फिर सवालों के घेरे में यूपी पुलिस, गैंगरेप पीड़िता का आरोप, थाने में सब-इंस्पेक्टर ने भी किया दुष्कर्म

उत्तर प्रदेश पुलिस एक बार फिर से सवालों के घेरे में है। जिस पुलिस पर रेप जैसे अपराध को रोकने की जिम्मेदारी है, उसी पर दुष्कर्म करने के आरोप लगे हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

रवि प्रकाश

उत्तर प्रदेश पुलिस एक बार फिर से सवालों के घेरे में है। जिस पुलिस पर रेप जैसे अपराध को रोकने की जिम्मेदारी है, उसी पर दुष्कर्म करने के आरोप लगे हैं। दरअसल पांच पुरुषों द्वारा कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म की शिकार एक महिला ने दावा किया है कि जब वह पुलिस स्टेशन में मामले की शिकायत दर्ज कराने गई तो वहां भी एक पुलिस सब-इंस्पेक्टर ने उसके साथ दुष्कर्म किया। 35 वर्षीय महिला ने कहा कि 30 नंवबर को जब वह मामले की शिकायत करने के लिए जलालाबाद पुलिस स्टेशन गई तो सब-इंस्पेक्टरउसे शिकायत दर्ज कराने के बहाने बगल के कमरे में ले गया और वहां उसका यौन उत्पीड़न किया।

बरेली के एडीजी अविनाश चंद्र ने महिला की शिकायत पर जांच के आदेश दे दिए हैं। वहीं एसपी (सिटी) संजय कुमार ने कहा कि आरोप गंभीर हैं और पुलिस इसकी जांच कर रही है।

महिला जो कि विधवा है, उसने कहा, "30 नवंबर को पांचों आरोपियों ने मुझे जबरन कार के अंदर खींच लिया और मुझे पास के एक खेत में लेकर गए। वहां मेरे साथ पांचों ने दुष्कर्म किया। मैं तुरंत भागकर जलालाबाद पुलिस थाने में गई। वहां सब-इंस्पेक्टर ने भी मेरे साथ दुष्कर्म किया।"

उसने आगे कहा कि जब स्थानीय पुलिस ने मामला दर्ज करने से इनकार कर दिया, तो उसने वरिष्ठ अधिकारियों से संपर्क किया। वह एडीजी अविनाश चंद्र से मिलीं। फिर उन्होंने महिला थाना की एसएचओ को जांच करने का आदेश दिया।

एक वरिष्ठ पुलिसकर्मी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा, "महिला का इस्तेमाल कुछ मामलों को निपटाने के लिए किया जा रहा है। उसने पहले ही शाहजहांपुर में यौन उत्पीड़न के 4 मामले दर्ज कराए थे और अब तक 2 दर्जन से अधिक शिकायतें दे चुकी हैं। एक सर्कल अधिकारी उसकी हालिया शिकायतों की पहले से ही जांच कर रहा है।"

शाहजहांपुर के एसएसपी एस. आनंद ने कहा, "महिला ने सब-इंस्पेक्टर के खिलाफ शिकायत लेकर कभी हमसे संपर्क नहीं किया। वह सीधे एडीजी के पास गई। वह पहले ही यौन उत्पीड़न की कुछ शिकायतें दर्ज करा चुकी है और सभी मामलों की जांच चल रही है।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय