से तीन लोगों को गिरफ्तार किया है और उनके पास से 12 किलोग्राम विस्फोटक और बम बनाने में इस्तेमाल होने वाली अन्य सामग्री जब्त की है। शुरुआती जांच में पता चला है कि जयपुर में एक सीरियल ब्लास्ट की साजिश रची गई थी और गिरफ्तार किए गए व्यक्तियों को विस्फोटक अपने समूह के अन्य सदस्यों को सौंपना था।

राजस्थान के अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि शुरुआती जांच से पता चला है कि गिरफ्तार किए गए व्यक्ति- जुबैर, अल्तमस और सैफुल, अल सूफा संगठन से जुड़े हैं जो मध्य प्रदेश में रतलाम और देवास के पास से ऑपरेट होता है। उन्हें उस समय गिरफ्तार किया गया, जब वे मध्य प्रदेश की नंबर प्लेट वाली बोलेरो कार में जा रहे थे। कहा जा रहा है कि वे रतलाम (मध्य प्रदेश) से विस्फोटक सामग्री लेकर जयपुर जा रहे थे।


इस संबंध में निम्बाहेड़ा के सदर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। आरोपियों से पूछताछ के बाद इस मामले में टोंक और चित्तौड़गढ़ से तीन और लोगों को भी हिरासत में लिया गया है। पूछताछ के दौरान पता चला कि जयपुर में एक सीरियल ब्लास्ट की साजिश रची गई थी और गिरफ्तार किए गए व्यक्तियों को विस्फोटक अपने समूह के अन्य सदस्यों को सौंपना था।

इस जांच के आधार पर राजस्थान और मध्य प्रदेश से पांच अन्य लोगों को भी हिरासत में लिया गया है। अधिकारियों को संदेह है कि संभवत: तीन स्थानों पर सिलसिलेवार विस्फोट करने की योजना थी। इस बीच, मध्य प्रदेश के रतलाम में एटीएस टीम ने कथित तौर पर 2 लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।


गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपियों के किसी आतंकी संगठन से जुड़े होने की आशंका को देखते हुए राष्ट्रीय जांच एजेंसी और इंटेलिजेंस ब्यूरो भी इस मामले पर नजर रख रही है। अधिकारियों ने कहा कि गिरफ्तार किए गए तीन लोगों से पूछताछ की जा रही है और उनके स्लीपर सेल का हिस्सा होने की संभावना है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia