अर्थजगत की खबरें: अपने बेड़े का विस्तार करेगी टाटा की एयर इंडिया, रूस बना चीन के लिए तेल का सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता

तमिलनाडु में फोर्ड इंडिया के कारखाने के करीब 1,100 कर्मचारी यूनियन और प्रबंधन के बीच कोई समझौता न होने के बावजूद सोमवार को काम पर लौट गए। आईडीबीआई बैंक ने किंगडम ऑफ ड्रीम्स का संचालन करने वाली ग्रेट इंडियन तमाशा कंपनी की संपत्ति की ई-नीलामी शुरू कर दी है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

अपने बेड़े का विस्तार करेगी टाटा की एयर इंडिया

टाटा ग्रुप की एयर इंडिया की अगले एक-दो साल में अपने बेड़े का विस्तार करने की योजना है।
मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रस्तावित नए एल्यूमीनियम प्लेन दो मॉडल, एयरबस और बोइंग से संकीर्ण और चौड़े शरीर का मिश्रण होंगे। वर्तमान में, एयर इंडिया का बेड़ा बोइंग (777-200एलआर, 777-300ईआर और 787-800 ड्रीमलाइनर) और एयरबस (319, 320, 320 नियो और 321) विमानों का मिश्रण है, जिनकी संख्या 113 है।

यह देखना दिलचस्प होगा कि टाटा ग्रुप बेड़े के विस्तार को कैसे वित्तपोषित करता है। यह भी कहा जा रहा है कि एयर इंडिया ने अपने पायलटों से पूछा है कि क्या वे ए350 उड़ान में प्रशिक्षित होना चाहते हैं, जिसका अर्थ है कि एयरलाइन लंबी दूरी की उड़ानों के लिए इसे अपने बेड़े में शामिल करने की योजना बना रही है। हालांकि, एयर इंडिया के अधिकारी टिप्पणी करने के लिए उपलब्ध नहीं हो सके। टाटा ग्रुप ने पिछले साल भारत सरकार से एयर इंडिया का अधिग्रहण किया था। ग्रुप के पास पहले से ही विस्तारा और एयर एशिया है।

रूस बना चीन के लिए तेल का सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता

चीन के लिए रूस तेल का सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता बन गया है क्योंकि यूक्रेन युद्ध को लेकर प्रतिबंधों के बीच देश ने बीजिंग को रियायती दर पर कच्चा तेल बेचा है। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, रूसी तेल का आयात एक साल पहले के मुकाबले मई में 55 प्रतिशत बढ़कर रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया, जिसने सऊदी अरब को चीन के सबसे बड़े प्रदाता के रूप में विस्थापित कर दिया।

चीन ने कोविड के प्रतिबंधों और धीमी अर्थव्यवस्था की मांग के बावजूद रूसी तेल की खरीद में तेजी लाई है। बीबीसी की सूचना के अनुसार, राज्य की रिफाइनिंग दिग्गज सिनोपेक और राज्य द्वारा संचालित जेनहुआ ऑयल सहित चीनी कंपनियों ने हाल के महीनों में रूसी कच्चे तेल की अपनी खरीद में वृद्धि की है, क्योंकि यूरोप में खरीदारों के रूप में भारी छूट की पेशकश की जा रही है और अमेरिका ने यूक्रेन पर अपने युद्ध पर प्रतिबंधों के अनुरूप रूसी ऊर्जा को छोड़ दिया है।


फोर्ड इंडिया के चेन्नई संयंत्र में काम पर लौटे 1,100 कर्मचारी

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के मराईमलाईनगर इलाके में वाहन कंपनी फोर्ड इंडिया के कारखाने के करीब 1,100 कर्मचारी कर्मचारी यूनियन और प्रबंधन के बीच कोई समझौता न होने के बावजूद सोमवार को काम पर लौट गए। बेहतर सेवा समाप्ति पैकेज की मांग को लेकर पिछले 22 दिन से कर्मचारी प्रदर्शन कर रहे हैं। फोर्ड इंडिया का चेन्नई का कारखाना जल्द ही बंद होने वाला है।

कर्मचारी संगठन के एक अधिकारी ने बताया कि सेवा समाप्ति पैकेज से सहमत होने वाले और नहीं सहमत होने वाले कुछ कर्मचारियों ने काम पर आना शुरू कर दिया है। उसने बताया कि कर्मचारी यूनियन के प्रतिनिधि, प्रबंधन और तमिलनाडु के श्रम विभाग के बीच सोमवार को त्रिपक्षीय बैठक होनी है। इससे पहले श्रम विभाग ने कहा था कि यह मामला कंपनी और कर्मचारियों के बीच का है और उन्हें ही आपसी बातचीत से इसका हल निकालना चाहिए। फोर्ड इंडिया के इस कारखाने में करीब 2,600 कर्मचारी काम करते हैं। सूत्रों ने बताया कि 400 कर्मचारी संयंत्र के गेट के बाहर हैं और करीब एक हजार कर्मचारी अपने घर पर हैं।

IDBI बैंक ने ग्रेट इंडियन तमाशा कंपनी की संपत्ति की नीलामी शुरू की

आईडीबीआई बैंक ने ग्रेट इंडियन तमाशा कंपनी की संपत्ति की ई-नीलामी के लिए बोली आमंत्रित की है। यह कंपनी गुरुग्राम में किंगडम ऑफ ड्रीम्स का संचालन कर रही थी। ग्रेट इंडियन तमाशा कंपनी ग्रेट इंडियन नौटकी कंपनी की कॉरपोरेट गारंटर थी। ऋण भुगतान में डिफॉल्ट के कारण आईडीबीआई बैंक बोली आमंत्रित कर रहा है। एक मई 2022 तक कंपनी पर आईडीबीआई का ऋण 92.69 करोड़ रुपये था।

आईडीबीआई जिस जमीन को नीलामी के जरिये बेच रहा है, वह कर्नाटक के कोडागु जिले में है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रीय कंपनी विधि प्राधिकरण ने आईडीबीआई की इस संबंध में याचिका गत साल मई में स्वीकार की थी।


तुर्की और इजरायल के राष्ट्रपति ने द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने का संकल्प लिया

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन और उनके इजरायली समकक्ष इसाक हजरेग ने दोनों देशों के बीच सहयोग को बढ़ावा देने का संकल्प लिया है। तुर्की के संचार निदेशालय ने एक बयान में कहा कि रविवार को एक फोन कॉल के दौरान, एर्दोगन और हजरेग ने तुर्की-इजरायल संबंधों और क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा की और सहमति व्यक्त की और कहा कि आपसी रक्षा और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के मामलों पर बातचीत और सहयोग जारी रहेगा।

इसमें कहा गया है कि हजरेग ने क्षेत्र में आतंकवाद से लड़ने के तुर्की के प्रयासों के लिए तुर्की के नेता को धन्यवाद दिया। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, तुर्की और इजरायल ने हाल ही में द्विपक्षीय संबंधों में गिरावट के एक दशक के बाद संबंधों में गिरावट देखी है। 2018 में यरुशलम में अमेरिकी दूतावास के उद्घाटन के दौरान इजरायली सैनिकों द्वारा दर्जनों फिलिस्तीनी प्रदर्शनकारियों को मारने के बाद, तुर्की ने इजरायल से अपने राजदूत को भी वापस बुला लिया, जिसके बाद इजरायल ने भी अपने राजदूत को भी वापस बुला लिया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia