अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: बिगड़ा घर का बजट, दिसंबर में खुदरा महंगाई दर बढ़कर हुई 7.35 फीसदी

खुदरा महंगाई दर दिसंबर 2019 महीने में बढ़कर 7.35 फीसदी रही जबकि यह नवंबर 2019 महीने में यह 5.54 फीसदी थी। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) ने ये आंकड़े जारी किए हैं। यह रिटेल महंगाई दर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के संतोषजनक स्तर से कहीं अधिक है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

नवजीवन डेस्क

दिसंबर में खुदरा मुद्रास्फीति दर बढ़कर हुई 7.35 फीसदी

खुदरा महंगाई दर दिसंबर 2019 महीने में बढ़कर 7.35 फीसदी रही जबकि यह नवंबर 2019 महीने में यह 5.54 फीसदी थी। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) ने ये आंकड़े जारी किए हैं। यह रिटेल महंगाई दर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के संतोषजनक स्तर से कहीं अधिक है। महंगाई दर में यह बढ़ोतरी सब्जियों और खाने पीने की वस्तुओं के दाम बढ़ने के कारण दिख रहा है।

आंकड़ों के मुताबिक खाद्य पदार्थ मुद्रास्फीति दर दिसंबर महीने में 14.12 फीसदी रही जो कि बीते महीने 10.1 फीसदी थी। आम लोगों को दिसंबर महीने में महंगाई ने सबसे ज्यादा परेशान किया है। खुदरा मुद्रास्फीति नवंबर माह में बढ़कर 5.54 प्रतिशत थी और यह अक्टूबर 2019 में 4.62 प्रतिशत पर थी।

वॉलमार्ट इंडिया ने 56 वरिष्ठ अधिकारियों को बर्खास्त किया

वॉलमार्ट इंडिया ने सोमवार को कहा कि उसने 56 वरिष्ठ अधिकारियों (सीनियर एग्जिक्यूटिव) को अपनी कॉर्पोरेट पुनर्गठन प्रक्रिया के हिस्से के तौर पर पद छोड़ने के लिए कहा है। इसके साथ ही अप्रैल में दूसरे दौर की छंटनी होने की रिपोर्ट है। वॉलमार्ट देश में लगभग 28 थोक स्टोर संचालित करती है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि वह अधिक कुशलता से कंपनी को संचालित करने के तरीकों की तलाश कर रही है, जिसके लिए उसे कॉर्पोरेट स्ट्रक्चर की समीक्षा करने की जरूरत है, ताकि यह सही तरह से व्यवस्थित हो।

आरआईएल को नया एमडी 1 अप्रैल से पहले

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) को जल्द ही एक नया प्रबंध निदेशक मिल सकता है, बशर्ते भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) द्वारा अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक पदों को अलग करने के निर्देश को निर्धारित तिथित एक अप्रैल से लागू कर दिया जाए। इस तरह से आरआईएल के मुख्य प्रबंधनिदेशक (सीएमडी) मुकेश अंबानी गैर-कार्यकारी अध्यक्ष बन जाएंगे। वहीं कंपनी के इतिहास में पहली बार अंबानी परिवार से बाहर का कोई सदस्य आरआईएल का प्रबंध निदेशक बन सकता है। चर्चा है कि आरआईएल के कार्यकारी निदेशक निखिल मेसवानी या मुकेश अंबानी के विश्वासपात्र और कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मनोज मोदी को यह जिम्मेदारी मिल सकती है। इसके अलावा कंपनी के अन्य दो कार्यकारी निदेशक निखिल के छोटे भाई हितल और पी. एम. एस. प्रसाद का नाम भी संभावित सूची में है।

भारतीय मिलों ने किए 28 लाख टन चीनी निर्यात के सौदे, कीमतें बढ़ीं

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में चीनी के दाम में आई तेजी से भारतीय चीनी मिलों को फायदा मिला है, क्योंकि देश से चीनी की निर्यात मांग बढ़ी है और अब तक 28 लाख टन चीनी निर्यात के सौदे हो चुके हैं। चीनी की निर्यात मांग बढ़ने से घरेलू बाजार में भी चीनी की कीमतों में तेजी आई है। नए साल में चीनी के दाम में करीब 100 रुपए प्रति कुंटल की तेजी आई है। उद्योग संगठन नेशनल फेडरेशन ऑप को-ऑपरेटिव शुगर फैक्टरीज (एनएफसीएसएफ) का अनुमान है कि इस साल चीनी निर्यात का लक्ष्य 60 लाख टन पूरा हो जाएगा। एनएफसीएसएफ के प्रबंध निदेशक प्रकाश नाइकनवरे का कहना है कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में चीनी की कीमतों में तेजी आने से निर्यात मांग बढ़ी है, जिसे देखते हुए लगता है कि इस साल सरकार द्वारा तय चीनी निर्यात का कोटा 60 लाख टन पूरा हो जाएगा।

नुस्ली वाडिया ने रतन टाटा के खिलाफ अवमानना मामला वापस लिया

प्रधान न्यायाधीश एस.ए. बोबडे की सलाह पर नुस्ली वाडिया ने रतन टाटा के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दर्ज अवमानना का मामला सोमवार को वापस ले लिया। प्रधान न्यायाधीश बोबडे ने वाडिया समूह के चेयरमैन के इस कदम की प्रशंसा की। न्यायमूर्ति बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा, “हम इसकी प्रशंसा करते हैं।” पीठ में दो अन्य सदस्य न्यायमूर्ति बी.आर. गवई और न्यायमूर्ति सूर्यकांत थे। टाटा के वकील ने भी शीर्ष अदालत में बयान दिया कि वाडिया का अपमान करने का कोई उद्देश्य नहीं था। शीर्ष अदालत ने पिछले सप्ताह पाया था कि उसे इन आरोपों और इस मामले के कारणों की जानकारी नहीं है। बोबडे ने कहा, “आप दोनों को बात करनी चाहिए।” कोर्ट ने जोर देकर कहा था कि यह सलाह एक विचार है, क्योंकि इस मामले में कोई कानून नहीं है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय