अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: अमेजॉन को भारत सहित वैश्विक स्तर पर भारी नुकसान और आम आदमी को थोड़ी राहत, जानें कैसे

आम आदमी को मई के मुकाबले जून में खुदरा महंगाई के मोर्चे पर थोड़ी राहत मिली है। अमेजॉन ऑनलाइन स्टोर को सोमवार को भारत सहित वैश्विक स्तर पर नुकसान का सामना करना पड़ा।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

मारुति ने स्विफ्ट, सीएनजी मॉडल के दाम बढ़ाए

फोटो: IANS
फोटो: IANS

प्रमुख ऑटोमोबाइल कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने सोमवार को हैचबैक स्विफ्ट और सभी सीएनजी वेरिएंट की कीमतों में बदलाव की घोषणा की। एक्स-शोरूम कीमतों (दिल्ली) में 15,000 रुपये तक की बढ़ोतरी की गई है। "नई कीमतें आज यानी 12 जुलाई, 2021 से प्रभावी हैं।" कंपनी के एक बयान में कहा गया है, "अन्य मॉडलों की कीमतों में वृद्धि की योजना जल्द ही बनाई गई है और तदनुसार सूचित किया जाएगा।"

अमेजॉन को भारत सहित वैश्विक स्तर पर भारी नुकसान का सामना करना पड़ा

फोटो: IANS
फोटो: IANS

अमेजॉन ऑनलाइन स्टोर को सोमवार को भारत सहित वैश्विक स्तर पर नुकसान का सामना करना पड़ा, क्योंकि उपयोगकतार्ओं ने जब ऑर्डर देने की कोशिश की, तो वो अपने प्रोडक्ट के पेज तक नहीं पहुंच सके। वेबसाइट आउटेज ट्रैकर डाउनडेटेक्टर के अनुसार, ई-कॉमर्स दिग्गज के ऑनलाइन स्टोर को सोमवार की सुबह करीब 7 बजे दिक्कत का सामना करना पड़ा। जहां 65 फीसदी यूजर्स ने वेबसाइट खोलने में समस्या बताई, वहीं 23 फीसदी ने लॉग-इन और 12 फीसदी ने चेक-आउट की समस्या बताई। अमेजॉन ने कहा कि कंपनी इस मुद्दे को सुलझाने के लिए काम कर रही है।


आम आदमी को थोड़ी राहत, जून में खुदरा महंगाई दर गिरकर हुई 6.26 फीसदी

आम आदमी को मई के मुकाबले जून में खुदरा महंगाई के मोर्चे पर थोड़ी राहत मिली है। जून खुदरा महंगाई दर घटकर 6.26 फीसदी हो गई है। जबकि इससे एक महीने पहले मई में खुदरा महंगाई दर 6.30 फीसदी रही थी।

वहीं मई के महीने में भारत इंडस्ट्रियल आउटपुट यानी IIP में सालाना आधार पर 29.27 फीसदी की तेजी दर्ज की गई। हालांकि जून में खाद्य महंगाई दर में थोड़ी बढ़ोतरी हुई है। मई में खाद्य महंगाई दर 5.01 फीसदी थी, जो जून में बढ़कर 5.15 फीसदी हो गई है। मई के मुकाबले जून में खाने-पीने की चीजें महंगी हुईं। जून में खुदरा महंगाई दर 6 फीसदी से ऊपर रहने के पीछे महंगे पेट्रोल-डीजल एक बड़े कारण हैं।

पेट्रोल के दाम और बढ़े, 3 महीने में पहली बार डीजल के रेट में कटौती

फोटो: IANS
फोटो: IANS

वैश्विक संकेतों की वजह से सोमवार को देश भर में ईंधन की कीमतों में फिर से बढ़ोतरी हुई जिससे आम आदमी पर बोझ और बढ़ गया। हालांकि, तेल विपणन कंपनियों ने सोमवार को पेट्रोल की कीमत बढ़ाने के लिए दो महीने से अधिक समय पहले अपनाई गई अपनी प्रथा को जारी रखा, लेकिन तीन महीने के करीब पहली बार डीजल की कीमतों में कमी की।

इस हिसाब से जहां दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 28 पैसे बढ़कर 101.19 रुपये प्रति लीटर हो गई, वहीं दिल्ली में डीजल 16 पैसे प्रति लीटर घटकर 89.72 रुपये प्रति लीटर हो गई।

देश भर में भी पेट्रोल की कीमतों में 25-35 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई, डीजल की कीमतों में 15-20 पैसे प्रति लीटर की कमी आई।


डॉलर के कमजोर सूचकांक के बीच रुपया मजबूत होकर 74.44 प्रति डॉलर पर पहुंचा

फोटो: IANS
फोटो: IANS

डॉलर इंडेक्स में कुछ नरमी के बीच सोमवार सुबह भारतीय रुपया मजबूत हुआ है। सुबह करीब 11.20 बजे रुपया 74.44 प्रति डॉलर पर कारोबार कर रहा था, जो पिछले बंद 74.63 प्रति ग्रीनबैक से 19 पैसे की मजबूती के साथ आगे बढ़ा।

फिनरेक्स ट्रेजरी एडवाइजर्स के ट्रेजरी के प्रमुख अनिल कुमार भंसाली ने कहा, "जोमैटो आईपीओ से प्रवाह बाजार में आना शुरू हो जाना चाहिए क्योंकि आरबीआई द्वारा ²ढ़ता से सुनिश्चित किए जाने के बाद डॉलर में ढील दी गई है कि यह 74.80 ऊपर की तरफ नहीं है। दिन के लिए रेंज 74.30 से 74.70 तक है। आयातकों को निकट अवधि के आयात के लिए निचले सिरे के पास खरीदना होगा।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia