यूपी में रूह कंपाने वाली घटना, किसान को पहले बांधा कंटीले तारों से और जिंदा जला दिया

उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था की हालत कितनी खस्ता है, इसकी एक और बानगी शीशगढ़ के बरगवां गांव में देखने को मिली जहां एक किसान को पेड़ से बांधकर जिंदा जला दिया गया।

फोटो: मुशाहिद रफत
फोटो: मुशाहिद रफत
user

मुशाहिद रफत

बरेली जिले के शीशगढ़ थाना के बरगवां गांव में एक किसान को अगवा करने के बाद पेड़ से बांधकर जिंदा जला दिया गया। घरवाले इसे पुरानी रंजिश का मामला बता रहे हैं। रात में किसी वक्त किसान को घर से उठाकर ले जाया गया और फिर कंटीले तार से पेड़ से बांध कर उसे जिंदा जला दिया गया। पुलिस कह रही है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद घरवालों की तहरीर पर छानबीन शुरू की जाएगी। यह घटना किसान के घर से बामुश्किल आधा किलोमीटर दूर की है।

बरगवां गांव के 40 वर्षीय धर्मपाल गंगवार पेशे से किसान थे। शनिवार शाम को उनका शव घर से कुछ ही दूर जंगल में सेमल के पेड़ से बंधा हुआ मिला। कपड़े राख हो चुके थे और अधजला शव दोहरा हो गया था। सिर और हाथ जमीन पर टिक गए थे मगर कमर कंटीले तारों से पेड़ पर ही बंधी हुई थी।

एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल के साथ पहुंचे पुलिस दल ने पूछताछ की तो घरवालों ने धर्मपाल की डायरी सौंपी, जिसमें धर्मपाल ने लिखा था कि अगर कोई अनहोनी होती है तो पड़ोसी समेत दो लोग जिम्मेदार होंगे।

धर्मपाल का अपने पड़ोसी बंटाईदार तोताराम से कई साल पुराना झगड़ा था। रास्ते को लेकर शुरू हुआ यह विवाद न्यायालय तक जा पहुंचा था। घरवालों का कहना है कि धर्मपाल अकसर कहा करते थे कि अगर उन्हें कुछ हो जाए तो पड़ोसी के खिलाफ कार्रवाई की जाए। उन्होंने अपनी डायरी में पड़ोसी सहित दो लोगों के नाम लिखे हैं। घरवालों का कहना है कि जब उन्होंने पड़ोसी पर आरोप लगाया तो वह गांव से फरार हो गया।

पुलिस का मानना है कि धर्मपाल की हत्या में कम से कम तीन लोगों का हाथ है क्योंकि उन्हें घर से सोते समय उठाकर ले जाया गया और वह शोर तक नहीं मचा सके। हत्यारे उन्हें पास के ही जंगल में ले गए और सेमल के पेड़ से बांधने के लिए कंटीले तारों का इस्तेमाल किया। जिस कैन से ज्वलंतशील पदार्थ उन पर उंडेला गया वह भी शव के पास ही पड़ी मिली। पेड़ का निचला हिस्सा भी काफी हद तक जल चुका था।

पुलिस के साथ मौके पर फॉरेन्सिक टीम और डॉग स्क्वॉड भी पहुंच गया। पैरों के निशान के साथ कुछ और नमूने भी इकट्ठा किए गए हैं। एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल का कहना है कि पोस्टमॉर्टम के बाद घरवालों से तहरीर लेकर गहन छानबीन की जाएगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next