अर्थजगत: बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने ग्राहकों को दिया तोहफा और गेल ने LPG आयात के लिए विटोल से किया 10 साल का समझौता

पब्लिक सेक्टर के बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने अपनी होम लोन रेट में 15 बेसिस प्वाइंट्स यानी 0.15 फीसदी की कटौती कर दी है और गेल ने एलएनजी के आयात के लिए विटोल के साथ 10 साल का समझौता किया है।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया 
user

नवजीवन डेस्क

बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने ग्राहकों को दिया तोहफा, होम लोन दर घटाई

पब्लिक सेक्टर के बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने अपनी होम लोन रेट में 15 बेसिस प्वाइंट्स यानी 0.15 फीसदी की कटौती कर दी है। बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने एक बयान में कहा कि होम लोन के लिए प्रोसेसिंग फीस भी माफ कर दी है। बैंक ने कहा कि कम ब्याज दर और होम लोन में प्रोसेसिंग फीस की छूट का दोहरा लाभ अपने सभी ग्राहकों को बेहतर फाइनेंसिंग सॉल्यूशन प्रदान करने और उनकी जरूरतों को पूरा करने में मदद करने की बैंक की प्रतिबद्धता का प्रमाण है। मौजूदा उच्च ब्याज दर परिदृश्य में बैंक ग्राहकों के लिए चीजें सुगम बनाने को लेकर खुदरा कर्ज सस्ता कर रहा है।

बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट के मुताबिक, बैंक अभी 8.35 फीसदी के ब्याज दर पर हाउसिंग लोन ऑफर कर रहा है। इसके साथ महिलाओं और डिफेंस कर्मचारियों को 0.05 फीसदी की छूट भी मिलेगी। अधिकतम अवधि 30 साल तक की है और अधिकतम 75 साल की उम्र वाले लोन की सुविधा ले सकते हैं। बैंक का दावा है कि वह भारत में होम लोन पर सबसे कम ब्याज लेने वाला बैंक है।

गेल ने एलएनजी के आयात के लिए विटोल के साथ किया 10 साल का समझौता

गेल (इंडिया) लिमिटेड और विटोल एशिया पीटीई लिमिटेड ने शुक्रवार को से 2026 भारत में प्रति वर्ष लगभग 10 लाख मीट्रिक टन एलएनजी की आपूर्ति के लिए दीर्घकालिक तरलीकृत प्राकृतिक गैस (एलएनजी) सौदे पर हस्ताक्षर करने की घोषणा की। इस सौदे के तहत, विटोल अपने वैश्विक एलएनजी पोर्टफोलियो से अखिल भारतीय आधार पर गेल को एलएनजी वितरित करेगा। गेल के सीएमडी संदीप कुमार गुप्ता ने कहा: "गेल द्वारा विटोल के साथ यह दीर्घकालिक एलएनजी सौदा इसके बड़े एलएनजी पोर्टफोलियो को बढ़ाएगा और देश की प्राकृतिक गैस की मांग और आपूर्ति के अंतर को पाटने में योगदान देगा"।

विटोल के सीईओ रसेल हार्डी ने कहा: "हमें विटोल और गेल के बीच मौजूदा संबंधों को आगे बढ़ाने और इस दीर्घकालिक एलएनजी आपूर्ति सौदे को एक साथ पूरा करने पर खुशी है। भारत एक महत्वपूर्ण और बढ़ता हुआ एलएनजी बाजार है और हम भारत में प्राकृतिक गैस की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए अपने वैश्विक एलएनजी पोर्टफोलियो से एलएनजी आपूर्ति लाने के लिए उत्साहित हैं। गेल के निदेशक (विपणन) संजय कुमार ने कहा कि गेल यह सौदा कर रहा है क्योंकि देश में प्राकृतिक गैस की मांग समेकित हो रही है और यह एलएनजी गठजोड़ के कई अर्थ हैं। गेल लंबे समय से विभिन्न एलएनजी आपूर्तिकर्ताओं के साथ सौदे.कर रहा है।

गेल, जो पूरे भारत में 16 हजार किमी से अधिक प्राकृतिक गैस पाइपलाइनों के नेटवर्क का मालिक है और उसका संचालन करता है, प्रसार को और बढ़ाने के लिए कई पाइपलाइन परियोजनाओं के निष्पादन पर एक साथ काम कर रहा है। कंपनी गैस ट्रांसमिशन में लगभग 70 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी रखती है और भारत में गैस ट्रेडिंग हिस्सेदारी 50 प्रतिशत से अधिक है।


फिनटेक यूनिकॉर्न मोबिक्विक ने 700 करोड़ रुपये जुटाने के लिए फिर से आईपीओ के लिए किया आवेदन

फिनटेक यूनिकॉर्न मोबिक्विक ने शेयरों के नए इश्यू के जरिए इस बार 700 करोड़ रुपये जुटाने के अपने दूसरे प्रयास में शुक्रवार को बाजार नियामक सेबी के पास अपना ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीआरएचपी) दाखिल किया डीआरएचपी बिना किसी ऑफर-फॉर-सेल (ओएफएस) घटक के आता है, लेकिन कंपनी का लक्ष्य प्री-आईपीओ दौर में 140 करोड़ रुपये जुटाने का है। प्रॉस्पेक्टस के अनुसार, 2009 में बिपिन प्रीत सिंह और उपासना ताकू द्वारा स्थापित कंपनी की आईपीओ में किसी भी मौजूदा शेयर को बेचने की योजना नहीं है। 2021 में, पीक एक्‍सवी, अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी और अमेरिकन एक्सप्रेस द्वारा समर्थित मोबिक्विक ने नए और मौजूदा शेयरों की बिक्री के माध्यम से लगभग 250 मिलियन डॉलर जुटाने के लिए आईपीओ के लिए आवेदन किया था, लेक‍िन इसने वैश्विक मंदी और बिगड़ती स्थिति के बीच आईपीओ योजनाओं को बाधित कर दिया।

डिजिटल बैंकिंग प्लेटफॉर्म ने इस साल अक्टूबर में चालू वित्त वर्ष 2024 की दूसरी तिमाही के लिए अपने वित्तीय नतीजे (अनऑडिटेड) जारी किए, इसमें वित्त वर्ष 23 की इसी अवधि की तुलना में राजस्व में 52 प्रतिशत की वृद्धि और पीएटी लाभप्रदता की लगातार दूसरी तिमाही है। जुलाई-सितंबर तिमाही में राजस्व 208 करोड़ रुपये रहा, जो उसी वित्तीय वर्ष की पिछली तिमाही की तुलना में 17 प्रतिशत की वृद्धि है, इसमें 5 करोड़ रुपये का कर पश्चात लाभ (पीएटी) है। वित्त वर्ष 2013 में पहली छमाही की तुलना में राजस्व में 58 प्रतिशत की वृद्धि के साथ, मोबिक्विक ने वित्त वर्ष 2014 की पहली छमाही में 8 करोड़ रुपये के पीएटी के साथ अपना राजस्व 385 करोड़ रुपये तक बढ़ा दिया।

शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन तेजी, ₹99,000 करोड़ बढ़ी निवेशकों की संपत्ति

भारतीय शेयर बाजार शुक्रवार 5 जनवरी को लगातार दूसरे दिन तेजी के साथ बंद हुए। सेंसेक्स 163 अंक बढ़कर बंद हुआ। वहीं निफ्टी उछलकर 21,700 के पार चला गया। इसके चलते आज दिन भर में निवेशकों को करीब 99,000 करोड़ रुपये का फायदा हुआ। आज के कारोबार में सबसे अधिक तेजी आईटी, कैपिटल गुड्स और इंडस्ट्रियल शेयरों में देखने को मिली। वहीं दूसरी ओर कमोडिटी, फार्मा और मेटल शेयरों के इंडेक्स गिरावट के साथ बंद हुए।सब्रॉडर मार्केट भी बढ़त के साथ बंद हुए। बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप इंडेक्स में क्रमश: 0.19% और 0.61% की तेजी रही। बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन आज 5 जनवरी को बढ़कर 369.31 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया, जो इसके पिछले कारोबारी दिन यानी गुरुवार 4 जनवरी को 368.32 लाख करोड़ रुपये था। इस तरह BSE में लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप आज करीब 99,000 करोड़ रुपये बढ़ा है। या दूसरे शब्दों में कहें तो निवेशकों की वेल्थ में करीब 99,000 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है।


इंटरनेशनल फिल्म सिटी परियोजना की टेक्निकल बिड में देश-विदेश की चार कंपनियों की मिली बिड

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट फिल्म सिटी की टेक्निकल बिड शुक्रवार को खोली गई। इसमें देश और विदेश की चार कंपनियों ने अपनी बिड लगाई है। जल्द ही इसकी फाइनेंसियल बिड खोली जाएगी, तब पता चलेगा कि किस कंपनी को 230 एकड़ में फिल्म सिटी के प्रथम चरण के निर्माण का कार्य सौंपा जाएगा। यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण की अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म सिटी परियोजना में शुक्रवार को बिड जमा करने की अंतिम तिथि थी। दोपहर 3:00 बजे टेक्निकल बिड प्राधिकरण कार्यालय में खोली गई।

इस अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म सिटी परियोजना के लिए 4 बिड प्राप्त हुई हैं, जिनमें 1. सुपरसोनिक टेक्नोबिड प्राइवेट लिमिटेड (मैड्डॉक फिल्म्स, केप ऑफ गॉड फिल्म्स एलएलपी एंड अदर), 2. बेवियू प्रोजेक्ट्स एलएलपी (बोनी कपूर एंड अदर), 3 सुपर कैसेट्स इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड (टी सीरीज), 4. फोर लायंस फिल्म्स प्राइवेट लिमिटेड (केसी बोकाडिया एंड अदर) कंपनियों की बिड खोली गई। गौरतलब है कि यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण द्वारा अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म सिटी परियोजना की स्थापना के लिए 30 सितंबर 2023 को अंतर्राष्ट्रीय बिड जारी की गई थी। बिड जमा करने की अंतिम तिथि 5 जनवरी 2024 को दोपहर 2.30 बजे तक थी।

प्राधिकरण के सेक्टर 21 में स्थापित की जा रही फिल्म सिटी परियोजना का कुल एरिया 1,000 एकड़ का है तथा इसके प्रथम चरण में 230 एकड़ में फ़िल्म सिटी स्थापित की जा रही है। यमुना अथॉरिटी को प्राप्त चारों बिड्स का अब प्राधिकरण स्तर पर तकनीकी परीक्षण किया जाएगा, तदोपरांत नियमानुसार वित्तीय बिड खोलने की कार्यवाही की जायेगी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;