अर्थजगत की खबरें: रूस-यूक्रेन यूद्ध ने कच्चे तेल में लगाई आग, शेयर बाजार धड़ाम, औंधे मुंह गिरा रुपया

सीबीआई की विशेष अदालत ने सोमवार को एनएसई की पूर्व प्रमुख चित्रा रामकृष्णा को सीबीआई की सात दिन की हिरासत में भेज दिया। रूस से आयात पर प्रतिबंध की आशंका ने कच्चे तेल की कीमतों को आज आसमान पर पहुंच दिया, जिनसे प्रमुख एशियाई बाजारों में भी तबाही मच गई है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

रूस-यूक्रेन युद्ध से कच्चा तेल अर्श पर, शेयर बाजार फर्श पर

रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग के कारण सोमवार को एक तरफ अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें आसमान छूने लगीं तो दूसरी तरफ शेयर बाजार औंधे मुंह गिर पड़ा। वैश्विक पटल पर मची उथलपुथल से दुनिया भर के शेयर बाजारों में कोहराम मच गया। प्रमुख एशियाई बाजारों की राह पर चलता हुआ घरेलू शेयर बाजार भी लगातार चौथे दिन बिकवाली की गिरफ्त में रहा।

विदेशी बाजारों में ब्रेंट क्रूड के 14 साल के उच्चतम स्तर यानी 130 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंचने से विदेशी संस्थागत निवेशकों का मनोबल टूट गया और वे शेयर बाजार से धड़ाधड़ अपने पैसे निकालने लगे। इस अफरातफरी भरे माहौल के बीच बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 2.7 प्रतिशत यानी 1,491 अंक लुढ़ककर 52,843 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 2.4 प्रतिशत यानी 382 अंक टूटकर 15,863 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी 50 में इंडसइंड बैंक को सबसे अधिक नुकसान उठाना पड़ा। बैंक के शेयरों के दाम आठ फीसदी लुढ़क गये। इसके अलावा मारुति सुजुकी, एक्सिस बैंक, ब्रिटानिया और बजाज फिनसर्व के शेयरों में भी भारी गिरावट रही। ओएनजीसी, हिंडाल्को, कोल इंडिया, भारती एयरटेल और यूपीएल के शेयरों में निवेशकों ने पैसा लगाया। सेंसेक्स की 30 कंपनियों में मात्र चार हरे निशान में जगह बनाने में कामयाब हुई और शेष 26 कंपनियां लाल निशान में रहीं। भारती एयरटेल, एचसीएल टेक, टाटा स्टील और इंफोसिस के शेयरों के दाम चढ़े।

अर्थजगत की खबरें: रूस-यूक्रेन यूद्ध ने कच्चे तेल में लगाई आग, शेयर बाजार धड़ाम, औंधे मुंह गिरा रुपया

रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंचा रुपया, डॉलर के मुकाबले 76 पर गिरा

कमोडिटी की ऊंची कीमतों के साथ-साथ इक्विटी बाजारों से विदेशी फंडों के परिणाम ने भारतीय रुपये को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले एक नए रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंचा दिया। तदनुसार, रूस-यूक्रेन युद्ध से उत्पन्न अन्य वस्तुओं के साथ कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों ने रुपये पर कमजोर दबाव बनाए रखा।

यूक्रेन संकट ने सोमवार को ब्रेंट कच्चे तेल की कीमत को 130 डॉलर प्रति बैरल पर धकेल दिया। इसके अलावा, इस प्रवृत्ति से मुद्रास्फीति की प्रवृत्ति और अंतत: मौद्रिक नीति में उलटफेर की उम्मीद है। इसके अलावा, इसने भारतीय इक्विटी बाजार में एफआईआई की बिक्री में तेजी लाई है। नतीजतन, भारतीय रुपया सोमवार के व्यापार सत्र में 76.02 डॉलर के नए रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया।

आईआईएफएल सिक्योरिटीज वीपी, रिसर्च, अनुज गुप्ता ने कहा, "उच्च मुद्रास्फीति, कच्चे तेल और कमोडिटी की कीमतों में बढ़ोतरी के साथ-साथ इक्विटी बाजार से एफआईआई का आउटफ्लो रुपये की गिरावट के प्रमुख कारण हैं। उन्होंने कहा, "हमें उम्मीद है कि यह 77.50 से 78 के स्तर का परीक्षण करेगा।" कैपिटल वाया ग्लोबल रिसर्च: लीड कमोडिटीज एंड करेंसीज के क्षितिज पुरोहित के अनुसार डॉलर के मुकाबले रुपया एक और 1 फीसदी टूट गया है और 76.87 पर कारोबार कर रहा है, इसने सुबह 77.08 का उच्च स्तर बनाया।"

अर्थजगत की खबरें: रूस-यूक्रेन यूद्ध ने कच्चे तेल में लगाई आग, शेयर बाजार धड़ाम, औंधे मुंह गिरा रुपया

सात दिन की सीबीआई हिरासत में भेजी गई पूर्व NSE प्रमुख चित्रा

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने सोमवार को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) की पूर्व प्रमुख चित्रा रामकृष्णा को सीबीआई की सात दिन की हिरासत में भेजने का आदेश दिया। सीबीआई ने चित्रा को रविवार रात उनके नई दिल्ली स्थित आवास से गिरफ्तार किया था। उन्हें यहां राउज एवेन्यू कोर्ट के समक्ष पेश किया गया, जहां सीबीआई ने चित्रा की हिरासत की मांग की। अदालत ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद चित्रा को सात दिन की हिरासत में भेजे जाने का आदेश दिया।

सीबीआई अब जुटाए गए सबूतों के आधार पर चित्रा से पूछताछ करेगी। सीबीआई की विशेष अदालत ने एनएसई के पूर्व समूह संचालन अधिकारी आनंद सुब्रमणियम को भी नौ मार्च तक की हिरासत में भेजने का आदेश दिया है। आनंद को गत 24 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था।
सीबीआई मई 2018 से ही इस मामले की जांच में जुटी है लेकिन वह अब तक उस अज्ञात योगी को चिन्हित नहीं कर पायी है, जिसका राग चित्रा अलापती रहती हैं।

अर्थजगत की खबरें: रूस-यूक्रेन यूद्ध ने कच्चे तेल में लगाई आग, शेयर बाजार धड़ाम, औंधे मुंह गिरा रुपया

कच्चा तेल 14 साल के उच्चतम स्तर पर, एशियाई बाजार में कोहराम

रूस से कच्चे तेल के आयात पर प्रतिबंध लगाने की पश्चिमी देशों की मंशा ने न सिर्फ कच्चे तेल की कीमतों को आसमान पर पहुंच दिया है बल्कि प्रमुख एशियाई बाजारों में भी तबाही मचा दी है। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक सोमवार को बाजार खुलने ही ब्रेंट क्रूड वर्ष 2008 के बाद के उच्चतम 139.13 डॉलर प्रति बैरल पर और अमेरिकी क्रूड 130.50 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।

फिलहाल ब्रेंट क्रूड 10.6 प्रतिशत यानी 12.60 डॉलर की तेजी के साथ 130.72 डॉलर प्रति बैरल पर है। अमेरिकी क्रूड भी नौ फीसदी की छलांग लगाकर 126.09 डॉलर प्रति बैरल पर है।
कच्चा तेल साल की शुरूआत से अब तक 67 प्रतिशत महंगा हुआ है और दुनिया भर के शेयर बाजारों पर इसका असर दिखने लगा है।

सोमवार को एशियाई शेयर बाजारों में कच्चे तेल के कारण आग लगी रही। जापान का निक्के ई और हांगकांग का हैंगशैंग तीन फीसदी से अधिक टूटा, जबकि चीन का शंघाई कंपोजिट और बीएसई का सेंसेक्स तथा एनएसई के निफ्टी में दो फीसदी से अधिक की गिरावट देखी गई।
अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिन्केन ने रविवार को कहा कि अमेरिकी सरकार और सहयोगी देश रूस से कच्चे तेल के आयात पर प्रतिबंध लगाने की सोच रहे हैं।

अर्थजगत की खबरें: रूस-यूक्रेन यूद्ध ने कच्चे तेल में लगाई आग, शेयर बाजार धड़ाम, औंधे मुंह गिरा रुपया

एप्पल कल आईफोन एसई, आईपैड एयर कर सकता है लॉन्च

एप्पल ने मंगलवार को आधिकारिक तौर पर वर्ष के अपने पहले विशेष कार्यक्रम की घोषणा की है जो थर्ड जेनरेशन के आईफोन एसई, एक ताजा आईपैड एयर और नए सिलिकॉन-संचालित मैक्स की शुरुआत पर ध्यान केंद्रित करेगा। इवेंट को पहले से रिकॉर्ड किया जाएगा और इसे एप्पल की वेबसाइट और यूट्यूब पर स्ट्रीम किया जाएगा।

टेक दिग्गज के पास 2022 में लॉन्च होने वाले उत्पादों का एक बड़ा बेड़ा है। जबकि कुछ के वर्ष में बाद में आने की उम्मीद है। मुख्य ध्यान शायद आईफोन एसई पर होगा, जिसमें तीसरी पीढ़ी के डिवाइस में पहली बार 5जी कनेक्टिविटी पैक करने की उम्मीद है। आगामी आईफोन 64 जीबी, 128 जीबी और 256 जीबी स्टोरेज विकल्प और तीन कलर्स- सफेद, काले और लाल रंग में आएगा।

अर्थजगत की खबरें: रूस-यूक्रेन यूद्ध ने कच्चे तेल में लगाई आग, शेयर बाजार धड़ाम, औंधे मुंह गिरा रुपया

कुछ अफवाहें इंगित करती हैं कि इसमें 4.7-इंच डिस्प्ले और टच आईडी के साथ दूसरी पीढ़ी के मॉडल के समान डिजाइन होने के साथ-साथ विनिर्देशों में टक्कर शामिल है। आईपैड एयर 5 को भी इस आयोजन का एक संभावित उम्मीदवार कहा जाता है। अटकलों के साथ इसे आईपैड मिनी 6 के समान फीचर अपग्रेड के रूप में रखा गया है, जिसमें ए15 बायोनिक का अपग्रेड भी शामिल है। 5जी कनेक्टिविटी और फेसटाइम एचडी कैमरा के अपग्रेड को सेंटर स्टेज सपोर्ट के साथ 12 एमपी अल्ट्रा-वाइड वर्जन में अपग्रेड करने के बारे में भी बताया गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia