सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड: एके-47 से एएन-94 तक का सफर, भारत के गैंगस्टर्स कर रहे इन खतरनाक राइफलों का इस्तेमाल!

सिद्धू मूसेवाला नाम से मशहूर पंजाबी गायक शुभदीप सिंह सिद्धू पर अंधाधुंध फायरिंग कर उसकी हत्या कर दी थी। इस हत्याकांड में एएन-94 रशियन असॉल्ट राइफल का इस्तेमाल किया गया था।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

सिद्धू मूसेवाला नाम से मशहूर पंजाबी गायक शुभदीप सिंह सिद्धू पर अंधाधुंध फायरिंग कर उनकी हत्या कर दी गई। इस हत्याकांड में एएन-94 रशियन असॉल्ट राइफल का इस्तेमाल किया गया था। यह पहली बार है कि एएन-94 का इस्तेमाल गैंगवार में किया गया है, क्योंकि अपराधी पहले एके-47 के साथ हत्या और मुठभेड़ करते थे।

सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि अत्याधुनिक असॉल्ट राइफल्स की नेपाल के जरिए तस्करी की जाती है, लेकिन पड़ोसी देश भारत को इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। एएन-94 राइफल को रूस में तैयार किया गया था। यह एव्तोमैट निकोनोवा मॉडल 1994 है। इसका निकोनोवा नाम इसके चीफ डिजाइनर गेनाडी निकोनोवा के नाम पर पड़ा है, जिन्होंने इससे पहले निकोनोव मशीन गन बनाई थी।

खुफिया एजेंसियों और पुलिस का मानना है कि गैंगस्टर्स तक अत्याधुनिक हथियार पहुंचाने के पीछे एक अंतरराष्ट्रीय रैकेट हो सकता है।


सूत्रों ने कहा कि मुंबई में समुद्री मार्ग से कई बार एके-47 की आपूर्ति की जाती थी, नेपाल सीमा से भी इसकी तस्करी भारत के दूसरे हिस्से में की जाती थी। मूसेवाला के सुरक्षाकर्मियों के पास भी एके-47 थी। लेकिन अब हमें अंडरवल्र्ड में एएन-94 के खरीदारों और विक्रेताओं पर ध्यान देना होगा।

अंडरवल्र्ड डॉन दाऊद इब्राहिम और उनके गुर्गे एके 47 का इस्तेमाल जबरन वसूली, जमीन हथियाने और अन्य आपराधिक गतिविधियों के लिए करते थे।

धीरे-धीरे एके-47 की तस्करी उत्तर प्रदेश में होने लगी। 1990 में गैंगस्टर और कॉन्ट्रैक्ट किलर प्रकाश शुक्ला ने एके -47 का इस्तेमाल किया था। शुक्ला ने भाजपा नेता कल्याण सिंह को जान से मारने की धमकी दी थी। 22 सिंतबर 1998 में उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स की एक टीम ने शुक्ला को मार गिराया।

1997 में गैंगस्टर संजीव माहेश्वरी ने बीजेपी नेता ब्रह्मदत्त द्विवेदी की एके-47 से हत्या की थी।
29 नवंबर 2005 को गैंगस्टर मुन्ना बजरंगी ने एके-47 का भी इस्तेमाल गाजीपुर से बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या कर दी थी। 2016 में बीजेपी नेता बृजपाल तेवतिया की कार सवार हमलावरों ने एके-47 से गोली मारकर हत्या कर दी थी।


पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कई गैंगस्टर एके-47 का इस्तेमाल कर रहे हैं। जिन गिरोहों के पास यह अत्याधुनिक हथियार हुआ करते थे, उनमें नोएडा के सुंदर भाटी और रणदीप भाटी गिरोह, अनिल दुजाना गैंग, मुजफ्फरनगर के विक्की त्यागी का गैंग, बागपत-उत्तराखंड के सुनील राठी का गैंग और नरेंद्र फौजी गैंग शामिल हैं।

दिल्ली में, पूर्व विधायक रामबीर शौकिन के पास से एक एके-47 बरामद की गई थी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 04 Jun 2022, 3:53 PM
;