अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: शेयर बाजार में बहार, नए रिकॉर्ड लेवल पर सेंसेक्स-निफ्टी और मारुति सुजुकी ने दिया ग्राहकों को झटका

भारतीय शेयर बाजार में सोमवार को भी रिकॉर्ड स्तर पर चलने का सिलसिला जारी रहा और प्रमुख सूचकांक रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद हुए। मारुति सुजुकी इंडिया ने चुनिंदा मॉडलों की कीमतों में वृद्धि करने की घोषणा की है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

सेंसेक्स नए रिकॉर्ड स्तर पर, आरआईएल 2,400 रुपये/शेयर से ऊपर

भारतीय शेयर बाजार में सोमवार को भी रिकॉर्ड स्तर पर चलने का सिलसिला जारी रहा और प्रमुख सूचकांक रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद हुए। सत्र के दौरान बीएसई सेंसेक्स ने 58,515.85 अंक के एक नए उच्च स्तर को छुआ, और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) पर निफ्टी 50 ने 17,429.55 अंक के अपने रिकॉर्ड उच्च स्तर को छुआ।

इंडेक्स-हैवीवेट रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) ने बाजार में तेजी को समर्थन दिया। बीएसई पर आरआईएल के शेयर 2,424.55 रुपये पर बंद हुए, जो पिछले बंद से 36.30 रुपये या 1.52 प्रतिशत अधिक है। दिन के कारोबार के अंत में, आरआईएल का बाजार पूंजीकरण 15.37 लाख करोड़ रुपये था।

वैश्विक बाजारों में तेजी के रुख से भी दिन के दौरान घरेलू सूचकांकों में तेजी आई। सेंसेक्स 58,296.95 अंक के अपने पिछले बंद से 166.96 अंक या 0.29 प्रतिशत बढ़कर 58,296.91 पर बंद हुआ। यह 58,411.62 पर खुला था और 58,200.29 अंक के इंट्रा-डे लो को छू गया था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 50 अपने पिछले बंद से 54.20 अंक या 0.31 प्रतिशत की बढ़त के साथ 17,377.80 पर बंद हुआ।

भारत की जुलाई-सितंबर जीडीपी वृद्धि 7 से 8 फीसदी रही

फोटो: IANS
फोटो: IANS

भारत की जीडीपी की जुलाई-सितंबर तिमाही में विकास दर 7-8 फीसदी के दायरे में रहने की संभावना है। वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में, भारत की जीडीपी में पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि की तुलना में 20.1 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है।

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (एमओएफएसएल) की इकोस्कोप रिपोर्ट के अनुसार, जुलाई 2021 में आर्थिक गतिविधि सूचकांक-सकल मूल्य वर्धित (ईएआई-जीवीए) की वृद्धि में कुछ कमी आएगी, जिसका मुख्य कारण कमजोर राजकोषीय खर्च है। हालांकि, यह नोट किया गया कि दूसरी ओर निजी खर्च, खपत और निवेश में शालीनता से वृद्धि हुई है।


ओएनजीसी की रिफाइनिंग सहायक एमआरपीएल को एचपीसीएल के साथ विलय में देरी

सरकारी तेल और गैस खोजकर्ता ओएनजीसी की अपनी रिफाइनिंग सहायक कंपनी एमआरपीएल का हाल ही में अधिग्रहित एचपीसीएल के साथ अपने अपस्ट्रीम और डाउनस्ट्रीम परिचालन को दो वर्टिकल में एक साथ आने में देरी हो गई है।

इस प्रक्रिया के अब वित्त वर्ष 24 तक पूरा होने की उम्मीद है क्योंकि ओएनजीसी की एमआरपीएल के आसपास अपने रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल कारोबार को मजबूत करने की योजना में काफी समय लग रहा है।

सूत्रों ने बताया कि ओएनजीसी की दो तेल शोधन अनुषंगियों हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड के विलय की प्रक्रिया शुरू हो गई है। एचपीसीएल और मैंगलोर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड (एमआरपीएल), कंपनी द्वारा ओएनजीसी मैंगलोर पेट्रोकेमिकल लिमिटेड का विलय पूरा करने के बाद ही शुरू किया जाएगा।

फोनपे पल्स ने भारत में डिजिटल भुगतान में दिलचस्प रुझानों का किया खुलासा

फोटो: IANS
फोटो: IANS

भारत के अग्रणी डिजिटल भुगतान प्लेटफॉर्म फोनपे ने सोमवार को फोनपे पल्स लॉन्च किया। यह डिजिटल भुगतान पर डेटा, अंतर्दृष्टि और रुझानों के साथ भारत की पहली इंटरैक्टिव वेबसाइट है। यह वेबसाइट 30 करोड़ से अधिक भारतीयों की डिजिटल लेन-देन की आदतों का विश्लेषण करती है, ताकि यह दिखाया जा सके कि भारत जिला स्तर तक कैसे भुगतान कर रहा है।

डिजिटल भुगतान प्रवृत्तियों पर सटीक और व्यापक डेटा के लिए पल्स भारत का पसंदीदा गंतव्य है। 45 प्रतिशत से अधिक बाजार हिस्सेदारी के साथ, फोनपे का डेटा देश की डिजिटल भुगतान आदतों का प्रतिनिधि है। यह सटीक और बारीक डेटा प्राप्त करने के लिए सरकार, नीति निर्माताओं, मीडिया, उद्योग विश्लेषकों, व्यापारी भागीदारों, विश्वविद्यालयों और छात्रों सहित हितधारकों की एक विस्तृत श्रृंखला के लिए प्रासंगिक है। यह डिजिटल भुगतान की बेहतर समझ और विकास के नए अवसरों में महत्वपूर्ण अंतर्दृष्टि को सक्षम करेगा।


मारुति सुजुकी ने चुनिंदा मॉडलों के दाम बढ़ाए

फोटो: IANS
फोटो: IANS

मारुति सुजुकी इंडिया ने चुनिंदा मॉडलों की कीमतों में वृद्धि करने की घोषणा की है। एक नियामक फाइलिंग में, कंपनी ने इनपुट लागत में वृद्धि के निर्णय को कीमतों में इजाफे के लिए जिम्मेदार ठहराया। कंपनी ने कहा, छह सितंबर से, कंपनी ने विभिन्न इनपुट लागतों में वृद्धि के कारण चुनिंदा मॉडलों के लिए कीमतों में बदलाव की घोषणा की।

चुनिंदा मॉडलों में एक्स-शोरूम कीमतों (दिल्ली) में भारित औसत मूल्य वृद्धि 1.9 प्रतिशत है।
कंपनी ने 30 अगस्त को कहा, पिछले एक साल में विभिन्न इनपुट लागतों में वृद्धि के कारण उसके वाहनों की लागत पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। मूल्य वृद्धि के माध्यम से ग्राहकों को अतिरिक्त लागत के कुछ प्रभाव को पारित करना अनिवार्य हो गया है। सितंबर 2021 में सभी मॉडलों में मूल्य वृद्धि की योजना बनाई गई है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia