अर्थजगत की खबरें: क्रिप्टो-एक्सचेंज Coinbase ने एक झटके में निकाले 1100 कर्मचारी और सेंसेक्स-निफ्टी गिरकर हुए बंद

दुनिया के सबसे बड़े क्रिप्टो-एक्सचेंजों में से एक कॉइनबेस ने एक झटके में ही अपने 18 फीसदी कर्मचारियों को निकाल दिया और सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही लाल निशान पर बंद हुए।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

क्रिप्टो-एक्सचेंज Coinbase ने एक झटके में 1,100 कर्मचारियों को निकाला

दुनिया के सबसे बड़े क्रिप्टो-एक्सचेंजों में से एक कॉइनबेस ने मंगलवार को एक झटके में ही अपने 18 फीसदी कर्मचारियों को निकाल दिया। कंपनी के सिंगापुर स्थित एक सीनियर एग्जिक्यूटिव्स ने बताया कि Coinbase ने कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की सूचना देने से पहले उनके लॉग-इन एक्सेस को ब्लॉक कर दिया था। कॉइनबेस के पूर्व रिक्रूटमेंट मैनेजर (एशिया पैसेफिक), क्लिंटन ग्लीव ने बताया कि “नौकरी से निकालने की सूचना देने से पहले हमारे सिस्टम्स के एक्सेस बंद कर दिए गए। हमें यह जानकारी ऐसे वक्त में मिली, जब मैंने अपनी टीम को प्रोत्साहित करने के लिए कल एक होटल में ड्रिंक्स पार्टी के लिए रिजर्वेशन कराया था।”ग्लीव ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म लिंक्डइन पर लिखी एक पोस्ट में छंटनी की खबर को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने लिखा कि कैसे उन्होंने एशिया पैसेफिक रीजन में कॉइनबेस की टीम को खड़ा करने और उसे शून्य से लेकर इस मुकाम तक लाने में अपना योगदान दिया था।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

सेंसेक्स और निफ्टी दोनों गिरकर हुए बंद

बुधवार को, भारतीय शेयर बाजार में एक बार फिर बड़ी वोलैटिलिटी देखने को मिली। सुबह भारतीय बाजारों ने फ्लैट ओपनिंग की और उसके बाद धीरे-धीरे ऊपर की तरफ चले। लगभग 1 बजे के बाद भारतीय बाजारों में बड़ी गिरावट आई और अंत में सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही लाल निशान पर बंद हुए। बीएसई सेंसेक्स में आज 152.18 अंकों की (0.29 फीसदी) की गिरावट आई और यह 52541.39 पर बंद हुआ। इसी तरह निफ्टी 50, 39.90 अंकों (0.25 फीसदी) की गिरावट के साथ 15692.20 पर बंद हुआ। बैंक निफ्टी की बात करें तो यह 27.65 अंक (0.08 फीसदी) बढ़कर 33339 पर बंद हुआ है। बुधवार को एनर्जी और मेटल सेक्टर में काफी दबाव देखा गया. निफ्टी एनर्जी में 1.50 फीसदी से अधिक की गिरावट हुई है तो मेटल लगभग 0.50 फीसदी गिर गया है। ऑटो सेक्टर में तेजी देखने को मिली. यह लगभग 1 फीसदी बढ़ा है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS

मई में भारत का कुल निर्यात साल-दर-साल 24 प्रतिशत बढ़ा

मई में भारत का कुल निर्यात, माल और सेवाओं को मिलाकर 62.21 अरब डॉलर तक पहुंचने का अनुमान लगाया गया है, जो पिछले साल की समान अवधि में 24.03 प्रतिशत की सकारात्मक वृद्धि दर्शाता है। बुधवार को एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गई। मई 2022 में व्यापारिक यानी वस्तुओं का निर्यात 38.94 अरब डॉलर दर्ज किया गया है, जबकि मई 2021 में यह 32.30 अरब डॉलर था। वहीं सेवाओं के निर्यात का अनुमानित मूल्य 23.28 अरब डॉलर दर्ज किया गया है, जबकि पिछले साल इसी महीने में यह आंकड़ा 17.86 अरब डॉलर था। वित्त वर्ष 2023 के पहले दो महीनों यानी अप्रैल-मई के दौरान भारत का कुल निर्यात 124.59 अरब डॉलर होने का अनुमान लगाया गया है, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 25.90 प्रतिशत अधिक है। इसके विपरीत, मई में कुल आयात 77.65 अरब डॉलर होने का अनुमान लगाया गया है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 59.19 प्रतिशत की सकारात्मक वृद्धि दर्शाता है, जबकि इस वित्त वर्ष के अप्रैल-मई में कुल आयात 151.89 अरब डॉलर दर्ज किया गया है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 45.44 प्रतिशत अधिक है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

