कोरोना का कहर: 2 घंटे के नोटिस पर एक कंपनी ने 300 लोगों को नौकरी से निकाला, IT सेक्टर में खतरे में 1.5 लाख नौकरियां

कोरोना वायरस सिर्फ इंसानों की जान का ही दुश्मन नहीं है बल्कि इसने लोगों के रोजागर को भी खाना शुरू कर दिया है। कोरोना के कारण अब लोगों को अपनी नौकरी से भी हाथ धोना पड़ रहा है। ऐसी ही एक घटना महाराष्ट्र के पुणे से आई है, जहां की एक छोटी आईटी कंपनी पर 6 लोगों से जबरन इस्तीफा लेने का आरोप लगा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना वायरस सिर्फ इंसानों की जान का ही दुश्मन नहीं है बल्कि इसने लोगों के रोजागर को भी खाना शुरू कर दिया है। कोरोना के कारण अब लोगों को अपनी नौकरी से भी हाथ धोना पड़ रहा है। ऐसी ही एक घटना महाराष्ट्र के पुणे से आई है, जहां की एक छोटी आईटी कंपनी पर 6 लोगों से जबरन इस्तीफा लेने का आरोप लगा है। जनसत्ता की खबर के मुताबिक एक ट्रैवल टेक फर्म Fareportal ने 300 कर्मचारियों की छुट्टी कर दी है। जानकार भी बता रहै हैं कि आने वाले दिनों में आईटी सेक्टर में कई हजार लोगों की नौकरी जा सकती है। एचआर एक्सपर्ट्स और इंडस्ट्री के जानकारों के मुताबिक आने वाले 3 से 6 महीनों में आईटी सेक्टर के 1.5 लाख लोगों की नौकरी पर संकट पैदा हो सकता है। हालांकि एक्सपर्ट्स का कहना है कि यह संकट छोटी आईटी कंपनियों में ज्यादा देखने को मिलेगा क्योंकि वे अपने बड़े क्लाइंट्स के ऑर्डर्स पर निर्भर हैं और यदि क्लाइंट पर मंदी का असर होता है तो वे भी सीधे तौर पर प्रभावित होंगी।

गौरतलब है कि भारत में आईटी सेक्टर ने करीब 50 लाख लोगों को रोजगार दिया हुआ है। इनमें से 10 से 12 लाख लोग छोटी कंपनियों में काम करते हैं। वहीं आईटी सेक्टर की टॉप 5 कंपनियों में 10 लाख लोग नौकरी करते हैं। कहा जा रहा है कि कोरोना वायरस से उत्पन्न संकट की वजह से कंपनियों के लिए पहले की तरह अपने बिजनेस को चलाना मुश्किल साबित हो रहा है। इसके अलावा पूरी ट्रैवल और हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री संकट के दौर से गुजर रही है। मैन्युफैक्चरिंग भी थम गई है। यहां तक कि दिग्गज टेक कंपनियों ऐपल और माइक्रोसॉफ्ट ने निवेशकों को चेतावनी देते हुए कहा है कि आगामी तिमाही में उनके नतीजों पर कोरोना संकट का असर दिख सकता है।

इंडस्ट्री के एक एक्सपर्ट ने मनी कंट्रोल से बातचीत करते हुए कहा, ‘कई देशों में लॉकडाउन की स्थिति मई तक बढ़ सकती है। यह अनिश्चितता आने वाले समय में कंपनियों के फैसलों को प्रभावित कर सकती है।’ फिलहाल ज्यादातर कंपनियों ने इस मुश्किल घड़ी में अपने कर्मचारियों को नहीं निकालने का फैसला किया है। हालांकि भविष्य में स्थितियां खराब होती नजर आ रही है। लेकिन इसी बीच ये भी खबर है कि कुछ छोटी कंपनियों ने छंटनी शुरू भी कर दी है। गुरुग्राम स्थित ट्रैवल टेक कंपनी Fareportal ने 300 कर्मचारियों की एक साथ ही छुट्टी कर दी। इन लोगों को महज दो घंटे के नोटिस पर ही कंपनी ने निकाल दिया।

Published: 3 Apr 2020, 2:00 PM
लोकप्रिय