कोरोना वायरस के कारण भारत के विकास को झटका, मूडीज ने महीने में दूसरी बार घटाया विकास दर का अनुमान

टॉप रेटिंग एजेंसी मूडीज ने एक महीने के अंदर दूसरी बार भारत की अनुमानित विकास दर को घटा दिया है। मूडीज ने 2020 में भारत की विकास दर 5.3 फीसदी रहने की उम्मीद जताई है। जबकि 17 फरवरी को एजेंसी ने भारत के विकास दर अनुमान को 6.6 फीसदी से घटाकर 5.4 कर दिया था।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

होली के त्योहार के दिन मोदी सरकार को झटका देते हुए दुनिया की टॉप रेटिंग एजेंसी मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने भारत के विकास दर के अनुमान को घटा दिया है। महज एक माह के दौरान दूसरी बार भारत के विकास दर के अनुमान को घटाते हुए मूडीज ने 2020 में इसके 5.3 फीसदी रहने की उम्मीद जताई है। बता दें कि एजेंसी ने इससे पहले 17 फरवरी को भारत के विकास दर अनुमान को घटाकर 6.6 फीसदी से 5.4 फीसदी कर दिया था।

मूडीज ने ताजा अनुमान में भारत के अलावा साल 2020 के लिए चीन के विकास दर अनुमान को भी घटा दिया है। मूडीज ने चीन के विकास दर अनुमान को 5.2 फीसदी से घटाकर 4.8 फीसदी कर दिया है। एजेंसी ने अमेरिका के विकास दर अनुमान को भी 1.7 फीसदी से घटाकर 1.5 फीसदी कर दिया गया है। इसके अलावा मूडीज ने जी20 देशों का विकास दर 2020 में 0.3 फीसदी घटाकर 2.1 रहने का अनुमान जताया है।

मूडीज ने इसके पीछे दुनिया भर में कोरोना वायरस के पैल रहे प्रकोप को वजह माना है। एजेंसी का मानना है कि वर्तमान हालत में दुनिया भर में घरेलू मांग में कमी आएगी। मूडीज ने कहा कि कोरोना वायरस का प्रकोप चीन के बाहर कई प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में तेजी से फैला है, जिससे वैश्विक आर्थिक गतिविधियां प्रभावित हो रही हैं।

मूडीज ने कहा है कि कोरोना वायरस के कारण दुनिया भर में लोगों में फैले भय और इससे वैश्विक अर्थव्यवस्था को हो रहे नुकसान की वजह से विभिन्न देशों के विकास दर में अभी और गिरावट आ सकती है। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि कोरोना वायरस पर काबू नहीं पाया गया तो स्थितियां और बदतर होंगी। जिससे 2020 के लिए भारत के विकास दर का अनुमान घटकर 5 फीसदी पर आ सकता है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia