अर्थजगत की 5 बड़ी खबरें: 1 जनवरी से सीज हो सकता है आपका बैंक खाता! और दिल्ली में फ्लाइट पर नहीं पड़ा कोहरे का असर

अगर आपने अभी तक अपने बैंक में केवाईसी नहीं कराया है तो 1 जनवरी, 2022 से आपका खाता सीज कर दिया जाएगा और कोहरे के बावजूद शनिवार सुबह दिल्ली हवाईअड्डे पर उड़ान संचालन सामान्य रहा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

अगर आपने भी नहीं किया अपने बैंक खाते से जुड़ा ये काम तो 1 जनवरी से सीज हो सकता है आपका खाता

अगर आपने अभी तक अपने बैंक में केवाईसी नहीं कराया है तो 1 जनवरी, 2022 से आपका खाता सीज कर दिया जाएगा। जिसके बाद आप अपने बैंक खाते से जुड़ा कोई भी लेनदेन नहीं कर पाएंगे। देश के सभी बैंकों के साथ-साथ अन्य वित्तीय संस्थान भी केवाईसी नहीं कराने वाले ग्राहकों को झटका देने वाले हैं। बताते चलें कि केवाईसी के तहत ग्राहकों को अपने पहचान और एड्रेस का प्रमाण देना होता है भारतीय रिजर्व बैंक ऐसे सभी ग्राहकों या खाताधारकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने जा रहा है, जिन्होंने 31 दिसंबर, 2021 तक अपना केवाईसी नहीं कराया होगा। ताते चलें कि केवाईसी की जरूरत सिर्फ बैंकिंग में ही नहीं बल्कि पैसों के लेनदेन और आवश्यक सेवाओं से जुड़ी सभी सेवाओं में पड़ती है। जानकारों के मुताबिक बैंकों को जिन खातों में कम जोखिम लगता है वे उन्हें 10 साल में एक बार केवाईसी अपडेट कराने की सलाह देते हैं, जबकि ज्यादा जोखिम वाले खाताधारकों को हर दो साल में केवाईसी कराने लिए कहा जाता है। बता दें कि जिन डॉरमेट हो चुके बैंक खातों और लंबे समय से Inactive बैंक खातों को दोबारा Active कराने के लिए भी केवाईसी अपडेट कराने की जरूरत पड़ती है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

प्रतिबंधित कंटेंट को हटाने में विफल रहने के लिए रूस ने गूगल, मेटा पर लगाया जुर्माना

एक रूसी अदालत ने देश में अवैध मानी जाने वाले कंटेंट को हटाने में कथित विफलता के लिए गूगल पर 98 मिलियन डॉलर का जुर्माना लगाया है। मॉस्को की एक अदालत ने देश के कानून द्वारा प्रतिबंधित कंटेंट को हटाने में विफल रहने पर मेटा (पूर्व में फेसबुक) पर 27 मिलियन डॉलर का जुर्माना भी लगाया। रूसी समाचार सेवा इंटरफैक्स ने बताया कि न्यायाधीश ने फेडरल सर्विस फॉर सुपरविजन ऑफ कम्युनिकेशंस, इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एंड मास मीडिया (रोसकोम्नाडजोर) द्वारा प्रदान की गई गूगल की वार्षिक आय के बारे में जानकारी के आधार पर जुर्माना राशि की गणना की।

इंटरफैक्स ने शुक्रवार को देर से कहा कि प्रशासनिक अपराध के कैलेंडर वर्ष से पहले के कैलेंडर वर्ष में बैनर कंटेंट को हटाने का अपराध कुल राजस्व के 5 प्रतिशत से 10 प्रतिशत के जुर्माने के साथ दंडनीय है। गूगल और मेटा पर जुर्माना तब लगा जब रूस ने बड़ी टेक फर्मों और लोगों द्वारा अपने डिजिटल प्लेटफॉर्म पर प्रकाशित कंटेंट पर अधिक नियंत्रण कर लिया है। गूगल ने एक बयान में द वर्ज को बताया कि वह 'अदालत के दस्तावेजों का अध्ययन करेगा जब वे उपलब्ध होंगे और फिर अगले चरणों पर निर्णय लेगा।' इस सप्ताह की शुरूआत में, प्रतिबंधित कंटेंट को ठीक करने में विफल रहने के लिए ट्विटर पर 3 मिलियन रूबल (40,000 डॉलर) का जुर्माना भी लगाया गया था। रोसकोम्नाडजोर के अनुसार, फेसबुक और इंस्टाग्राम 2,000 कंटेंट को हटाने में विफल रहे हैं और गूगल ऐसी लगभग 2,600 कंटेंट को ठीक करने में विफल रहा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

'भारत से चीन को इंजीनियरिंग सामान का निर्यात नवंबर में दोगुना हुआ'

भारत से चीन के लिए इंजीनियरिंग सामान का निर्यात इस साल नवंबर में बढ़कर 43।46 करोड़ डॉलर हो गया है। यह जानकारी इंजीनियरिंग एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल इंडिया ने शुक्रवार को दी। काउंसिल ने कहा कि नवंबर 2020 में ऐसे सामानों का निर्यात 20।53 करोड़ डॉलर था। हालांकि, अमेरिका 36 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज करते हुए, इस महीने के दौरान 1,19।6 करोड़ डॉलर में भारतीय इंजीनियरिंग सामान का शीर्ष खरीदार बना रहा। ईईपीसी ने आगे कहा कि यह ध्यान रखना जरूरी है कि 4 महीनों के लगातार लगभग 9 अरब डॉलर तक पहुंचने के बाद, नवंबर में कुल इंजीनियरिंग निर्यात की मात्रा घटकर लगभग 7।7 बिलियन डॉलर हो गई।

ईईपीसी इंडिया के अध्यक्ष महेश देसाई ने कहा, "मंदी से संकेत मिलता है कि निर्यातकों को दुनिया की मांग में अस्थिरता और महामारी के बारे में अनिश्चितता का सामना करना पड़ रहा है जो नए वेरिएंट ओमिक्रॉन की वजह से हुआ है। दुनिया भर के विशेषज्ञों ने पहले ही अनुमान लगाया है कि वैश्विक व्यापार वृद्धि उल्लेखनीय है।" "इस स्थिति में निर्यातकों को देश के पूर्ण समर्थन की आवश्यकता है ताकि वे आगामी अनिश्चितताओं के दौरान भी प्रतिस्पर्धी बने रहें।" ईईपीसी ने केंद्र से आग्रह किया कि बढ़ती मुद्रास्फीति, कच्चे माल की बढ़ती कीमतों के साथ-साथ लॉजिस्टिक मुद्दों, कंटेनरों की कमी जैसे मामलों को तत्काल देखा जाए।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

जीएमआर विमानन शाखा ने इंडोनेशिया में किया प्रवेश

जीएमआर एयरपोर्ट्स नीदरलैंड्स, जीएमआर एयरपोर्ट्स की एक स्टेप-डाउन सब्सिडियरी ने इंडोनेशिया के मेदान में कुआलानामु इंटरनेशनल एयरपोर्ट के संचालन के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। जीएमआर ग्रुप ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, कंपनी ने गुरुवार को अंगकासा पुरा (एपी 2), राज्य के स्वामित्व वाले उद्यम और हवाई अड्डे के लिए बोली लगाने वाले प्राधिकरण के साथ इन समझौतों में प्रवेश किया। उसी दिन, कंपनी को परियोजना के लिए पुरस्कार का पत्र मिला। समझौते पर हस्ताक्षर के साथ ही जीएमआर ने एपी 2 के साथ 49:51 प्रतिशत की साझेदारी की। जीएमआर ने कहा कि वह हवाई अड्डे को इंडोनेशिया के पश्चिमी अंतर्राष्ट्रीय केंद्र में बदल देगा। उन्होंने आगे कहा, "इस परियोजना के दायरे में 25 सालों की अवधि में हवाई अड्डे का संचालन, विकास और विस्तार शामिल है। कुआलानामु अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा स्वस्थ नकदी प्रवाह के साथ एक परिचालन हवाई अड्डा है।" मेदान इंडोनेशिया का चौथा सबसे बड़ा शहरी क्षेत्र है और 34 लाख से ज्यादा की आबादी के साथ उत्तरी सुमात्रा प्रांत की राजधानी है। जीएमआर समूह के अध्यक्ष, ऊर्जा और अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के श्रीनिवास बोम्मिडाला ने कहा, अंगकासा पुरा 2 (एपी 2) के साथ हमारी साझेदारी इंडोनेशियाई सरकार और अधिकारियों द्वारा हम पर रखे गए भरोसे का प्रमाण है। हम आसियान के इस खूबसूरत और रणनीतिक देश में अपना सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास करेंगे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

दिल्ली में कम दृश्यता के बावजूद उड़ान संचालन सामान्य

कोहरे के कारण कम ²श्यता के बावजूद शनिवार सुबह दिल्ली हवाईअड्डे पर उड़ान संचालन सामान्य रहा। दिल्ली हवाईअड्डे ने एक यात्री परामर्श में कहा, "दिल्ली हवाईअड्डे पर कम दृश्यता प्रकियाएं प्रगति में हैं। सभी उड़ानें फिलहाल सामान्य हैं।" कम दृश्यता प्रक्रियाएं कम दृश्यता या कम क्लाउड बेस की अवधि के दौरान विमान के सुरक्षित संचालन को सुनिश्चित करने के लिए की जाने वाली क्रियाएं हैं। हवाईअड्डा अधिकारियों ने आगे सभी यात्रियों से अपडेट उड़ान जानकारी के लिए संबंधित एयरलाइन से संपर्क करने का अनुरोध किया। भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, सुबह रनवे पर दृश्यता कम थी।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia