अर्थ जगत: शेयर बाजार ने लगाई बड़ी छलांग और स्पाइसजेट को ईसीएलजीएस के जरिए मिले 160 करोड़ रुपए

निफ्टी ने 4 दिसंबर के बाद से सप्ताह के पहले दिन की समाप्ति पर सबसे बड़ी बढ़त दर्ज की है। स्पाइसजेट ने 744 करोड़ रुपये के अलावा, इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम (ईसीएलजीएस) के जरिए 160 करोड़ रुपए भी सुरक्षित किए हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

4 दिसंबर के बाद निफ्टी की एक दिन में सबसे बड़ी छलांग

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के रिटेल रिसर्च प्रमुख दीपक जसानी ने सोमवार को कहा कि निफ्टी ने 4 दिसंबर के बाद से सप्ताह के पहले दिन की समाप्ति पर सबसे बड़ी बढ़त दर्ज की है। इसमें हेवीवेट रिलायंस इंडस्ट्रीज ने सबसे अधिक योगदान दिया है।

सोमवार को निफ्टी 385 अंक या 1.8 प्रतिशत बढ़कर 21,737.60 पर बंद हुआ, जबकि सेंसेक्स 1,240.90 अंक या 1.76 प्रतिशत बढ़कर 71,941.57 पर बंद हुआ। एनएसई पर नकद बाजार की मात्रा 1.26 लाख करोड़ रुपए के उच्च स्तर पर थी। जसानी ने कहा कि व्यापक बाजार सूचकांक निफ्टी की तुलना में कम बढ़े, जबकि अग्रिम-गिरावट अनुपात 1.39:1 पर रहा।

ऐसा लगता है कि अंतरिम बजट से पहले तैयारी शुरू हो गई है। उन्होंने कहा, इस तेजी का इस्तेमाल उन व्यक्तिगत शेयरों में वजन कम करने के लिए किया जा सकता है जो बहुत तेजी से बढ़े हैं।

स्पाइसजेट को ईसीएलजीएस के जरिए मिले 160 करोड़ रुपए

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

स्पाइसजेट ने 744 करोड़ रुपये के अलावा, इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम (ईसीएलजीएस) के जरिए 160 करोड़ रुपए भी सुरक्षित किए हैं, जिसके पास अब 900 करोड़ रुपये का पर्याप्त बैंक बैलेंस है। एयरलाइन सूत्र ने सोमवार को आईएएनएस को बताया।

पिछले हफ्ते, स्पाइसजेट ने पहली किश्त में कुल 744 करोड़ रुपये के शेयर और वारंट आवंटित किए थे। यह फैसला कंपनी के निदेशक मंडल द्वारा 25 जनवरी को लिया गया, जो स्पाइसजेट की वित्तीय स्थिति को मजबूत करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

सूत्र ने आगे कहा कि एयरलाइन के सीएमडी अजय सिंह व्यक्तिगत रूप से सभी प्रमुख खर्चों की निगरानी करेंगे। सूत्रों ने कहा, ''प्रत्येक रुपये की सावधानीपूर्वक जांच की जाएगी, मंजूरी के बिना किसी भी व्यय की अनुमति नहीं होगी। सिंह ने स्पष्ट किया कि खराब प्रदर्शन करने वालों को स्पाइसजेट में महत्वपूर्ण चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा।''

एक एयरलाइन अधिकारी ने कहा कि फंड इन्फ्यूजन के साथ, कंपनी फ्लीट अपग्रेड, टाइम परफॉर्मेंस को बढ़ाने और कस्टमर्स को प्राथमिकता देगी।


रियलमी का भारत में पेरिस्कोप टेलीफोटो कैमरे के साथ 12 प्रो सीरीज 5जी लॉन्च

अर्थ जगत: शेयर बाजार ने लगाई बड़ी छलांग और स्पाइसजेट को ईसीएलजीएस के जरिए मिले 160 करोड़ रुपए

वैश्विक प्रौद्योगिकी ब्रांड रियलमी ने सोमवार को 'रियलमी 12 प्रो सीरीज 5जी' लॉन्च किया है, जो भारत में पेरिस्कोप टेलीफोटो कैमरे के साथ इसकी प्रीमियम नंबर सीरीज का सबसे नया एडिशन है। सीरीज में दो डिवाइस रियलमी 12 प्रो प्‍लस 5जी और रियलमी 12 प्रो 5जी शामिल हैं। यह ऑफलाइन खरीदारों के लिए 29 जनवरी से और ऑनलाइन खरीदारों के लिए 30 जनवरी से प्री-बुकिंग के लिए उपलब्ध है।

यह सीरीज 25,999 रुपये की शुरुआती कीमत पर उपलब्ध है। पहली सेल 6 फरवरी से शुरू होगी। रियलमी के एक प्रवक्ता ने कहा, "रियलमी 12 प्रो सीरीज 5जी हमारे यूजर्स की बढ़ती रचनात्मक जरूरतों और अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए डिजाइन किया गया एक पावरहाउस है, जो सिर्फ फोटोग्राफी तक ही सीमित नहीं है बल्कि इसमें प्रीमियम डिजाइन और बेहतर प्रदर्शन भी शामिल है।"

रियलमी 12 प्रो प्‍लस 5जी तीन रंगों सबमरिन ब्लू, नेविगेटर बेज और एक्सप्लोरर रेड में उपलब्‍ध है। इसमें 8जीबी + 128जीबी वाले फोन की कीमत 29,999 रुपये हैै। वहीं, 8जीबी + 256 जीबी 31,999 रुपये और 12जीबी + 256 जीबी वाले फोन की कीमत 33,999 रुपये है।

रियलमी 12 प्रो 5जी सबमरीन ब्लू और नेविगेटर बेज रंगों में उपलब्‍ध है। यह दो स्टोरेज वेरिएंट में आएगा। 8 जीबी + 128 जीबी वाले फोन की कीमत 25,999 रुपये और 8जीबी + 256 जीबी वाले फोन की कीमत 26,999 रुपये है।

चीन में डिजिटल अर्थव्यवस्था से समृद्धि हासिल को दिया जा रहा है बढ़ावा

 चीन में नागरिकों का जीवन बेहतर से बेहतर बनाने और समृद्धि हासिल करने के प्रयास जारी हैं। इस दिशा में एक और पहल हुई है, जो कि डिटिजल अर्थव्यवस्था के माध्यम से प्राप्त करने के लिए है। बताया जाता है कि चीन ने एक व्यापक और बेहतर डिजिटल अर्थव्यवस्था के निर्माण के लिए योजना जारी की है। इसका उद्देश्य देश को समृद्ध और खुशहाल बनाना है। इससे यह भी पता चलता है कि चीन की अर्थव्यवस्था एक नई ऊंचाई पर पहुंचकर प्रयोग करने के लिए आगे बढ़ रही है।

हाल ही में चीन के डेटा ब्यूरो और राष्ट्रीय विकास व सुधार आयोग ने इस बारे में एक संयुक्त योजना जारी की। इस योजना का उद्देश्य डिजिटल तकनीक और वास्तविक अर्थव्यवस्था के गहन एकीकरण को सुविधाजनक बनाना और डिजिटल तरीकों से असंतुलित और अपर्याप्त विकास की समस्या और चुनौती को हल करना है।

माना जा रहा है कि साल 2025 तक डिजिटल अर्थव्यवस्था के विकास के माध्यम से शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों, विभिन्न जनसंख्या समूहों के साथ-साथ बुनियादी सार्वजनिक सेवाओं के बीच अंतर को कम करने में सकारात्मक प्रगति हासिल की जा सकेगी। इतना ही नहीं अगले पांच वर्षों में भी इस दिशा में कोशिश जारी रहेगी।


सत्या नडेला फरवरी में करेंगे भारत का दौरा, एआई के साथ नए अवसरों पर होगी चर्चा

अर्थ जगत: शेयर बाजार ने लगाई बड़ी छलांग और स्पाइसजेट को ईसीएलजीएस के जरिए मिले 160 करोड़ रुपए

माइक्रोसॉफ्ट के चेयरमैन और सीईओ सत्या नडेला अपनी वार्षिक यात्रा के तहत 7 और 8 फरवरी को भारत का दौरा करेंगे। इस दौरान वह एआई के साथ नए अवसरों पर चर्चा कर सकते हैं। कंपनी ने एक बयान में कहा, "माइक्रोसॉफ्ट के अध्यक्ष और सीईओ सत्या नडेला एआई के साथ नए अवसरों की तलाश में भारत के डेवलपर कम्युनिटी और टेक्नोलॉजिस्ट को संबोधित करेंगे।"

माइक्रोसॉफ्ट इंडिया और दक्षिण एशिया के अध्यक्ष, पुनीत चंडोक ने कुछ हफ्ते पहले इंटरनल ईमेल में कहा था कि नडेला की यात्रा देश में अवसरों को बढ़ाने के लिए टेक्नोलॉजी का उपयोग करने की माइक्रोसॉफ्ट के समर्पण की पुष्टि करती है।

पिछले साल जून में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी अमेरिकी यात्रा के दौरान नडेला, अल्फाबेट और गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई और एप्पल के सीईओ टिम कुक सहित उल्लेखनीय अमेरिकी और भारतीय तकनीकी अधिकारियों से मुलाकात की।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;