अर्थजगत की खबरें: कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच शेयर बाजार टूटा, भारत ने अमेरिकी क्रूड का आयात घटाया

एक लैंबॉर्गिनी ने एक हजार करोड़ रुपये के म्युचुअल फंड घोटाले का पर्दाफाश कर दिया है। यह मामला एक्सिस म्युचुअल फंड से जुड़ा है। इटली के मशहूर लग्जरी ब्रांड गुची के अमेरिका स्थित कुछ स्टोर में क्रिप्टोकरेंसी देकर खरीदारी की जा सकती है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच शेयर बाजार टूटा

अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी की घोषणा के कारण विदेशी बाजारों के साथ घरेलू शेयर बाजार में भी शुक्रवार चौतरफा बिकवाली का दबाव रहा, जिससे यह गिरावट में बंद हुआ। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1.56 प्रतिशत यानी 866 अंक की गिरावट में 54,836 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 1.63 प्रतिशत यानी 271 अंक की गिरावट में 16,411 अंक पर बंद हुआ।

आईटी, धातु और रियल्टी के सूचकांक दो से तीन प्रतिशत की गिरावट में रहे। निफ्टी की 50 में से 39 कंपनियां गिरावट में और 11 तेजी में रहीं। हीरो मोटोकॉर्प, टेक महिंद्रा, पावर ग्रिड, आईटीसी तथा ओएनजीसी सर्वाधिक मुनाफे में रहने वाली शीर्ष पांच कंपनियां रहीं। सेंसेक्स में 30 में से छह कंपनियां हरे निशान में रहीं जबकि शेष 24 लाल निशान में रहीं। टेक महिंद्रा, पावर ग्रिड, आईटीसी, भारतीय स्टेट बैंक, एनटीपीसी और सन फार्मा हरे निशान में जगह बनाने में कामयाब रहीं।

विश्लेषकों के मुताबिक भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा रेपो दर में 40 आधार अंक की बढ़ोतरी की घोषणा और उसके एक दिन बाद अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दर में 50 आधार अंक की बढ़ोतरी की घोषणा निवेश धारणा के प्रतिकूल साबित हुई है। निवेशक इस बात को लेकर आशंकित हैं कि महंगाई पर काबू पाने के लिये केंद्रीय बैंकों द्वारा उठाये गये कदम कहीं आर्थिक विकास की गति में अवरोध न उत्पन्न कर दें।

भारत ने अमेरिकी क्रूड का आयात घटाया, एशिया की दिलचस्पी बरकरार

एसएंडपी के मुताबिक रूस के लुभावने ऑफर के बावजूद एशियाई देशों की दिलचस्पी अमेरिकी क्रूड में बनी हुई है। हालांकि, भारत ने अमेरिकी क्रूड के आयात में कटौती की है। एसएंडपी का कहना है कि इस साल की पहली तिमाही में एशियाई देशों में अमेरिकी क्रूड का आयात बढ़ा है। अमेरिका के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, पहली तिमाही में अमेरिकी क्रूड का निर्यात वार्षिक आधार पर 5,44,000 बैरल प्रतिदिन से बढ़कर 33 लाख बैरल प्रतिदिन हो गया है।

अमेरिकी क्रूड के कुल निर्यात में से 46 प्रतिशत हिस्सा एशियाई देशों का है। एशिया में अमेरिकी क्रूड का निर्यात 90 हजार बैरल प्रतिदिन से बढ़कर 15 लाख बैरल प्रतिदिन हो गया है। साल के पहले दो माह के दौरान भारत अमेरिकी क्रूड का सबसे बड़ा आयातक था। उस दौरान भारत का आयात 4,76,000 बैरल प्रतिदिन था लेकिन मार्च में यह घटकर 2,29,000 बैरल प्रतिदिन रह गया।

अर्थजगत की खबरें: कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच शेयर बाजार टूटा, भारत ने अमेरिकी क्रूड का आयात घटाया

अमेरिका के गुची स्टोर में अब क्रिप्टोकरेंसी से कर सकेंगे खरीदारी

इटली के मशहूर लग्जरी ब्रांड गुची के अमेरिका स्थित कुछ स्टोर में क्रिप्टोकरेंसी देकर खरीदारी की जा सकती है। बीबीसी के रिपोर्ट के अनुसार, ग्राहक, बिटकॉइन, एथेरियम और लाइटक्वाइन देकर खरीदारी कर सकते हैं। यह सुविधा इस माह के अंत तक शुरू हो जाएगी। लॉस एंजिल्स के रोडियो ड्राइव और न्यूयॉर्क के वूस्टर स्ट्रीट पर गुची स्टोर में यह सुविधा सबसे पहले शुरू होगी।

गुची ने साथ ही यह भी कहा है कि वह शिबा इनु एंड डॉगक्वाइन में भी भुगतान स्वीकार करेगी। ये दोनों कथित रूप से मीम क्रिप्टोकरेंसी हैं, जिन्हें शुरूआत में मजाक के तौर पर बनाया गया था। क्रिप्टोकरेंसी में भुगतान करने वाले ग्राहकों को क्यूआर कोड के साथ ईमेल भेजा जाएगा। गुची ने कहा कि वह उत्तर अमेरिका के अपने सभी स्टोर में यह सुविधा जल्द ही शुरू करेगी। माइक्रोसॉफ्ट, एटीएंडटी और स्टारबक्स पहले से ही डिजिटल करेंसी में भुगतान स्वीकार करते हैं।

अर्थजगत की खबरें: कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच शेयर बाजार टूटा, भारत ने अमेरिकी क्रूड का आयात घटाया

एक लैंबॉर्गिनी ने हजार करोड़ रुपये के म्युचुअल फंड घोटाले का खुलासा किया

एक लैंबॉर्गिनी ने एक हजार करोड़ रुपये के म्युचुअल फंड घोटाले का पर्दाफाश कर दिया है। यह मामला एक्सिस म्युचुअल फंड से जुड़ा है। म्युचुअल फंड के हेड ट्रेडर और फंड मैनेजर वीरेश जोशी और एक अन्य फंड मैनेजर दीपक अग्रवाल पर 'फ्रंट रनिंग' का आरोप लगा है। फ्रंट रनिंग का मतलब होता है कि ब्रोकर को पहले से ही स्टॉक के बारे में इनसाइट जानकारी मिली हुई है। भारत में यह अवैध है।

इन दिनों यह बात चर्चा में है कि फ्रंट रनिंग में शामिल फंड मैनेजर लैंबॉर्गिनी में घूमता था और मुंबई तथा उसके आसपास उसने कई लग्जरी अपार्टमेंट खरीदे थे। चर्चा है कि वीरेश जोशी ने इस तरह से 500 करोड़ रुपये बनाए और मुम्बई के आसपास उसके 14 अपार्टमेंट हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि वीरेश जोशी ही स्मॉल और मिडकैप स्टॉक में पैसा लगाता था और उनके निश्चित सीमा पर पहुंचने पर म्युचुअल फंड कंपनी निवेश करती थी।

यह भी चर्चा है कि ये फंड मैनेजर ब्रोकर के पेरोल पर थे और म्युचुअल फंड के हवाले से स्मॉल और मिडकैप स्टॉक में पैसा लगाते थे। ट्वीटर पर जारी टिप्पणियों से यह लग रहा है कि दोनों फंड मैनेजर बर्खास्त कर दिये गए हैं। ऐसा भी कहा जा रहा है कि सीईओ चंद्रेश निगम भी पद से हटाए गए हैं क्योंकि उन्होंने इस तरह की घटनाओं की अनदेखी की।

अर्थजगत की खबरें: कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच शेयर बाजार टूटा, भारत ने अमेरिकी क्रूड का आयात घटाया

तीन साल बाद जेट एयरवेज के विमान ने भरी परीक्षण उड़ान

जेट एयरवेज के एक विमान ने तीन साल के लंबे अंतराल के बाद गुरुवार को परीक्षण उड़ान भरी। जेट एयरवेज ने ट्वीटर पर इस उड़ान का वीडियो पोस्ट किया है। कंपनी ने ट्वीट करके कहा कि स्थापना की 29वीं वर्षगांठ पर पांच मई को जेट एयरवेज ने दोबारा उड़ान भरी। कंपनी ने कहा कि यह सबके लिए भावनात्मक दिन है। हम सब इस दिन की प्रतीक्षा कर रहे थे।

जेट एयरवेज के विमान ने हैदराबाद एयरपोर्ट से उड़ान भरी थी और 90 मिनट के अंतराल के बाद दोबारा वहीं लैंडिंग की। परीक्षण उड़ान डीजीसीए को यह दिखाने के लिये भरी जाती है कि विमान और उसके सभी कलपुर्जे ठीक से काम कर रहे हैं। इस उड़ान के बाद जेट एयरवेज को और उड़ानें भरनी होंगी तभी उसे एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट मिल पाएगा।

अर्थजगत की खबरें: कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच शेयर बाजार टूटा, भारत ने अमेरिकी क्रूड का आयात घटाया

जेट एयरवेज ने अप्रैल 2019 से संचालन बंद कर दिया था। नरेश गोयल ने जेट एयरवेज की स्थापना की थी। विमानन कंपनी ने 1993 में पहली वाणिज्यिक उड़ान भरी थी। गहरे ऋण संकट में फंसने के कारण एनसीएलटी के आदेश पर कंपनी को दिवालिया प्रक्रिया से गुजरना पड़ा और इसे बाद में ब्रिटेन स्थित जालान कैलरॉक कंसर्टियम ने अधिगृहित किया। यह कंसर्टियम 18 करोड़ डॉलर का निवेश करेगी, जिसमें से छह करोड़ डॉलर कंपनी के कर्ज चुकाने के मद में खर्च किये जाएंगे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia