अर्थजगत की खबरें: चीनी कंपनी पर छापा, कर चोरी के सबूत, भारतपे ने वेबसाइट से हटाई अश्नीर ग्रोवर की प्रोफाइल

मेटा ने गलत सूचनाओं के प्रवाह को रोकने के लिए वैश्विक स्तर पर फेसबुक और इंस्टाग्राम पर रूसी सरकारी मीडिया आउटलेट आरटी और स्पुतनिक पर प्रतिबंध का विस्तार किया है। गूगल ने अमेरिका में वर्क फ्रॉम होम को खत्म करते हुए कर्मचारियों को ऑफिस बुलाने का फैसला लिया है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

भारत में चीन की कंपनी पर छापेमारी, मिले कर चोरी के सबूत

आयकर विभाग ने गुरुवार को बताया कि हाल ही में दूरसंचार उत्पाद का कारोबार करने वाली चीन की एक कंपनी पर छापा मारा गया, जहां कंपनी के द्वारा कर चोरी करने के सबूत मिले।आयकर विभाग ने बताया कि चीन की कंपनी ने फर्जी बिल के जरिये 400 करोड़ रुपये की आय को छुपाने की कोशिश की। कंपनी पर फरवरी के दूसरे सप्ताह में आयकर विभाग का छापा पड़ा था।

आयकर अधिकारियों ने बताया कि चीन की यह कंपनी भारत के बाहर की अपनी संबंधित पार्टियों से तकनीकी सेवा प्रदान करने का फर्जी भुगतान करती थी। हालांकि, कंपनी यह नहीं साबित कर पायी भुगतान के बदले उसे वास्तव में कौन सी तकनीकी सेवा प्रदान हुई थी। कंपनी ने गत पांच साल के दौरान इस प्रकार की सेवा के लिये 129 करोड़ के बिल का भुगतान किया है।

छापे के दौरान यह भी पता चला कि हाल के साल में कंपनी ने अपने खाते से संबंधित पार्टियों को रॉयल्टी का भुगतान करने के लिए 350 करोड़ रुपये से अधिक रकम निकाली। रॉयल्टी भुगतान का कंपनी कोई बिल नहीं दिखा पाई, न ही वह बता पाई कि किस आधार पावर रॉयल्टी की दर की गयी थी। छापेमारी के दौरान प्राप्त दस्तावेजों से यह पता चला है कि चीन की यह कंपनी भारत में कर देय आय को कम करके दिखा रही थी। मामले की जांच अभी जारी है।

भारतपे ने वेबसाइट से हटाई अश्नीर ग्रोवर की प्रोफाइल

फिनटेक प्लेटफॉर्म भारतपे ने गुरुवार को अश्नीर ग्रोवर की प्रोफाइल और फोटो को अपनी वेबसाइट से हटा दिया, क्योंकि कंपनी ने उन पर, उनकी पत्नी माधुरी जैन के साथ, कंपनी के फंड के व्यापक हेराफेरी और कंपनी के पैसे का घोर दुरुपयोग करने का आरोप लगाया था। हालांकि, ग्रोवर का लिंक्डइन पेज अभी भी उन्हें भारतपे के सह-संस्थापक और प्रबंध निदेशक के रूप में दिखाता है।

वेबसाइट पर अबाउट अस पेज में अब शाश्वत नाकरानी, सह-संस्थापक, सुहैल समीर, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, भाविक कोलाडिया, एक अन्य सह-संस्थापक और निशित शर्मा, मुख्य राजस्व अधिकारी, अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के नाम हैं। भारतपे के साथ, यूनिटी स्मॉल फाइनेंस बैंक ने भी अपने पोर्टल से अपना प्रोफाइल हटा दिया है। यह भारतपे और सेंट्रम ग्रुप के बीच एक संयुक्त उद्यम है।

ग्रोवर ने मंगलवार आधी रात को अपने और अपनी पत्नी के खिलाफ वित्तीय गड़बड़ी के गंभीर आरोपों के बीच नाटकीय अंदाज में भारतपे छोड़ दिया था। कंपनी ने बुधवार को एक बयान में कहा था कि अपने कुकर्मों के परिणामस्वरूप, अश्नीर ग्रोवर अब कंपनी के कर्मचारी, संस्थापक या निदेशक नहीं हैं।


गूगल ने अमेरिका में कर्मचारियों को ऑफिस में लौटने को कहा

टेक दिग्गज गूगल ने कहा है कि वह घर से काम करने की स्वैच्छिक अवधि को समाप्त कर रहा है और खाड़ी क्षेत्र और कई अन्य अमेरिकी स्थानों में कर्मचारियों को 4 अप्रैल के सप्ताह से कार्यालय में वापस लाना शुरू कर देगा। सीएनबीसी द्वारा देखे गए कर्मचारियों को मिले एक ईमेल में गूगल के वैश्विक लाभ के उपाध्यक्ष जॉन केसी ने लिखा, "हमारे अधिकांश लोगों ने घर से काम करना शुरू किया है, यह दो साल लंबे और चुनौतीपूर्ण रहे हैं।"

केसी ने कहा, "लेकिन रोकथाम और उपचार में प्रगति, मामलों में लगातार गिरावट को जारी रखते हुए और बेहतर सुरक्षा उपायों को हमने अपने बे एरिया साइटों पर लागू किया है, इसका मतलब है कि हम आधिकारिक तौर पर हाइब्रिड कार्य सप्ताह में शुरू कर सकते हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि केसी ने कहा कि अमेरिका और अन्य जगहों पर अन्य कार्यालय स्थानीय परिस्थितियों के आधार पर वापस आना शुरू हो जाएंगे। गूगल का लैटेस्ट मार्गदर्शन सीएनबीसी द्वारा रिपोर्ट किए जाने के एक सप्ताह बाद आया है कि कंपनी वापसी की तैयारी में अपने कुछ कोविड-19 जनादेशों में ढील दे रही है।

मेटा ने विश्व स्तर पर रूसी सरकारी मीडिया पर प्रतिबंध का विस्तार किया

मेटा ने गलत सूचनाओं के प्रवाह को रोकने के लिए वैश्विक स्तर पर फेसबुक और इंस्टाग्राम पर रूसी सरकारी मीडिया आउटलेट आरटी और स्पुतनिक पर प्रतिबंध का विस्तार किया है, क्योंकि रूसी सेना यूक्रेन में गहरी पैठ बना रही है। पूरे यूरोपीय संघ में आरटी और स्पुतनिक तक पहुंच को प्रतिबंधित करने के अलावा, कंपनी ने 'रूसी सरकारी-नियंत्रित मीडिया आउटलेट्स से फेसबुक पेजों और इंस्टाग्राम खातों से कंटेंट को वैश्विक रूप से अवनत करने और उन्हें हमारे प्लेटफार्मों पर ढूंढना कठिन बनाने' की घोषणा की है।

मेटा ने एक बयान में कहा, "हमने फेसबुक पर रूसी राज्य-नियंत्रित मीडिया वेबसाइटों के लिंक वाले पोस्ट को भी कम करना शुरू कर दिया है। आने वाले दिनों में हम इन लिंक्स को लेबल करेंगे और लोगों को साझा करने या उन पर क्लिक करने से पहले उन्हें यह बताने के लिए अधिक जानकारी प्रदान करेंगे कि वे रूसी राज्य-नियंत्रित मीडिया वेबसाइटों पर ले जाते हैं। हम इंस्टाग्राम पर इसी तरह के उपायों को लागू करने की योजना बना रहे हैं।

कंपनी पहले से ही रूसी राज्य-नियंत्रित मीडिया आउटलेट से फेसबुक पेज और इंस्टाग्राम अकाउंट को लेबल कर रही है ताकि लोगों को पता चले कि यह जानकारी कहां से आती है।


यूक्रेन से सूरजमुखी तेल की आवक प्रभावित, सरसों तेल पर असर की संभावना

इस साल सरसों की फसल अच्छी होने की संभावना से उत्साहित तेल कारोबारियों का मानना है कि रूस और यूक्रेन के बीच जारी भीषण युद्ध का बहुत थोड़ा ही असर घरेलू बाजार में खाद्य तेल की कीमतों पर दिखेगा। हालांकि, तेल कारोबारियों ने सरकार से मांग की है कि तेल की कीमतों में तेजी पर लगाम लगाने के लिये सोया तेल निकालने वाले संयंत्र पूरी क्षमता में काम करें।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में खाद्य तेल की कीमतों को लेकर अनिश्चितता बनी हुई है और इनकी कीमत में 200 डॉलर की तेजी देखी गयी है। कारोबारियों का मानना है कि रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध से यूक्रेन से सूरजमुखी तेल का आयात तो प्रभावित हुआ है लेकिन घरेलू बाजार में इसकी कमी अपेक्षाकृत कम ही दिखेगी।

भारत यूक्रेन के अलावा रूस से भी सूरजमुखी तेल का आयात करता है। भारत में 60,000 से 75,000 टन के बीच सूरजमुखी बीज का उत्पादन होता है लेकिन फिर भी यूक्रेन से आयातित सूरजमुखी बीज की कम कीमत के कारण वहां से भारी मात्रा में इसका आयात किया जाता है।सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, घरेलू बाजार में सूरजमुखी तेल की खुदरा कीमत दो मार्च को 159.07 रुपये प्रति किलोग्राम थी जबकि एक मार्च को इसकी कीमत 158.06, 28 फरवरी को 156.66, 27 फरवरी को 152.54 और 26 फरवरी को 152.30 रुपये थी। एक माह पहले सूरजमुखी तेल की खुदरा कीमत 151.08 रुपये, उससे एक माह पहले 149.42 रुपये और एक साल पहले 149.97 रुपये प्रति किलोग्राम थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia