अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: सऊदी अरामको को पछाड़ ऐप्पल बनी दुनिया की सबसे महंगी कंपनी और टिकटॉक को खरीदेगी ये कंपनी

ऐप्पल अब सऊदी अरब की तेल कम्पनी- साउदी अरामको को पछाड़ दुनिया की सबसे महंगी कंपनी बन गई है। शॉर्ट वीडियो शेयरिंग एप टिकटॉक कथित तौर पर अपने अमेरिकी बिजनेस को माइक्रोसॉफ्ट को बेचने के लिए कंपनी के साथ बातचीत कर रहा है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

सऊदी अरामको को पछाड़ ऐप्पल बनी दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी

महामारी के बावजूद साल की शुरूआत में बेहतर नतीजे के साथ आने के बाद टेक जाएंट-ऐप्पल अब सऊदी अरब की तेल कम्पनी- साउदी अरामको पछाड़ दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी की सूची में पहले पायदान पर है, जिसकी बाजार पूंजी 184,000 करोड़ डॉलर है। सीएनबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, बेहतर कारोबार के साथ ऐप्पल के शेयरों में शुक्रवार तक 10.47 फीसदी उछाल आया है और इसी के साथ दुनिया की सबसे बड़ी तेल कंपनी को पीछे करते हुए ऐप्पल सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाली दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी बन गई है।सऊदी अरामको की बाजार पूंजी फिलहाल 176,000 करोड़ डॉलर है।

महामारी के चलते ऐप्पल की आपूर्ति श्रृंखला प्रभावित हुई थी और इसके चलते आईफोन निर्माण कंपनी को दुनियाभर में अपने सारे रिटेल स्टोर्स भी बंद रखने पड़े लेकिन इन सबके बावजूद कंपनी के शेयरों में इस साल 44 फीसदी तक की बढ़त रही।

माइक्रोसॉफ्ट टिकटॉक के अमेरिकी कारोबार को खरीदने की प्रक्रिया में : रिपोर्ट

शॉर्ट वीडियो शेयरिंग एप टिकटॉक कथित तौर पर अपने अमेरिकी बिजनेस को माइक्रोसॉफ्ट को बेचने के लिए कंपनी के साथ बातचीत कर रहा है। द वॉल स्ट्रीट जर्नल ने इस वार्ता के जानकार लोगों के हवाले से बताया कि वार्ता पूरी होने के करीब है। यह डील माइक्रोसॉफ्ट को सोशल मीडिया स्पेस में एक बड़ा खिलाड़ी बना सकता है क्योंकि टिकटॉक युवाओं में बेहद लोकप्रिय है। लेकिन चीन के यूनिकॉर्न बाइटडांस के स्वामित्व वाले एप को अमेरिका में काफी जांच, निगरानी का सामना करना पड़ रहा है, खासकर जून में भारत में प्रतिबंधित किए जाने के बाद।

समाचार पत्र द हिल की एक रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को आपातकालीन आर्थिक शक्तियों या कार्यकारी आदेश का उपयोग करते हुए शुक्रवार को अमेरिका में टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने की अपनी योजना का खुलासा किया। एप भारत में पहले से ही प्रतिबंधित है।

फेसबुक ने अपने प्लेटफार्म पर लांच किया आधिकारिक म्यूजिक वीडियो

फेसबुक ने शनिवार को भारत में अपने मुख्य प्लेटफॉर्म पर आधिकारिक म्यूजिकल वीडियो को पेश किया है। सोशल मीडिया पर लोग अपने फेवरेट कंटेंट को फेसबुक वाच पर देख सकेंगे। सोशल नेटवर्क साइट ने कहा कि भारत में यजर्स टी-सीरीज म्यूजिक, जी म्यूजिक कंपनी और यश राज फिल्म्स को इस प्लेटफॉर्म पर देख सकेंगे। कंपनी के अनुसार, यूजर्स प्लेटफार्म पर नए से लेकर पुराने हर तरह के गाने सुन पाएंगे।

