बड़ी टेक फर्मों ने अब तक करीब 50 हजार कर्मचारियों को निकाला, बड़ी सैलरी वालों पर सबसे ज्यादा खतरा!

गूगल में हटाए गए कर्मचारियों में वे लोग शामिल थे, जो 500,000 डॉलर से 1 मिलियन डॉलर के वार्षिक मुआवजे के पैकेज के साथ पहले हाई परफॉर्मेंस रिव्यूस मिले थे या प्रबंधकीय पदों पर आसीन थे।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

जैसे-जैसे बिग टेक फर्म छंटनी के लिए सुर्खियां बटोर रही हैं, वैसे-वैसे अधिक विवरण सामने आ रहे हैं कि जो अधिकारी सालाना 1 मिलियन डॉलर तक की कमाई कर रहे हैं, वो गूगल, माइक्रोसॉफ्ट और अमेजन में ज्यादा छंटनी का शिकार हो रहे हैं। द इंफोर्मेशन की रिपोर्ट के मुताबिक, गूगल में, हटाए गए कर्मचारियों में वे लोग शामिल थे, जो 500,000 डॉलर से 1 मिलियन डॉलर के वार्षिक मुआवजे के पैकेज के साथ पहले हाई परफॉर्मेंस रिव्यूस मिले थे या प्रबंधकीय पदों पर आसीन थे।

रिपोर्ट के मुताबिक, 12,000 प्रभावित कर्मचारी गूगल क्लाउड और क्रोम से एंड्रॉइड और 'वरिष्ठ कार्यकारी प्रभाकर राघवन के तहत खोज-संबंधित समूहों' से हर विभाग के थे। रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि गूगल क्लाउड ने लोगों को रणनीति, भर्ती और गो-टू-मार्केट टीमों में रखा है।


गूगल की मूल कंपनी अल्फाबेट का इन-हाउस रिसर्च एंड डेवलपमेंट (आर एंड डी) डिवीजन जिसे एरिया 120 कहा जाता है, भी काफी प्रभावित हुआ है। अधिकांश एरिया 120 टीम को 'विंड डाउन' कर दिया गया है। माइक्रोसॉफ्ट में, जिसने 10,000 कर्मचारियों को निकाला, हेलो जैसे गेम डेवलपमेंट स्टूडियो सबसे ज्यादा हिट हुए। अन्य कटौती ने इसकी मिक्स्ड-रियलिटी (एमआर) हेडसेट टीमों को प्रभावित किया।

माइक्रोसॉफ्ट ने 2017 में हासिल किए गए आल्टस्पेस वीआर वर्चुअल रियलिटी-आधारित सोशल प्लेटफॉर्म को भी बंद कर दिया है। अमेजन की छंटनी में उपकरण और सेवा प्रभाग में नौकरियां शामिल थीं। हार्डवेयर प्रमुख डेव लिम्प के डिवीजन में नौकरी में कटौती से लगभग 2,000 लोग प्रभावित हुए, जो एलेक्सा और इको स्मार्ट होम डिवाइस जैसे उत्पादों का घर है।

सीएनबीसी ने बताया कि छंटनी में प्राइम एयर ड्रोन डिलीवरी प्रोजेक्ट पर काम करने वाले कर्मचारियों की 'महत्वपूर्ण संख्या' भी शामिल है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;