मोदी सरकार के बजट के बाद बाजार की बदहाली जारी, शेयर बाजार खुलते ही निफ्टी और सेंसेक्स धड़ाम

आम बजट पेश होने के बाद से ही शेयर बाजार में लगातार भारी गिरावट देखी जा रही है। मंगलवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 150 से अधिक अंकों की गिरावट के साथ कारोबार कर रहा था। बीएसई का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स आज 33.9 अंको की बढ़त के साथ 38,754.47 पर खुला, लेकिन इसमें बाद में भारी गिरावट देखी गई।

फोटो: आईएएनएस<a href="http://ianshindi.com/index.php"></a>
फोटो: आईएएनएस<a href="http://ianshindi.com/index.php"></a>

आईएएनएस

घरेलू शेयर बाजार में मंगलवार को लगातार तीसरे दिन गिरावट का दौर जारी रहा। शुरुआती कारोबार के दौरान बीएसई का प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 250 अंक से ज्यादा लुढ़का और निफ्टी भी 80 अंकों से ज्यादा फिसलकर 11,500 के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे गिर गया।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 9.31 बजे पिछले सत्र से 141.41 अंकों यानी 0.37 फीसदी लुढ़ककर 38579.16 पर कारोबार कर रहा था। इससे पहले सेंसेक्स 250 अंक से ज्यादा लुढ़क कर 38,466.74 पर आ गया। हालांकि सत्र के आरंभ में सेंसेक्स पिछले सत्र के मुकाबले मजबूती के साथ 38,754.47 पर खुला।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी 45.45 अंकों यानी 0.39 फीसदी की भारी गिरावट के साथ 11,513.15 पर कारोबार कर रहा था। इससे पहले निफ्टी पिछले सत्र की क्लोजिंग से नीचे 11,531.60 पर खुला और 11,533.90 तक उठा मगर, जल्द ही बाजार में बिकवाली आने से यह 80 अंक से ज्यादा गिरकर 11,477.65 पर आ गया।

बाजार के जानकार बताते हैं कि विदेशी बाजार से मिले कमजोर संकेतों और पिछले सप्ताह देश में पेश हुए आम बजट 2019-20 में शेयरों के बायबैक पर कर लगाने और दौलतमंद करोड़पतियों पर सरचार्ज लगाने से विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों का मनोबल टूटने से घरेलू शेयर बाजार में कमजोरी देखी जा रही है। उधर, शेयर बाजार में एफपीआई की बिकवाली बढ़ने से घरेलू मुद्रा रुपया भी डॉलर के मुकाबले कमजोर हुआ है।

इससे पहले घरेलू शेयर बाजार में सोमवार को बिकवाली के भारी दबाव में सेंसेक्स बीते सत्र की क्लोजिंग से 792.82 अंकों यानी 2.01 फीसदी गिरावट के साथ 38,720.57 पर बंद हुआ था। निफ्टी भी 252.55 अंकों यानी 2.14 फीसदी गिरावट के साथ 11,558.60 पर बंद हुआ था। बता दें कि पिछले दो दिनों में निवेशकों के 5 लाख करोड़ रुपये से ज्‍यादा डूब गए हैं।

इसे भी पढ़ें: शेयर बाजारों को रास नहीं आया बजट, दो दिन मे डूब गए निवेशकों के 5 लाख करोड़

Published: 9 Jul 2019, 10:51 AM
लोकप्रिय