वैश्विक मंदी की आहट और छंटनी के बीच एप्पल के सीईओ बोले- बड़े पैमाने पर छंटनी के बारे में अभी नहीं सोच रहे

कुक ने बताया कि वह छंटनी को अंतिम उपाय के रूप में देखते है और बड़े पैमाने पर छंटनी के बारे में अभी नहीं सोचा जा रहा है। उन्होंने कहा कि कंपनी भर्ती पर बेहद सावधानी बरत रही है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

वैश्विक मंदी के कारण टेक्नोलॉजी क्षेत्र की कंपनियों में जारी छंटनी के बीच एप्पल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) टिम कुक ने कहा है कि बड़े पैमाने पर छंटनी उनके लिए एक 'अंतिम उपाय' है। हालांकि एप्पल ने भी लागत कम करने के कमद उठाए हैं और भर्ती कम कर दी है।

कुक ने सीएनबीसी को बताया कि वह छंटनी को अंतिम उपाय के रूप में देखते है और बड़े पैमाने पर छंटनी के बारे में अभी नहीं सोचा जा रहा है। उन्होंने कहा कि कंपनी भर्ती पर बेहद सावधानी बरत रही है।

एप्पल के सीईओ ने कहा, हमने भर्ती जारी रखी है, लेकिन पहले की तुलना में निचले स्तर पर। हम खर्च कम करने की हर चुनौती का सामना करते हुए काम कर रहे हैं और बचत के कुछ और तरीके खोज रहे हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, एप्पल ने अप्रैल की शुरुआत में अपने कॉर्पोरेट रिटेल डिवीजन में कम संख्या में कर्मचारियों की छंटनी की। कंपनी ने कथित तौर पर बोनस में देरी की है। महामारी के दौरान अन्य तकनीकी दिग्गजों ने जिस तरह से काम किया, एप्पल ने उस तरह काम नहीं किया और यही कारण है कि कंपनी पर कर्मचारियों की छंटनी का उतना दबाव नहीं है।


एप्पल ने अपनी मार्च तिमाही के लिए 94.8 अरब डॉलर का रिकॉर्ड राजस्व अर्जित किया, जो उम्मीदों से बेहतर था। कंपनी ने मार्च तिमाही में 51.3 अरब डॉलर के आईफोन बेचे जो कंपनी के लिए एक रिकॉर्ड है। एप्पल सर्विस ने मार्च तिमाही के लिए 20.9 बिलियन डॉलर राजस्व के साथ सर्वकालिक रिकॉर्ड भी स्थापित किया।

कुक ने बताया, हमने ऐप स्टोर, ऐप्पल म्यूजिक, आईक्लाउड और भुगतान सेवाओं में अब तक का राजस्व रिकॉर्ड हासिल किया है। और अब, 97.5 करोड़ से अधिक पेड सब्सक्रिप्शन के साथ, हम अपनी सेवाओं के साथ और भी अधिक लोगों तक पहुंच रहे हैं।

एप्पल मैक ने कंपनी की अपेक्षाओं के अनुरूप 7.2 अरब डॉलर का राजस्व दर्ज किया और आईपैड का राजस्व 6.7 अरब डॉलर था। वियरेबल्स, होम और एसेसरीज में राजस्व 8.8 अरब डॉलर था।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;