फेसबुक इंडिया ने अपने बयान में कहा, "हम भारतीय म्यूजिक इंडस्ट्री के साथ म्यूजिक वीडियो के एक्सपीरियंस के लिए काम कर रहे हैं और हम इस मंच पर आधिकारिक म्यूजिक को लांच कर रोमांचित हैं।" कंपनी ने खुलासा करते हुए कहा कि फेसबुक पर म्यूजिक वीडियो यूजर्स के लिए केवल वीडियो देखने के एक्सपीरिंयस को बदल देगा।

जुलाई में मारुति सुजुकी की कुल बिक्री 1.1 फीसदी घटी

ऑटोमोबाइल क्षेत्र की प्रमुख कंपनी मारुति सुजुकी की जुलाई में कुल बिक्री 1.1 फीसदी घटकर 1,08,064 वाहनों की रह गई है, जबकि पिछले साल की समान अवधि में कंपनी ने 1,09,264 वाहन बेचे थे। कंपनी ने शनिवार को एक बयान में कहा कि उसकी कुल बिक्री में घरेलू बाजार में 100,000 यूनिट ऑफ-टेक और 1,307 यूनिट अन्य ओईएम शामिल हैं।

कंपनी के बयान के अनुसार, समीक्षाधीन अवधि में निर्यात जुलाई 2019 में 9,258 यूनिट से 6,757 यूनिट ही रह गया है। कंपनी ने कहा, मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड ने जुलाई 2020 में कुल 108,064 यूनिट्स की बिक्री की। इसमें जून 2020 के मुकाबले 88.2 प्रतिशत की वृद्धि और जुलाई 2019 के मुकाबले 1.1 प्रतिशत की गिरावट है।

कंपनी ने कहा, इसमें घरेलू बाजार में 100,000 यूनिट्स और अन्य ओईएम के लिए 1,307 यूनिट्स की बिक्री शामिल है। इसके अलावा कंपनी ने जुलाई 2020 में 6,757 यूनिट्स का निर्यात किया है।

घरेलू शेयर बाजार पर कोरोना का साया, 6 सप्ताह की तेजी पर लगा ब्रेक

घरेलू शेयर बाजार में बीते छह सप्ताह से लगातार जारी तेजी पर इस सप्ताह ब्रेक लग गया। कोरोना के गहराते कहर और विदेशी बाजारों से मिले कमजोर रुझानों से इस सप्ताह घरेलू शेयर बाजार में मुनाफावसूली हावी होने से प्रमुख शेयर संवेदी सूचकांकों में बीते सप्ताह के मुकाबले एक फीसदी से ज्यादा की गिरावट की गिरावट दर्ज की गई। शेयर बाजार में पूरे सप्ताह उतार-चढ़ाव का दौर जारी रहा और पांच में से चार सत्रों में कारोबारी रुझान कमजोर रहने के कारण गिरावट रही जबकि एक सत्र में सेंसेक्स और निफ्टी बढ़त के साथ बंद हुए।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सप्ताह के मुकाबले 522.01 अंकों यानी 1.37 फीसदी टूटकर 37,606.89 पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी भी पिछले सप्ताह की क्लोजिंग से 120.70 अंकों यानी 1.08 फीसदी की कमजोरी के साथ 11,073.45 पर ठहरा।

बीएसई मिडकैप सूचकांक हालांकि बीते सप्ताह के मुकाबले 56.56 अंकों यानी 0.41 फीसदी की बढ़त के साथ 13,759.11 पर बंद हुआ और स्मॉलकैप सूचकांक भी 55.21 अंकों यानी 0.43 फीसदी की मजबूती के साथ 13,021.76 पर टिका।

कारोबारी सप्ताह की शुरुआत कमजोरी के साथ हुई और सोमवार को सेंसेक्स पिछले सत्र से 194.17 अंकों यानी 0.51 फीसदी फिसलकर 37,934.73 पर बंद हुआ जबकि निफ्टी पिछले सत्र से 62.35 अंकों यानी 0.56 फीसदी की कमजोरी के साथ 11,131.80 पर ठहरा।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय
next