उमेश पाल हत्याकांड: माफिया अतीक ने खोल दिया अपना मुंह, जेल से रची गई साजिश और परिवार को लेकर कही ये बड़ी बात!

माफिया अतीक अहमद ने कहा कि साबरमती जेल में मुझे बहुत परेशान किया जा रहा है। मैंने वहां से कोई फोन नहीं किया, वहां पर जैमर लगे हुए हैं। मैंने जेल से कोई साजिश नहीं रची। 6 साल से मैं जेल में हूं। मेरा पूरा परिवार बर्बाद हो चुका है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उमेशपाल हत्याकांड के आरोपी माफिया अतीक अहमद को गुजरात की साबरमती जेल से प्रयागराज लाया जा रहा है। रास्ते में राजस्थान के बूंदी में अतीक अहमद ने मीडिया के सवालों का जवाब दिया। उसने उमेशपाल हत्याकंड में खुद पर लगे साजिश के आरोपों पर जवाब दिया। उसने कहा कि मेरा परिवार पूरी तरह से बर्बाद हो गया। मैं जेल में था, मुझे इसके बारे में क्या पता?

माफिया अतीक अहमद ने कहा कि साबरमती जेल में मुझे बहुत परेशान किया जा रहा है। मैंने वहां से कोई फोन नहीं किया, वहां पर जैमर लगे हुए हैं। मैंने जेल से कोई साजिश नहीं रची। 6 साल से मैं जेल में हूं। मेरा पूरा परिवार बर्बाद हो चुका है। हमारे परिवार को मिट्टी में मिला दिया, अब रगड़े ही जा रहा है।


बुधवार शाम तक रोर्ड मार्ग के जरिए यूपी पुलिस अतीक अहमद को प्रयागराज लेकर पहुंच सकती है। प्रयागराज की कोर्ट में अतीक अहमद को उमेश पाल हत्याकांड मामले में पेश किया जाना है। 16 दिन पहले भी राजू पाल हत्याकांड मामले में अतीक अहमद को अहमदाबाद की साबरमती जेल से 1300 किलोमीटर दूर प्रयागराज रोड के रास्ते ले जाया गया था।

इससे पहले, अहमद को 26 मार्च को अदालत में पेश करने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस अहमदाबाद से प्रयागराज ले गई थी। अदालत ने 28 मार्च को अहमद और दो अन्य को 2006 के उमेश पाल अपहरण मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी।

अतीक अहमद और उसके सहयोगियों ने 2006 में उमेश पाल का अपहरण कर लिया था और उन्हें अपने पक्ष में अदालत में बयान देने के लिए मजबूर किया था। सजा सुनाए जाने के बाद 60 वर्षीय उत्तर प्रदेश के पूर्व विधायक और लोकसभा सदस्य को 29 मार्च को गुजरात की उच्च सुरक्षा वाली जेल में वापस ले जाया गया।

उमेशपाल का 24 फरवरी को हुआ था मर्डर

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में 24 फरवरी 2023 को राजूपाल हत्याकांड में गवाह उमेश पाल की हत्या कर दी गई थी। उमेश पाल अपने घर जा रहे थे, इसी दौरान गली के बाहर कार से निकलते समय उनपर गोलियां बरसाई गई थीं। बम भी फेंके गए थे। हमले में उमेश पाल और उनके दो गार्ड्स की जान चली गई थी। उमेश पाल की पत्नी ने इस मामले में अतीक अहम, उसके भाई अशरफ समेत 9 लोगों पर मामला दर्ज कराया था। इस मामले में असद समेत 5 शूटरों की पुलिस तलाश कर रही है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 12 Apr 2023, 8:49 AM
;