दिल्ली में दिल दहलाने वाली वारदात, टीचर ने अपनी पत्नी और तीन मासूम बच्चों को मारा डाला 

दिल्ली के महरौली में शुक्रवार देर रात दिल दहलाने वाली वारदात को अंजाम दिया गया। यहां पर वार्ड 2 में रहने वाले एक ट्यूशन टीचर ने अपने ही तीन मासूम बच्चों और पत्नी की हत्या कर दी। आरोपी की पहचान उपेंद्र शुक्ला के तौर पर की गई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

दिल्ली पुलिस ने शनिवार को दक्षिणी दिल्ली के मेहरौली स्थित एक घर से अपनी पत्नी और तीन बच्चों की हत्या करने वाले शख्स को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि आरोपी उपेंद्र शुक्ला ने अपनी पत्नी और दो बच्चों को चक्की का पत्थर काटने वाली मशीन से मार डाला, जबकि एक बच्चे की गला घोंटकर हत्या कर दी।

इस भयानक हत्याकांड की जानकारी तब मिली, जब उसी घर में रहने वाली आरोपी की मां ने आरोपी के कमरे का दरवाजा खटखटाया। कई प्रयासों के बाद भी जब उसने दरवाजा नहीं खोला तो महिला ने पड़ोसियों की मदद से कमरे का दरवाजा तुड़वाया, जहां जमीन पर उन्हें खून से सनी लाशें मिलीं। पड़ोसियों ने पुलिस को फोन कर घटना की सूचना दी।

दक्षिणी दिल्ली पुलिस के उपायुक्त विजय कुमार ने कहा, "आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि वह अवसादग्रस्त था, लेकिन चिकित्सीय रिपोर्ट से स्थिति साफ हो जाएगी।" कुमार ने आगे कहा, "शुक्ला पेशे से शिक्षक है। हमें एक पत्र मिला है, जिसमें उसने अपने परिवार की हत्या की बात कही है, हालांकि पत्र में हत्या के पीछे की वजह का जिक्र नहीं है।"

फिलहाल यह पता नहीं चल पाया है कि उसने इतना खौफनाक कदम क्यों उठाया। शख्स की दो बेटियां और एक बेटा है। बड़ी लड़की उम्र 7 वर्ष, लड़के की उम्र 5 साल और सबसे छोटी लड़की की उम्र डेढ़ महीने बताई जा रही है। आरोपी उपेंद्र शुक्ला ने शुक्रवार देर रात 1 से 1.30 बजे के बीच सभी की हत्या कर दी।

डीसीपी विजय कुमार के मुताबिक सुबह 7 बजकर 10 मिनट पर पुलिस को कत्ल की जानकारी मिली। उपेंद्र शुक्ला ने तीन बच्चों और पत्नी का कत्ल किया है। उसकी दो बेटी और एक बेटा है। उपेंद्र बिहार के चंपारण का रहने वाला है.

लाश के पास से उपेंद्र के लिखे दो नोट बरामद हुए हैं, जिसमें से एक हिंदी और एक अंग्रेजी में लिखा हुआ है। इन नोट्स में उपेंद्र ने लिखा कि ये सभी कत्ल मैंने किए हैं। मैं इसके लिए जिम्मेदार हूं। डीसीपी के मुताबिक उपेंद्र की पत्नी अर्चना डायबिटीज से पीड़ित थी और आर्थिक तंगी डिप्रेशन और कत्ल की वजह हो सकती है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Published: 22 Jun 2019, 1:37 PM
लोकप्रिय