विंडोज 10 में इंटरनेट एक्सप्लोरर के लिए सपोर्ट खत्म करेगा माइक्रोसॉफ्ट

टेक दिग्गज माइक्रोसॉफ्ट अब विंडोज 10 में इंटरनेट एक्सप्लोरर (आईई) का समर्थन नहीं करेगा। एनगेजेट के अनुसार, यूजर्स को अभी भी आईई 11 समर्थन प्राप्त होगा यदि वे विंडोज सर्वर 2022 या पुराने ओएस रिलीज का उपयोग दीर्घकालिक सेवा विस्तार के साथ कर रहे हैं, लेकिन यह अधिकांश लोगों के लिए सॉ़फ्टवेयर अपडेट के प्रभावी अंत का प्रतीक है। रिपोर्ट में कहा गया है कि विंडोज 11 में आईई डेस्कटॉप ऐप शामिल नहीं है। एज ब्राउजर का आईई मोड अभी भी 2029 या उसके बाद तक समर्थन प्राप्त करेगा, इसलिए यदि उपयोगकर्ताओं को पुराने वेब इंजन के साथ संगतता की आवश्यकता है तो वे फंसेंगे नहीं।

रिपोर्ट के अनुसार कंपनी अगले कुछ महीनों में यूजर्स को आईई से एज पर 'प्रोग्रेसिवली' पुनर्निर्देशित करेगी और पुराने सॉ़फ्टवेयर को विंडोज अपडेट के माध्यम से स्थायी रूप से अक्षम कर देगी। पिछले साल, माइक्रोसॉफ्ट ने घोषणा की थी कि वह जून 2022 में अपने प्रतिष्ठित इंटरनेट एक्सप्लोरर ब्राउजर को खत्म कर देगा, क्योंकि यह इंटरनेट एक्सप्लोरर के भविष्य की कल्पना करता है, जिसे 1995 में माइक्रोसॉफ्ट एज में विंडोज 10 पर लॉन्च किया गया था।


फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

बग ने इंस्टाग्राम स्टोरीज को किया प्रभावित, यूजर्स हुए परेशान

मेटा के स्वामित्व वाले इंस्टाग्राम को अपने स्टोरेज फीचर के साथ शुरुआती परेशानियों का सामना करना पड़ा और कई उपयोगकर्ता किसी की स्टोरी को देखने के दौरान बीच में ही रुक गए। यह समस्या तब भी सामने आई जब कोई अपने फीड में कोई नई स्टोरी पोस्ट कर रहा था। रेड्डिट पर एक यूजर ने पोस्ट किया, "क्या किसी और को भी यह समस्या आई हैं, जहां कोई नई स्टोरी पोस्ट करता है और आप इसे देखने के लिए उस पर क्लिक करते हैं और यह आपको उनके द्वारा पोस्ट की गई पहली कहानी पर वापस भेजता है, न कि नई? यह बहुत परेशान करने वाला है, मुझे आशा है कि यह जल्द ही ठीक हो जाएगा।"

एक अन्य उपयोगकर्ता ने कहा, "यह मेरे साथ भी हो रहा था! मैंने लॉग आउट किया और ऐप को डिलीट कर दिया। इसे फिर से इंस्टॉल किया और यह सामान्य रूप से काम करने लगा।" मेटा के एक प्रवक्ता ने द वर्ज को बताया कि कंपनी 'जानती है कि कुछ लोगों को इंस्टाग्राम स्टोरीज तक पहुंचने में परेशानी हो रही है,' और 'चीजों को जल्द से जल्द सामान्य करने के लिए काम कर रही थी।'

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia