अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: धनतेरस पर सस्ता हुआ सोना, जानें क्या है कीमत और आरबीआई ने दी एक और चिंताजनक खबर!

धनतेरस के मौके पर आज देश के सर्राफा बाजारों में सोने और चांदी की कीमतों में गिरावट देखने को मिल रही है और आरबीआई ने एक और चिंताजनक खबर दी है। जिसके मुताबिक वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी तिमही में जीडीपी पिछले साल की तुलना में 8.6 प्रतिशत घटने का अनुमान है।

फोटो: Getty Image
फोटो: Getty Image
user

पवन नौटियाल

धनतेरस पर सस्ता हुआ सोना, जाने क्या है आज की कीमत?

आज देश के सर्राफा बाजारों में सोने और चांदी की कीमतों में गिरावट देखने को मिल रही है। आज 12 नवंबर को 24 कैरेट गोल्ड का रेट 185 रुपये सस्ता होकर 50,573 रुपये पर खुला है वहीं शाम को मालूली बढ़ोतरी के साथ सोना 50702 रु पर बंद हुआ। वहीं, चांदी भी 383 रुपये सस्ती होकर 62,512 रुपये पर खुली जबकि शाम को बढ़त के साथ 62797 रु पर बंद हुई। देशभर के सर्ऱाफा बाजार पर एक नजर इंडिया बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन की वेबसाइट पर जारी कि‍ए गए रेट के मुताबिक आज 24 कैरेट शुद्धता वाले सोने की कीमत 50573 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गई। वहीं 23 कैरेट शुद्धता वाले सोने की कीमत में 50370 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गई, वहीं 22 कैरेट वाले सोने की कीमत 46325 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गई तो 18 कैरेट वाले सोने की कीमत गिरकर 37930 रुपए प्रति 10 ग्राम हो गई। वहीं चांदी की कीमत 62512 रुपए प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई।

धनतेरस के दिन लुढ़का शेयर बाजार

नरम वैश्विक संकेतों के बीच निवेशकों की मुनाफावसूली से बृहस्पतिवार को घरेलू शेयर बाजारों में लगातार आठ दिन की तेजी के बाद गिरावट रही। वित्तीय शेयरों में भी दबाव रहा। इससे सेंसेक्स 236 अंक लुढ़क गया। कारोबारियों ने कहा कि सरकार द्वारा नये राहत उपायों की घोषणा निवेशकों को लुभाने में असफल रही। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक कारोबार के दौरान एक समय 466.12 अंक गिर गया था। हालांकि, बाद में इसने कुछ वापसी की और अंतत: 236.48 अंक यानी 0.54 प्रतिशत गिरकर 43,357.19 अंक पर बंद हुआ। एनएसई का निफ्टी इसी तरह 58.35 अंक यानी 0.46 प्रतिशत लुढ़ककर 12,690.80 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की कंपनियों में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई)का शेयर सर्वाधिक करीब तीन प्रतिशत की गिरावट में रहा।

दूसरी तिमाही में 8.6 प्रतिशत कम होगी GDP: RBI

आरबीआई ने एक और चिंताजनक खबर दी है। जिसके मुताबिक वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी तिमही में जीडीपी पिछले साल की तुलना में 8.6 प्रतिशत घटने का अनुमान है। अगर ये अनुमान सही हुआ तो देश में पहली बार आर्थिक मंदी आएगी। 31 अगस्त को राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने अप्रैल-जून में जीडीपी में माइनस 23.9 प्रतिशत की अभूतपूर्व गिरावट की रिपोर्ट दी थी। अब जुलाई-सितंबर वाली तिमाही के लिए सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के संकुचन यानी गिरावट का अनुमान 8.6 फीसदी है। अर्थशास्त्र में जब लगातार दो या उससे अधिक तिमाही में जीडीपी ग्रोथ माइनस में रहती है, तो उसे मंदी कहा जाता है। ऐसे में अगर 8.6 गिरावट का अनुमान सही हुआ तो देश में आर्थिक मंदी आ जाएगी। हालांकि अभी दूसरी तिमाही के आंकड़े नहीं आए हैं, ये महज एक अनुमान है।

शहरी आवास योजना के लिए अतिरिक्त 18 हजार करोड़ रुपये की घोषणा

केंद्र ने प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के तहत देश की मध्यम आय और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के लिए घर बनाने के लिए 18,000 करोड़ रुपये का आवंटन किया। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को शहरी आवास योजना के लिए 18,000 करोड़ रुपये के अतिरिक्त प्रावधान की घोषणा की। इस घोषणा से रियल एस्टेट परियोजनाओं को पूरा करने में मदद मिलेगी, जिससे अनेक क्षेत्रों में रोगजार मिलेगा और अर्थव्यवस्था में तेजी आएगी। यह राशि इस साल दिए जा चुके 8,000 करोड़ रुपये से अतिरिक्त होगी।

गूगल फोटो के अनलिमिटेड स्टोरेज को 1 जून, 2021 से किया जा रहा बंद

गूगल फोटोज की मदद से यूजर्स अपनी अनगिनत तस्वीरों को इसमें सेव कर स्टोरेज की समस्या से निजात पाते रहे हैं। हालांकि कंपनी अब अपनी यह फ्री सेवा बंद करने जा रही है। अब अगर आप 15 जीबी से अधिक अपने अकांउट पर अपलोड करेंगे, तो इसके लिए आपको पैसे देने होंगे। गूगल फोटोज में 31 मई, 2021 तक अनलिमिटेड तस्वीरों और वीडियोज को फ्री में सेव करने की यह सेवा जारी रहेगी, लेकिन 1 जून, 2021 से 15 जीबी से अधिक स्टोरेज के इस्तेमाल पर पैसे की भरपाई करनी होगी। कंपनी की अन्य सेवाओं जैसे कि गूगल ड्राइव और जीमेल में पहले से ही ऐसा होने का नियम शामिल है।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next