पाक में आतंकी ठिकानों पर बमबारी के बाद कश्मीर में वायुसेना की तारीफ, उमर अब्दुल्ला ने कार्रवाई को बताया अहम

राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी ने शुक्रवार को कश्मीर में हिंसा को बढ़ावा देने वाले जम्मू-कश्मीर के लिब्रेशन फ्रंट के मुखिया यासीन मलिक को हिरासत में लिया था। फिलहाल कश्मीर में भारी मात्रा में अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

भारतीय वायुसेना के 12 मिराज 2000 लड़ाकू विमानों ने आतंकी जैश के कई ठिकानों पर बम गिराकर 200 से भी ज्यादा आतंकियों के मार गिराया है। इस कार्यवाई के बाद जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह ने एक बड़ा बयान दिया है। उमर ने ट्वीट करते हुए कहा, “अगर यह हमला बालाकोट के खैबर पख्तुनख्वा में हुआ है, तो वास्तव में यह एक उल्लेखनीय हमला है लेकिन अगर यह बालाकोट का पुंछ वाला इलाका है तो यह व्यापक रूप से एक प्रीकात्मक हमला है क्योंकि साल के इन दिनों में ये आतंकी ठिकाने खाली रहते हैं और इनमें कोई गतिविधि नहीं होती।”

इसके अलावा उमर ने कहा कि अब पकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के पाकिस्तान की जनता से किये, “पाकिस्तान जवाब देने के बारे में सोचने के बजाए जवाब देगा” वाले वादे को लेकर उनकी मुश्किलें बढ़ जाएंगी। उमर ने यह भी कहा, “यह जवाब क्या रूप लेगा और जवाब किस ओर जाएगा? क्या भारत को पाकिस्तान के जवाब का जवाब देना पड़ेगा?”

उधर वायुसेना के हमले के बाद कश्मीर में सख्ती दिखाते हुए NIA ने कश्मीर के कई अलगाव वादियों के घर छापेमारी की है। राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी ने शुक्रवार को कश्मीर में हिंसा को बढ़ावा देने वाले जम्मू कश्मीर के लिब्रेशन फ्रंट के मुखिया यासीन मलिक को हिरासत में लिया था। फिलहाल कश्मीर में भारी मात्र में अर्धसैनिक बालों को तैनात किया गया है। अर्धसैनिक बालों की लगभग 100 कंपनियों को जम्मू-कश्मीर की ओर रवाना कर दिया गया है।

गौरतलब है 14 फरवरी को पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद द्वारा भारतीय अर्धसैनिकों के समूह पर हमले के बाद भारत के 40 जवान शहीद हो गए थे। जम्मू कश्मीर ने पुलवामा हमले के बात ये सख्त कदम उठाया है।

लोकप्रिय