अर्थ जगत: आज फिर ठप हुई ट्विटर की सर्विस और पाकिस्तान में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची महंगाई

माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर को बुधवार को वैश्विक स्तर पर एक बड़े आउटेज का सामना करना पड़ा। पाकिस्तान की वार्षिक मुद्रास्फीति फरवरी में 31.55 प्रतिशत के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गई, जबकि पिछले महीने यह 27.6 प्रतिशत थी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

ट्विटर को फिर से करना पड़ा वैश्विक आउटेज का सामना

फोटो: IANS
फोटो: IANS

माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर को बुधवार को वैश्विक स्तर पर एक बड़े आउटेज का सामना करना पड़ा, जिसमें उपयोगकर्ताओं ने बताया कि साइट की टाइमलाइन वेब या मोबाइल ऐप पर काफी समय तक लोड नहीं हो रही थी। आउटेज मॉनिटर वेबसाइट डाउन डिटेक्टर के अनुसार, 56 प्रतिशत से अधिक लोगों ने एप्लिकेशन का उपयोग करते समय, 37 प्रतिशत ने वेबसाइट का उपयोग करते समय और 7 प्रतिशत ने सर्वर कनेक्शन के साथ समस्याओं की सूचना दी थी।

यूएस, यूके, जापान और भारत सहित विभिन्न देशों के उपयोगकर्ताओं ने साइट के साथ समस्याओं की रिपोर्ट करना शुरू कर दिया। अधिकांश उपयोगकर्ताओं के लिए, एप्लिकेशन का उपयोग करते समय ट्विटर ने दिखाया 'क्या हो रहा है?' पिछले महीने, माइक्रोब्लॉगिंग साइट को भी वैश्विक आउटेज का सामना करना पड़ा था।

पाकिस्तान में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची महंगाई

फोटो: IANS
फोटो: IANS

 उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) द्वारा मापी जाने वाली पाकिस्तान की वार्षिक मुद्रास्फीति फरवरी में 31.55 प्रतिशत के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गई, जबकि पिछले महीने यह 27.6 प्रतिशत थी, यह खाद्य और परिवहन कीमतों में भारी वृद्धि से प्रेरित है। डॉन ने आरिफ हबीब कॉर्पोरेशन के अनुसार बताया कि जुलाई 1965 से उपलब्ध आंकड़ों के आधार पर यह अब तक की सबसे अधिक सीपीआई वृद्धि है। फरवरी, 2022 में मुद्रास्फीति 12.2 प्रतिशत पर पहुंच गई।

पाकिस्तान ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स (पीबीएस) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में मुद्रास्फीति सालाना आधार पर क्रमश: 28.82 प्रतिशत और 35.56 प्रतिशत हो गई। महीने दर महीने आधार पर महंगाई दर 4.32 फीसदी बढ़ी। डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले कई महीनों में उपभोक्ता कीमतें तेजी से बढ़ी हैं, पिछले साल जून से वार्षिक मुद्रास्फीति 20 प्रतिशत से ऊपर बनी हुई है। फरवरी में, मुद्रास्फीति में वृद्धि एक को छोड़कर सभी उप-सूचकांकों में दो अंकों की वृद्धि से प्रेरित थी।


नाइकी में छटनी, प्रभावित कर्मचारियों ने लिंक्डइन पर शेयर किया दर्द

फोटो: IANS
फोटो: IANS

सिर्फ टेक उद्योग ही नहीं बल्कि छंटनी ने अन्य कार्यक्षेत्रों को भी प्रभावित किया है और अब, अग्रणी फुटवियर और परिधान ब्रांड नाइकी ने कई कर्मचारियों को निकाल दिया है, जिन्होंने अपना दर्द साझा करने के लिए नेटवर्किं ग प्लेटफॉर्म लिंक्डइन का सहारा लिया। ज्यादातर नौकरी में कटौती ने नाइकी के नियोक्ताओं को प्रभावित किया जिन्होंने कहा कि उन्हें हटा दिया गया है। हालांकि, नाइकी ने इन नौकरियों में कटौती के बारे में सोशल मीडिया पोस्ट पर कोई टिप्पणी नहीं की।

नाइकी द्वारा कंपनी में शीर्ष प्रौद्योगिकी कार्यकारी रत्नाकर लवू के इस्तीफे की घोषणा के बाद कर्मचारियों ने लिंक्डइन पर पोस्ट किया। नाइकी के सीनियर टैलेंट एक्विजिशन पार्टनर जॉर्डन इनग्राम ने कहा कि उनके लिए कुछ कहना मुश्किल था। इनग्राम ने लिंक्डइन पर पोस्ट किया- हाल ही में कई अन्य अद्भुत लोगों की तरह, मुझे कल नाइकी से निकाल दिया गया। यदि आपने मेरा अनुसरण किया है या मेरे साथ काम किया है, तो आप जानते हैं कि मैं अपने करियर से कितना प्यार करता हूं और मुझे क्या करना है। सीनियरटेक रिक्रूटर, मैं लोगों के जीवन को बदलने के अवसर को गंभीरता से लेता हूं और अपनी नौकरी और जिस कंपनी के लिए आप काम करते हैं, उससे प्यार करने में सक्षम होने से बड़ी कोई खुशी नहीं है।

फरवरी में जीएसटी संग्रह जनवरी के 1,55,922 करोड़ रुपये से घटकर 1,49,577 करोड़ रुपये हुआ

फोटो: IANS
फोटो: IANS

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह फरवरी, 2023 में 1,49,577 करोड़ रुपये रहा, जो जनवरी के 1,55,922 करोड़ रुपये से कम है। फरवरी में जीएसटी राजस्व के माध्यम से एकत्र किए गए 1,49,577 करोड़ रुपये में से, सीजीएसटी 27,662 करोड़ रुपये, एसजीएसटी 34,915 करोड़ रुपये और आईजीएसटी 75,069 करोड़ रुपये (माल के आयात पर एकत्रित 35,689 करोड़ रुपये सहित) जबकि उपकर 11,931 करोड़ रुपये ( माल के आयात पर एकत्रित 792 करोड़ रुपये सहित) था।

फरवरी का जीएसटी संग्रह दिसंबर 2022 के संग्रह से थोड़ा अधिक था, जो 1,49,507 करोड़ रुपये था। लगातार 12 महीनों के लिए मासिक जीएसटी राजस्व 1.4 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा है। सरकार ने नियमित निपटान के तौर पर आईजीएसटी से सीजीएसटी में 34,770 करोड़ रुपये और एसजीएसटी में 29,054 करोड़ रुपये का निपटान किया है।


महीनों की मंदी के बाद भारतीय आईटी क्षेत्र में फिर से शुरू हुई भर्ती

फोटो: IANS
फोटो: IANS

विशेष रूप से तकनीकी क्षेत्र में चल रही वैश्विक छंटनी के बीच, भारत में काम पर रखने में फरवरी में 9 प्रतिशत क्रमिक वृद्धि देखी गई और वैश्विक मंदी के अनुरूप पिछले कुछ महीनों में गिरावट के बाद आईटी क्षेत्र ने सकारात्मक वापसी का संकेत दिया। एक रिपोर्ट में बुधवार को यह जानकारी दी गई।

नौकरी जॉबस्पीक के आंकड़ों के मुताबिक, आईटी क्षेत्र में नई नौकरियों की संख्या फरवरी में पिछले महीने की तुलना में 10 फीसदी बढ़ी है। एनालिटिक्स मैनेजर, बिग डेटा इंजीनियर, क्लाउड सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर और ऑगमेंटिड रियिलिटी क्यूए परीक्षक जैसी विशेषज्ञ भूमिकाओं की मांग में क्रमश: 29 प्रतिशत, 25 प्रतिशत, 21 प्रतिशत और 20 प्रतिशत की वृद्धि हुई। डेवऑप्स और डेवसेक इंजीनियरों की मांग में क्रमश: 19 प्रतिशत और 18 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */