कोरोना संकट की मार, ब्रिटेन में कारों की बिक्री में रिकॉर्ड गिरावट, दूसरे विश्व युद्ध के बाद पहली बार हुआ ऐसा

पूरे ब्रिटेन में अप्रैल में महज 4,321 नई कारों के लिए बुकिंग हुई है। इससे पहले फरवरी 1946 में ऐसे हालात देखने को मिले थे, जब केवल 4,044 नई कारों की बिक्री हुई थी। तब ब्रिटेन दूसरे विश्व युद्ध के बाद उबरने में जुटा था। कोरोना संकट के कारण सभी सेक्टर का यही हाल है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना वायरस से पैदा हालात पूरी दुनिया को एक बड़ी आर्थिक मंदी की ओर ले जा रहे हैं। सभी सेक्टरों में उत्पादन और बिक्री में गिरावट देखने को मिल रहा है। ब्रिटेन में तो कारों की बिक्री में रिकॉर्ड गिरावट दर्ज की हुई है। ब्रिटेन में कारों की बिक्री में इतनी बड़ी कमी दूसरे विश्वयुद्ध के बाद पहली बार देखने को मिली है।

आंकड़ों को देखें तो अप्रैल में ब्रिटेन में कारों की बिक्री में 97 फीसदी की कमी देखने को मिली है। इससे पहले 1945 में समाप्त हुए दूसरे विश्व युद्ध के बाद फरवरी, 1946 में ऐसे हालात पैदा हुए थे। दरअसल कोरोना महामारी के कारण उत्पादन और बिक्री इकाइयों के बंद होने के चलते ऐसा हुआ है। ब्रिटेन समेत लगभग पूरे यूरोप में मार्च के मध्य से लॉकडाउन के हालात हैं, जिसके चलते लोगों को अपने घरों में ही रहना पड़ रहा है और तमाम कारोबार ठप हैं।

ब्रिटेन की सोसायटी ऑफ मोटर मैन्युफैक्चरर्स ऐंड ट्रेडर्स के मुख्य कार्यकारी माइक हावेस का कहना है कि बाजार का इतना बुरा प्रदर्शन अपने जीवन में उन्होंने कभी नहीं देखा। पूरे ब्रिटेन में अप्रैल के महीने में महज 4,321 नई कारों के लिए बुकिंग हुई है। उनका कहना है कि इससे पहले फरवरी 1946 में ऐसे हालात देखने को मिले थे, जब केवल 4,044 नई कारों की बिक्री हुई थी। तब ब्रिटेन युद्ध के बाद उबरने में जुटा था। हावेस ने कहा कि लॉकडाउन के बाद भी इस सेक्टर को उबरने में लंबा वक्त लगेगा।

गौरतलब है कि कोरोना के चलते इस समय पूरी दुनिया में मांग में भारी गिरावट आई है। भारत में भी ऐसे ही हालात हैं। भारत में तो सोने के आयात के आंकड़ें ही डराने वाले हैं। भारत में अप्रैल महीने में सिर्फ 50 किलो सोने का ही आयात हुआ है। जबकि बीते साल इसी महीने में 110.18 टन सोने का आयात किया गया था। कीमत के हिसाब से देखें तो अप्रैल में भारत में सिर्फ 2.84 मिलियन डॉलर सोने का आयात किया गया, जबकि पिछले साल इसी दौरान 3.97 अरब डॉलर का आयात हुआ था।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;