दिल्ली: पहले महिला को मारा, फिर कब्रिस्तान में दफना दिया शव, 10 दिनों में पुलिस ने ऐसे सुलझाई केस की गुत्थी

पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपियों की पहचान मोबीन खान, नवीन खान और रेहान के रूप में हुई है। इसके अलावा पुलिस ने कब्रिस्तान के केयरटेकर को भी गिरफ्तार किया है, जिसने रात में दफनाने की अनुमति दी थी और इसके लिए 5,000 रुपये लिए थे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बाहरी दिल्ली के मंगोलपुरी से एक 50 साल की महिला का अपहरण कर उसकी हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक तीन लोगों ने महिला की हत्या की और सबूत मिटाने के लिए उसके शव को दफना दिया। करीब 10 दिन पहले महिला का अपहरण कर हत्या कर दी गई थी, जबकि आरोपियों को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने कहा कि संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल में उसका पोस्टमॉर्टम किया जाएगा।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपियों की पहचान मोबीन खान, नवीन खान और रेहान के रूप में हुई है। इसके अलावा पुलिस ने कब्रिस्तान के केयरटेकर को भी गिरफ्तार किया है, जिसने रात में दफनाने की अनुमति दी थी और इसके लिए 5,000 रुपये लिए थे। केयरटेकर की पहचान सैय्यद अली के रूप में हुई है। 

आपको बता दें, मृतक मीना वाधवान ब्याज पर पैसा देती थीं और अवंतिका क्षेत्र में रह रही थीं। तीनों आरोपी उन्हें कई सालों से जानते थे। उन्होंने उनसे कर्ज लिया था। आरोपी अधिक कर्ज की मांग कर रहे थे और जब महिला ने देने से इनकार कर दिया तो आरोपियों ने उसका अपहरण कर हत्या कर दी। आरोपियों ने शव को नांगलोई के एक कब्रिस्तान में दफना दिया।


बताया जा रहा है कि मीना 2 जनवरी से लापता थी। परिजनों ने इसकी शिकायत मंगोलपुरी थाने में दर्ज कराई गई थी। पुलिस परिजनों की शिकायत पर उसकी तलाश कर रही थी। परिवार को पहले एक आरोपी मोबिन पर शक था कि मोबिन ने मीना के साथ कुछ गलत किया है। परिवार की निशानदेही पर पुलिस ने मोबिन को हिरासत में लेकर सख्त पूछताछ की, जिसके बाद इस पूरे मर्डर केस का खुलासा हुआ।

पूछताछ में आरोपी नवीन ने बताया कि रात एक बजे मोबिन के कमरे में हत्या की घटना को अंजाम दिया गया। इसी बीच, रात में ही उसे नांगलोई कब्रिस्तान में दफना दिया। फिलहाल कब्रिस्तान के केयरटेकर के अलावा इस घटना में तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

मृतक महिला के परिजनों ने बताया कि महिला एक माइक्रो फाइनेंसर थी। वह पश्चिमी दिल्ली में रेहड़ी पटरी वालों को कर्ज देने का कारोबार करती थी। महिला के परिजनों ने बताया कि मीना का फोन लगातार बंद आ रहा था। इसके बाद उन्हें किसी अनहोनी का शक हुआ। तब 7 जनवरी को थाने में एफआईआर दर्ज कराई।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;