उत्तर प्रदेश: गोरखपुर के गैंगस्टर विनोद उपाध्याय का STF ने सुल्तानपुर में किया एनकाउंटर, 1 लाख रुपये का था ईनामी

माफिया और शार्प शूटर विनोद कुमार पर गोरखपुर पुलिस ने 1 लाख रुपये का ईनाम रखा था। उसके खिलाफ 35 मुकदमे दर्ज थे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने गोरखपुर के कुख्यात गैंगस्टर विनोद उपाध्याय का सुल्तानपुर में एनकाउंटर कर दिया है। उसका एनकाउंटर एसटीएफ मुख्यालय के डिप्टी एसपी दीपक कुमार सिंह के नेतृत्व में उनकी टीम ने किया है। माफिया और शार्प शूटर विनोद कुमार पर गोरखपुर पुलिस ने 1 लाख रुपये का ईनाम रखा था। उसके खिलाफ 35 मुकदमे दर्ज थे। विनोद कुमार उपाध्याय एक संगठित गिरोह चलाता था। वह गोरखपुर, बस्ती, संतकबीर नगर और लखनऊ समेत कई जगहों पर हत्या की वारदातों को अंजाम दे चुका था।

बताया जा रहा है कि शुक्रवार को तड़के जब एसटीएफ की टीम ने उसे सुलतानपुर में घेरा तो वह फायरिंग करने लगा। एसटीएफ की जवाबी कार्रवाई में उसे गोली लग गई। गोली लगने के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

विनोद उपाध्याय उत्तर प्रदेश के माफियाओं की टॉप 10 लिस्ट में शामिल था। वह अयोध्या जिले के पुरवा का रहने वाला था। बीते साल सितंबर महीने में यूपी पुलिस ने उस पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया था। एसटीएफ और गोरखपुर क्राइम ब्रांच की टीम उपाध्याय को 7 महीने से तलाश कर रही थी।

साल 2007 में पीडब्ल्यूडी कार्यालय केसामने गैंगवार की घटना से विनोद उपाध्याय सुर्खियों में आया था। तब विनोद उपाध्याय गैंग पर ताबड़तोड़ फायरिंग की गई थी। इसमें रिपुंजय राय और सत्येंद्र की मौत हो गई थी। हमले का आरोप लालबहादुर यादव गैंग पर लगा था। इस मामले में अजीत शाही, संजय यादव, इंद्रकेश पांडेय, संजीव सिंह समेत 6 लोग जेल गए थे।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;